NDTV Khabar

कैराना लोकसभा सीट पर 54 और नूरपुर विधानसभा क्षेत्र में 61% मतदान

ईवीएम में गड़बड़ी के आरोप-प्रत्यारोपों के बीच उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट के लिए हुए मतदान में क्रमश: लगभग 54 प्रतिशत और 61 फीसदी मतदान हुआ.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कैराना लोकसभा सीट पर 54 और नूरपुर विधानसभा क्षेत्र में 61% मतदान

देश की चार लोकसभा और 10 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए आज वोट डाले गए.

खास बातें

  1. 384 स्थानों पर वीवीपैट खराब होने की शिकायतें मिलीं
  2. शाम छह बजे तक कैराना में 54.17 प्रतिशत मतदान हुआ
  3. नूरपुर विधानसभा में 61 प्रतिशत मतदान हुआ
लखनऊ:

ईवीएम में गड़बड़ी के आरोप-प्रत्यारोपों के बीच उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट के लिए हुए मतदान में क्रमश: लगभग 54 प्रतिशत और 61 फीसदी मतदान हुआ. प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वरलू ने बताया कि मतदान के दौरान तीन बैलेट यूनिट, तीन कंट्रोल यूनिट तथा लगभग 384 स्थानों पर वीवीपैट खराब होने की शिकायतें मिलीं.

यह भी पढ़ें : जोकीहाट विधानसभा उपचुनाव : ये लड़ाई सीधे नीतीश और तेजस्वी के बीच है, मतदान जारी

उन्होंने कहा, 'शाम छह बजे तक कैराना में 54.17 प्रतिशत तथा नूरपुर विधानसभा में 61 प्रतिशत मतदान हुआ. 2014 में कैराना में 73.05 प्रतिशत, जबकि 2017 में नूरपुर में 66.82 फीसदी मत पड़े थे.' वेंकटेश्वरलू ने कहा कि प्रदेश के शामली-सहारनपुर जिले के कैराना लोकसभा एवं बिजनौर जिले के नूरपुर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में उपचुनाव के तहत सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक शांतिपूर्ण मतदान संपन्न हुआ.


मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक उपचुनाव के लिए होने वाले मतदान में कैराना सीट पर 16.09 लाख मतदाता हैं. कैराना में मतदाताओं की संख्या 3.06 लाख मतदाता हैं. कैराना में 12 तथा नूरपुर में 10 प्रत्याशी मैदान में हैं. उपचुनाव में कुल 2056 मतदेय स्थल एवं 1094 मतदान केंद्र हैं. विज्ञप्ति में बताया गया कि मतदान प्रक्रिया की निगरानी के लिए 184 मतदान बूथों पर वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई थी.

यह भी पढ़ें : उपचुनाव में जगह-जगह EVM खराब, पर वोटर्स जरूर डालें वोट: अखिलेश यादव

उन्होंने कहा, 'निर्वाचन क्षेत्र से तीन बैलेट यूनिट, तीन कंट्रोल यूनिट तथा लगभग 384 स्थानों पर वीवीपैट खराब होने की शिकायतें प्राप्त हुईं, जिन्हें परिवर्तित कर मतदान सुचारू रूप से संपन्न कराया गया.' मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा, 'जिन मतदेय स्थलों पर वीवीपैट खराब होने के कारण मतदान दो घंटे से अधिक बाधित रहा, उनके बारे में जिला निर्वाचन अधिकारियों से रिपोर्ट प्राप्त की जा रही हैं. रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद उक्त मतदेय स्थलों पर पुनर्मतदान के संबंध में आयोग द्वारा निर्णय लिया जाएगा.'

यह भी पढ़ें : ईवीएम पर विलाप आखिर कब तक...

इससे पहले ईवीएम गड़बड़ी की शिकायतों के बीच चुनाव आयोग ने आश्वासन दिया था कि खराब ईवीएम बदली जा रही हैं और जहां आवश्यक हुआ, पुनर्मतदान का आदेश दिया जाएगा. वेंकटेश्वरलू ने कहा कि खराब ईवीएम बदली जा रही हैं. उन्होंने संवाददाताओं से कहा था, 'मैं राजनीतिक पार्टियों को आश्वासन देना चाहता हूं कि गड़बड़ ईवीएम मशीनें बदली जा रही हैं. अगर किसी वजह से वे बदल नहीं पाती हैं तो हम पुनर्मतदान का आदेश देने में हिचकिचाएंगे नहीं.' विपक्षी सपा और रालोद ने कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा सीटों पर चल रहे मतदान के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत की थी.


VIDEO : EVM में खराबी पर उठे सवाल

टिप्पणियां

उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट कर ईवीएम में गड़बड़ी होने की शिकायत की. उन्होंने कहा कि हजारों ईवीएम में खराबी की शिकायतें आ रही हैं. उन्होंने कहा, 'किसान, मजदूर, महिलाएं और नौजवान भरी धूप में वोट डालने के लिए अपनी बारी के इंतजार में भूखे-प्यासे खड़े हैं. ये तकनीकी खराबी है या चुनाव प्रबंधन की विफलता या फिर जनता को मताधिकार से वंचित करने की साजिश की गई. इस तरह से तो लोकतंत्र की बुनियाद ही हिल जाएगी.' रालोद की उम्मीदवार तब्बसुम हसन ने भाजपा पर आरोप लगाया है कि जानबूझकर ईवीएम और वीवीपैट मशीनों से हर जगह छेड़छाड़ की गई है. 

(इनपुट : भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement