भारत-चीन विवाद को लेकर चिदंबरम ने मोदी सरकार पर बोला हमला, कहा- कोई बताएगा कि आखिर...

भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर कांग्रेस लगातार केंद्र की मोदी सरकार पर हमले बोल रही है. अब पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने बुधवार को सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार इस पूरे मामले पर देश को सच नहीं बता रही है.

भारत-चीन विवाद को लेकर चिदंबरम ने मोदी सरकार पर बोला हमला, कहा- कोई बताएगा कि आखिर...

हॉट स्प्रिंग्स इलाके में चीनी सेना के हटने की खबर के बाद चिदंबरम ने किए सवाल. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • चिदंबरम ने ट्वीट करके सरकार से किए सवाल
  • कहा- सरकार नहीं बता रही पूरा सच
  • पूछा- कहां से हटी चीनी और कहां गई?
नई दिल्ली:

भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर कांग्रेस लगातार केंद्र की मोदी सरकार पर हमले बोल रही है. अब पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने बुधवार को सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार इस पूरे मामले पर देश को सच नहीं बता रही है. दरअसल, बुधवार को सूत्रों के हवाले से खबर आई कि रविवार को दोनों देशों के विशेष प्रतिनिधियों के बीच बातचीत के बाद लद्दाख के कुछ विवादित क्षेत्रों से दो किलोमीटर पीछे तक सेना हटाने की प्रक्रिया पूरी हो गई है. इसी पर चिदंबरम ने कई ट्वीट करते हुए केंद्र सरकार से सवाल किए.

चिदंबरम ने अपने ट्वीट में लिखा, 'मैं विवादित क्षेत्र से चीनी सेना के पीछे हटने का स्वागत करता हूं. लेकिन क्या कोई बताएगा कि चीनी सेना किस जगह से पीछे हटी है और अब पीछे हटकर कहां गई है?' उन्होंने अपने अगले ट्वीट में लिखा, 'इसी तरह, भारतीय सेना के जवान किस जगह से वापस आए हैं? क्या कोई भी सेना- चीनी या भारतीय- LAC के एक पार से दूसरे पार की ओर गई है? इन सवालों के जवाब जरूरी हैं क्योंकि देश की जनता यह कबसे जानने की कोशिश कर रही है कि 15 जून को क्या हुआ था और कहां हुआ था?'
 

बता दें कि देश की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लगातार 15 जून को पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प की घटना का सच छुपाने का आरोप लगा रही है. भारतीय-चीनी सैनिकों के बीच हुई इस हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों की जान चली गई थी. आर्मी के सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि चीनी सेना के 40 से ज्यादा सैनिक हताहत हुए हैं. 

कांग्रेस सवाल इसलिए उठा रही है क्योंकि पिछले महीने एक सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने कहा था कि चीन ने न ही सीमा पार करके भारत में प्रवेश किया है और न ही उसने किसी भारतीय भूभाग पर कब्जा किया है. 20 जून को इस मीट में उन्होंने कहा था कि 'न कोई अंदर घुसा है, न ही हमारा कोई पोस्ट किसी के कब्जे में है.' उन्होंने यह भी कहा था LAC (लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल) पर चीन के इस कदम से पूरा देश गुस्से में है.

राहुल गांधी ने भी मंगलवार को NSA की चीनी पक्ष से हुई बातचीत पर सवाल उठाया था. उन्होंने दोनों पक्षों का बयान शेयर करते हुए ट्विटर पर सवाल उठाया था कि आखिर भारत ने इलाके में यथास्थिति को बनाए रखने पर जोर क्यों नहीं दिया था?  वहीं, चीन भारतीय जवानों पर किए गए इस हमले को सही कैसे ठहरा पा रहा है?

बुधवार को सूत्रों के हवाले से आई खबर के मुताबिक, चीनी सेना अब LAC पर भारत-चीन बॉर्डर पर अपनी निर्धारित सीमा के अंदर है. खबर आई है कि रविवार की बातचीत के बाद, दोनों देशों की सेनाओं ने लद्दाख की चार जगहों पर- गलवान घाटी, हॉट स्प्रिंग्स, गोगरा और पैन्गॉन्ग लेकर फिंगर्स इलाके से अपनी-अपनी सेनाएं हटाने और दोनों सेनाओं के बीच में बफर ज़ोन बनाने की प्रक्रिया शुरू कर रही हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Video:गलवान घाटी में दो किमी पीछे हटे चीनी सैनिक, सैटेलाइट तस्वीरों से खुलासा