NDTV Khabar

विपक्षी पार्टियां समझ चुकी हैं कि 2019 में वे नहीं जीतने वालीं : राम माधव

कहा- जब कांग्रेस के नेता गुजरात में विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार शुरू करना चाह रहे थे, तब उनके उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नॉर्वे जाना ज्यादा जरूरी समझा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
विपक्षी पार्टियां समझ चुकी हैं कि 2019 में वे नहीं जीतने वालीं : राम माधव

बीजेपी के महासचिव राम माधव ने कहा है कि विपक्ष यह मान चुका है कि वह 2019 के चुनाव नहीं जीतेगा.

खास बातें

  1. बीजेपी की बैठक में कहा- 2019 को लेकर ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं
  2. साल 2022 के लक्ष्यों पर ध्यान दे सकती है बीजेपी
  3. गुजरात चुनाव और 2019 के चुनावों में कांग्रेस को कुछ हासिल नहीं होगा
हैदराबाद:

कमजोर होती जा रही कांग्रेस को बीजेपी नेता निशाना बना रहे हैं. बीजेपी के महासचिव राम माधव ने शनिवार को कांग्रेस और उसके उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टियां समझ चुकी हैं कि वे 2019 का लोकसभा चुनाव नहीं जीत सकतीं. कांग्रेस के नेता जब गुजरात में विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार शुरू करना चाह रहे थे, उसी वक्त उनके उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नॉर्वे जाना ज्यादा जरूरी समझा.  

यह भी पढ़ें : बीजेपी किसी भ्रम में न रहे, 2019 में केंद्र की सत्ता में परिवर्तन होकर रहेगा: ममता बनर्जी

हैदराबाद में बीजेपी की एक बैठक में उन्होंने कहा, ‘‘एक तरह से हमें 2019 को लेकर ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं. लिहाजा, हम 2022 (के लक्ष्यों) पर ध्यान दे सकते हैं. विपक्षी पार्टियों ने तय कर लिया है कि ‘हम 2019 में (सत्ता में) नहीं आ सकते.’ वे लोग नॉर्वे या इटली जा रहे हैं.’’ माधव ने दावा किया कि कांग्रेस के नेता जब गुजरात में विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार शुरू करना चाह रहे थे, उसी वक्त उनके उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने नॉर्वे जाना ज्यादा जरूरी समझा.


टिप्पणियां

VIDEO : बीजेपी का मिशन 350+


राम माधव ने कहा, ‘‘गुजरात में चुनाव महज दो महीने दूर हैं. गुजरात कांग्रेस नेतृत्व एक सितंबर को प्रचार अभियान की शुरुआत करना चाहता था, एक बड़ी रैली प्रस्तावित थी, (और) हमारे विपक्ष के नेता राहुल गांधी नॉर्वे रवाना हो गए.’’ बीजेपी नेता ने कहा कि इस साल गुजरात में, अगले साल छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान में और 2019 में दिल्ली (लोकसभा चुनाव) में कांग्रेस को कोई फायदा नहीं होने जा रहा, ‘‘इसलिए वह (राहुल) नॉर्वे और इटली की यात्रा कर रहे हैं.’’
उन्होंने कहा कि राहुल के कांग्रेस में शीर्ष पद पर रहते हुए महात्मा गांधी के इस सुझाव पर पूरी तरह अमल हो जाएगा कि (आजादी के बाद) कांग्रेस को एक राजनीतिक पार्टी के तौर पर भंग कर दिया जाए.
(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement