NDTV Khabar

AAP से हाथ मिलाने के लिए विपक्षी दलों ने राहुल से की पैरवी तो दिया यह जवाब

सूत्रों के मुताबिक महागठबंधन नेताओं की बैठक में दिल्ली और यूपी पर भी चर्चा हुई है. उनके मुताबिक महागठबंधन के नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधीसे कहा की दिल्ली में अगर आम आदमी पार्टी- कांग्रेस मिलकर नहीं लड़ेंगी तो इससे भाजपा को सीधा फायदा होगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
AAP से हाथ मिलाने के लिए विपक्षी दलों ने राहुल से की पैरवी तो दिया यह जवाब

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी( File Photo)

खास बातें

  1. शरद पवार के घर हुई विपक्षी दलों की बैठक
  2. आप के साथ कांग्रेस के गठबंधन की पैरवी
  3. राहुल गांधी ने कहा- करता हूं बात
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019)से ठीक पहले राकांपा नेता शरद पवार (Sharad Pawar) के दिल्ली स्थित आवास पर विपक्षी पार्टियों की एक अहम बैठक हुई. इस बैठक मे यह तय किया गया कि चुनाव के पहले गठबंधन किया जाएगा. बैठक में न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर भी बात हूई. सूत्रों के मुताबिक महागठबंधन नेताओं की बैठक में दिल्ली और यूपी पर भी चर्चा हुई है. उनके मुताबिक महागठबंधन के नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi)से कहा की दिल्ली में अगर आम आदमी पार्टी- कांग्रेस मिलकर नहीं लड़ेंगी तो इससे भाजपा (BJP) को सीधा फायदा होगा. दिल्ली में त्रिकोणीय मुकाबला है. अगर आप और कांग्रेस ने मिलकर चुनाव नहीं लड़ा तो बाजी भाजपा निकाल लेगी. 

सूत्रों के मुताबिक महागठबंधन के नेताओं की इस बात पर राहुल गांधी ने कहा कि मेरी दिल्ली की स्टेट यूनिट इस गठबंधन के खिलाफ है. चर्चा आगे चली तो राहुल गांधी ने कहा 'ठीक है मैं बात करके बताता हूं.' साथ ही सूत्रों ने बताया कि बैठक में शामिल सभी नेता इस बात से सहमत दिखे कि दिल्ली और उत्तर प्रदेश में अगर कांग्रेस अलग लड़ेगी तो इससे विपक्ष को नुकसान और भाजपा को फायदा हो सकता है. लेकिन दोनों जगह स्टेट यूनिट का हवाला देकर राहुल गांधी ने फिलहाल गठबंधन के लिए हामी नहीं भरी, केवल आश्वासन दिया कि वो स्टेट यूनिट से बात करेंगे.


कांग्रेस के साथ गठबंधन के सवाल पर बोले CM केजरीवाल- उन्होंने लगभग मना कर दिया

गठबंधन के नेताओं ने ये भी समझाने की कोशिश की कि 2019 के बड़े स्तर पर देखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष को फैसला लेना चाहिए. जहां एक-एक लोकसभा सीट कीमती है.

वहीं गुरुवार को अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में गठबंधन को लेकर कांग्रेस ने 'लगभग मना कर दिया.' उनका यह बयान बुधवार देर रात तक विपक्षी दलों के साथ बैठक के बाद आया है. इस बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल थे. केजरीवाल ने गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए कहा, 'हमारे मन में देश को लेकर बहुत ज्यादा चिंता है. इसी वजह से हम लालायित हैं. उन्होंने (कांग्रेस) लगभग मना कर दिया.'

मंथन के बाद विपक्षी पार्टियों का बड़ा फैसला: चुनाव से पहले होगा महागठबंधन, न्यूनतम साझा कार्यक्रम बनेगा

बैठक के बाद राहुल गांधी के बयान से संकेत मिला कि पश्चिम बंगाल और दिल्ली में कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ेगी. पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की टीएमसी और दिल्ली में अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी की सरकार है. राहुल गांधी ने कहा था, 'एक दूसरे के खिलाफ भी चुनाव लड़ेंगे.'

टिप्पणियां

गुजरात के इस गांव से चुनावी बिगुल फूंकने जा रहे हैं राहुल गांधी: इंदिरा, राजीव और सोनिया ने यहीं से शुरुआत कर पाई थी सत्ता

VIDEO- जंतर-मंतर पर दिखी विपक्ष की ताकत


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement