MSME को लेकर चिदंबरम ने गडकरी और निर्मला सीतारमण के बयानों का जिक्र करते हुए पूछा- तो, ऋणदाता कौन और उधारकर्ता कौन ?

कांग्रेस के सीनियर नेता पी चिदंबरम ने मोदी सरकार पर हमलावर रुख अख्तियार किया है, उन्होंने दो केंद्रीय मंत्रियों के विरोधाभासी बयानों का उल्लेख किया.

MSME को लेकर चिदंबरम ने गडकरी और निर्मला सीतारमण के बयानों का जिक्र करते हुए पूछा- तो, ऋणदाता कौन और उधारकर्ता कौन ?

पी चिदंबरम ने मोदी सरकार पर साधा निशाना

नई दिल्ली:

कांग्रेस के सीनियर नेता पी चिदंबरम ने मोदी सरकार पर हमलावर रुख अख्तियार किया है, उन्होंने दो केंद्रीय मंत्रियों के विरोधाभासी बयानों का उल्लेख किया. बता दें कि मोदी सरकार ने सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों (MSME) के लिए 3 लाख करोड़ रुपये के लोन पैकेज का ऐलान किया है. इस पैकेज को लेकर कांग्रेस हमलावर है. पी चिदंबरम ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, मंत्री गडकरी का कहना है कि सरकारों और सार्वजनिक उपक्रमों के ऊपर MSMEs का 5 लाख करोड़ रुपये बकाया है. मंत्री सीतारमण का कहना है कि वह MSMEs (45 लाख की संख्या) को 3 लाख करोड़ रुपये का बिना जमानत ऋण देगी.तो, ऋणदाता कौन है और उधारकर्ता कौन है?

पी चिदंबरम ने आगे कहा कि क्या पहले दोनों मंत्री अपने खातों का निपटान करेंगे और MSMEs को सरकार की 'मदद' के बिना खुद को बचाने देंगे? 

बता दें कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या बृहस्पतिवार को 82,000 के पार पहुंच गयी जहां कई राज्यों से बड़ी संख्या में संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं. इस बीच सरकार ने ‘लॉकडाउन' के प्रभाव से अर्थव्यवस्था को उबारने के लिये घोषित 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज के दूसरे चरण में प्रवासी मजदूरों को मुफ्त अनाज, किसानों को सस्ता कर्ज और रेहड़ी पटरी वालों को कार्यशील पूंजी कर्ज उपलब्ध कराने के लिये 3.16 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com