NDTV Khabar

चिदंबरम की कश्मीर को अधिक स्वायत्ता देने की मांग, भाजपा ने दी तीखी प्रतिक्रिया

जम्मू कश्मीर में लोगों से बातचीत से मैं इस निष्कर्ष पर पहुंचा कि वे आजादी के लिए कहते हैं, मैं यह नहीं कह रहा कि सभी बल्कि ज्यादातर लोग, वे स्वायत्ता चाहते हैं.’

4 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
चिदंबरम की कश्मीर को अधिक स्वायत्ता देने की मांग, भाजपा ने दी तीखी प्रतिक्रिया

पी चिदंबरम (फाइल फोटो)

राजकोट/नयी दिल्ली,: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने अशांत जम्मू कश्मीर को अधिक स्वायत्ता देने की शनिवार को एक बार फिर से मांग की, जिसकी भाजपा ने कड़ी आलोचना की है. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने इसे ‘हैरान करने वाला और शर्मनाक’ बताया. गुजरात के राजकोट में चिदंबरम ने संवाददाताओं से कहा, ‘कश्मीर घाटी में अनुच्छेद 370 का अक्षरश: सम्मान करने की मांग की जाती है जिसका मतलब है कि वे अधिक स्वायत्ता चाहते हैं. जम्मू कश्मीर में लोगों से बातचीत से मैं इस निष्कर्ष पर पहुंचा कि वे आजादी के लिए कहते हैं, मैं यह नहीं कह रहा कि सभी बल्कि ज्यादातर लोग, वे स्वायत्ता चाहते हैं.’

यह पूछे जाने पर कि क्या वह अब भी मानते हैं कि जम्मू कश्मीर को ज्यादा स्वायत्ता देनी चाहिए तो इस पर चिदंबरम ने कहा, ‘हां, मैं मानता हूं.’ चिदंबरम ने जुलाई 2016 में जम्मू कश्मीर को अधिक स्वायत्ता देने की हिमायत की थी. इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा ने कहा कि चिदंबरम को ऐसी टिप्पणियां करते देखना हैरान करने वाला नहीं हैं क्योंकि उनके नेता ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ नारा देने वाले लोगों का समर्थन करते हैं.

भाजपा ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा जेएनयू विवाद में छात्र नेता कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी का विरोध करने वाले लोगों का समर्थन किए जाने का जिक्र किया. सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने ट्वीट कर कहा, ‘पी चिदंबरम का अलगाववादियों और ‘आजादी’ का समर्थन करना हैरान करने वाला है हालांकि मैं आश्चर्यचकित नहीं हूं क्योंकि उनके नेता ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ नारे का समर्थन करते हैं.’

उन्होंने कहा, ‘यह शर्मनाक है कि चिदंबरम ने सरदार पटेल के जन्म स्थल गुजरात में यह बोला, जिन्होंने भारत की एकता एवं खुशहाली के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया.’ वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस पर जम्मू कश्मीर में अलगाववाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया और उन्होंने कहा कि चिदंबरम का बयान भारत के राष्ट्रीय हित को ‘नुकसान’ पहुंचाता है जो एक गंभीर मुद्दा है. उन्होंने मुंबई में कहा, ‘कांग्रेस पार्टी के एक प्रतिष्ठित नेता की ओर से आया यह बयान पार्टी का अधिकारिक बयान है या नहीं? मुझे लगता है कि पार्टी को तुरंत यह स्पष्ट करना चाहिए.’ चिदंबरम ने कहा कि अधिक स्वायत्ता के सवाल पर ‘गंभीरता से विचार करना’ चाहिए और इस पर विचार करना चाहिए कि किन क्षेत्रों में स्वायत्ता दी जा सकती है.

उन्होंने कहा, ‘उसकी स्वायत्ता पूरी तरह से भारत के संविधान के अंतर्गत है. जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा रहेगा लेकिन उसे अधिक शक्तियां देनी चाहिए जिसका अनुच्छेद 370 के तहत वादा किया गया था.’ श्रीनगर में भाजपा महासचिव राम माधव ने आरोप लगाया कि कश्मीरी लोग और पूरा देश चिदंबरम और कांग्रेस सरकार की गलतियों का खमियाजा उठा रहा है. उन्होंने कहा, ‘हमें चिदंबरम से सलाह की जरुरत नहीं है.’





 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement