NDTV Khabar

पी.चिदंबरम ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन से पूछा- क्या पठानकोट और उरी में हुए हमलों में पाकिस्तान को क्लीन चिट दे रही हैं?

चिदंबरम ने कहा, 'रक्षा मंत्री ने कहा है कि 2014 के बाद से पाकिस्तान ने कोई आतंकवादी हमला नहीं किया है। क्या रक्षा मंत्री भारत का नक्शा उठा कर कर बता सकती हैं कि पठानकोट और उरी कहां हैं?'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पी.चिदंबरम ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन से पूछा- क्या पठानकोट और उरी में हुए हमलों में पाकिस्तान को क्लीन चिट दे रही हैं?

पी. चिदंबरम (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. क्या ये हमले पाकिस्तान ने नहीं किए : पी. चिदंबरम
  2. 'पाकिस्तान को क्लीन चिट दे रही हैं'
  3. 'पठानकोट और उरी कहां हैं'
नई दिल्ली:

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के इस दावे पर कि 2014 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सत्ता में आने के बाद से कोई बड़ा आतंकवादी हमला नहीं हुआ है, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता पी. चिंदबरम ने सोमवार को निशाना साधते हुए पूछा कि 'क्या वह 2016 में पठानकोट और उरी में हुए हमलों में पाकिस्तान को क्लीन चिट दे रही हैं?' पूर्व वित्त मंत्री ने कई ट्वीट किए और सीतारमण से भारत के नक्शे में उरी और पठानकोट ढूंढ़ने के लिए कहा. चिदंबरम ने कहा, 'रक्षा मंत्री ने कहा है कि 2014 के बाद से पाकिस्तान ने कोई आतंकवादी हमला नहीं किया है। क्या रक्षा मंत्री भारत का नक्शा उठा कर कर बता सकती हैं कि पठानकोट और उरी कहां हैं?'

रक्षा मंत्री ने कहा- घोटाला राफेल में नहीं बोफोर्स में हुआ, हम रक्षा सौदा करते हैं, रक्षा की सौदेबाजी नहीं


उन्होंने कहा, 'यह कहकर कि ये हमले पाकिस्तान ने नहीं किए, क्या रक्षा मंत्री पठानकोट और उरी हमलों के संबंध में पाकिस्तान को क्लीन चिट दे रही हैं?' बीजेपी के राष्ट्रीय अधिवेशन के दूसरे दिन शनिवार को सीतारमण ने दावा किया था कि 2014 के बाद से कोई बड़ा आतंकवादी हमला नहीं हुआ है. 

निर्मला सीतारमन ने कांग्रेस से पूछा- राफेल पर HAL की इतनी ही चिंता थी तो अगस्ता वेस्टलैंड से सौदा क्यों हुआ

उन्होंने कहा, 'देश में तबाही मचाने के सभी प्रयासों को सीमा पर ही खत्म कर दिया गया है और इस सरकार ने सुनिश्चित किया है कि आतंकवादियों को शांति भंग करने का कोई मौका नहीं दिया जाए.' पठानकोट वायु सेना अड्डे पर हमला (भारतीय वायु सेना के पश्चिमी वायु कमान का हिस्सा) दो जनवरी 2016 को हुआ था. उरी हमला भी उसी साल 18 सितंबर को उस समय हुआ था, जब भारी हथियारों से लैस चार आतंकवादियों ने जम्मू एवं कश्मीर के शहर में भारतीय सेना के मुख्यालय पर हमला किया था. 

टिप्पणियां

राफेल पर कांग्रेस-बीजेपी के बीच जारी रहेगी लड़ाई !​

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement