NDTV Khabar

पाकिस्‍तान के कुलभूषण जाधव को कॉन्सुलर एक्सेस देने के दावे को भारत ने किया खारिज, कहा-ये महज खानापूर्ति

पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को कॉन्सुलर एक्सेस यानी राजनयिक मदद देने का दावा किया है. पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मुहम्मद आसिफ ने इसकी जानकारी दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्‍तान के कुलभूषण जाधव को कॉन्सुलर एक्सेस देने के दावे को भारत ने किया खारिज, कहा-ये महज खानापूर्ति

पाकिस्‍तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव को मिला कॉन्सुलर एक्सेस (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मुहम्मद आसिफ ने इसकी जानकारी दी
  2. पाकिस्तान की जेल में बंद है पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव
  3. जाधव की मां और पत्नी सोमवार को उनसे मिलने पाकिस्तान जाएंगी.
नई दिल्ली: पाकिस्तान के कानून मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ के जेल में बंद कुलभूषण जाधव को कॉन्‍सुलर एक्सेस देने के दावे को भारत ने खारिज कर दिया है. भारत ने इसे महज़ खानापूर्ति बताया है. ख्वाजा आसिफ ने जियो टीवी से बातचीत में ये बात कही थी, हालांकि बाद में यह भी कहा गया कि जियो टीवी ने उनके बयान पर गलत रिपोर्ट की है. असल में ख्वाजा आसिफ का कहना था कि यह कॉन्‍सुलर एक्सेस नहीं है. 

पाकिस्‍तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव से आज मिलेंगी मां और पत्‍नी, भारत ने रखी थीं ये तीन शर्तें, 10 बातें

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल पहले ही साफ कर चुके हैं कि कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी से मुलाकात के दौरान भारतीय डिप्लोमैट की मौजूदगी काउंसलर एक्सेस नहीं है. पाकिस्तान ने जब कुलभूषण जाधव की पत्नी को वीजा देने का ऑफर किया तो भारत ने जो तीन शर्ते रखी उसमें सोवेरन गारंटी की मांग शामिल थी. 

जासूसी के आरोप में पाकिस्तान की जेल में बंद पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी सोमवार को उनसे मिलने पाकिस्तान जाएंगी. ये लोग वाघा बॉर्डर के जरिए न जाकर इस्लामाबाद के लिए उड़ान भरेंगी. इनके साथ भारत के डिप्टी हाई कमिश्नर जेपी सिंह भी होंगे. मुलाकात के बाद ये लोग सोमवार को ही भारत लौट आएंगे.

भारत ने मुख्य तौर पर ये शर्त रखी थी कि कुलभूषण का परिवार जब पाकिस्तान में होगा तो न तो उनकी मां और न ही पत्नी से पूछताछ होगी और उनकी सुरक्षा की गारंटी भी पाकिस्तान की होगी. पाकिस्तान ने भारत से ये अनुरोध किया था कि परिवार की बातचीत मीडिया से करवाई जाए. हालांकि भारत ने इसकी इजाज़त नहीं दी है. भारत ने इसके पीछे परिवार की सुरक्षा और उनकी मानसिक स्थिति का हवाला दिया है.

पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव पर जासूसी, आतंकवाद फैलाने और देश के खिलाफ साजिश में शामिल होने का आरोप लगाकर मुकदमा चलाया. एकतरफा सुनवाई और जबरिया इकबालिया बयान के आधार पर उसे दोषी करार दिया और फिर फांसी की सजा सुना दी. इस बीच भारत ने बीस बार कुलभूषण से मिलने की इजाजत मांगी लेकिन पाकिस्तान ने काउंसलर एक्सेस की भारत की मांग को हर बार ठुकरा दिया था.

कुलभूषण जाधव के परिवार के पाकिस्तान दौरे को लेकर बहुत ही सतर्क है भारत

टिप्पणियां
भारत ने साफ़ कर दिया कि कुलभूषण उसका नागरिक है लेकिन नेवी में सर्विंग नहीं बल्कि रिटायरमेंट ले चुका है. ईरान में व्यवसाय के सिलसिले में था जहां से अगवा कर उसे पाकिस्तान ले जाया गया और फिर उसे झूठे मामले में फंसा दिया गया.कुलभूषण को पाकिस्तान आनन-फानन में फांसी देता इससे पहले ही भारत ने अंतरराष्ट्रीय अदालत में मामले को उठा दिया. अंतरराष्ट्रीय अदालत ने फांसी पर फौरी रोक लगा दी. मामला वहां अभी विचाराधीन है, सुनवाई आगे होगी लेकिन फ़ैसले को पाकिस्तान के लिए एक बड़े झटके के तौर पर देखा गया.


VIDEO: पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव से सोमवार को मिलेगा उनका परिवार

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement