NDTV Khabar

पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख राशिद ने समझौता एक्सप्रेस ट्रेन बंद करने का किया ऐलान

भारत की ओर से जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटे जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

भारत की ओर से जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटे जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. गुरुवार को पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख राशिद ने भारत-पाकिस्तान के बीच चलने वाले समझौता एक्सप्रेस (Samjhauta Express) ट्रेन को रद्द करने का ऐलान कर दिया. पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस ट्रेन (Samjhauta Express Train) को वाघा बॉर्डर पर रोक दिया. पाकिस्तान ने अपने ट्रेन ड्राइवर और गार्ड को समझौता एक्सप्रेस के साथ भारत भेजने से मना कर दिया. न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार, इसके बाद भारत ने अपना इंजन, गार्ड और दूसरे स्‍टाफ को वहां भेजा और समझौता एक्सप्रेस भारत लौट आई. इस ट्रेन में 110 यात्री सवार थे. 


इससे पहले उत्तर रेलवे के सीपीआरओ का कहना है कि, 'ट्रेन को बंद नहीं किया गया है. ट्रेन चलती रहेगी. पाकिस्तान प्रशासन ने समझौता एक्सप्रेस के क्रू मेंबर्स की सुरक्षा को लेकर कुछ चिंता जाहिर की है. हमने उनको बताया था कि इस तरफ सामान्य स्थिति है. हालांकि, हम हमारे क्रू मेंबर्स के साथ इंजन भेज रहे हैं, ट्रेन को वाघा से अटारी लेकर आएगा. 

पाकिस्तान के फैसलों पर पंजाब के CM ने जताई चिंता, बोले - उम्मीद है कि इसका असर करतारपुर गलियारे पर नहीं पड़ेगा

बता दें, बुधवार को भारत के साथ द्विपक्षीय राजनयिक संबंधों को कमतर करने का फैसला करने के कुछ ही देर बाद बुधवार को पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे को लेकर भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को निष्कासित कर दिया था. पाकिस्तान ने यह कदम प्रधानमंत्री इमरान खान की अध्यक्षता में हुई राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (एनएससी) की बैठक के बाद उठाया है, जिसमें भारत के साथ व्यापारिक रिश्तों को तोड़ने और "द्विपक्षीय संबंधों" की समीक्षा का भी फैसला लिया गया था.

अमेरिकी सांसदों ने पाकिस्तान को दी नसीहत, कहा- भारत के खिलाफ बदले की कार्रवाई से बचें

इसके बाद विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान की ओर से भारत के राजनयिक स्तर में कटौती करने सहित अन्य कदमों को दुनिया के सामने द्विपक्षीय संबंधों की चिंताजनक तस्वीर पेश करने का प्रयास करार दिया। साथ ही मंत्रालय ने कहा कि अनुच्छेद 370 से जुड़ा, हाल का सम्पूर्ण घटनाक्रम पूरी तरह से भारत का आतंरिक मामला है. विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि भारत का संविधान हमेशा से सम्प्रभु मामला रहा है और आगे भी रहेगा. इस अधिकार क्षेत्र में हस्तक्षेप कर क्षेत्र की चिंताजनक तस्वीर पेश करने की चाल कभी सफल नहीं होगी.

जम्मू-कश्मीर संबंधी कानून पर निकटता से नजर रख रहा है अमेरिका: अधिकारी

मंत्रालय ने कहा, ‘भारत सरकार कल पाकिस्तान द्वारा घोषित कदमों की निंदा करती है और उस देश से इसकी समीक्षा करने को कहती है ताकि सामान्य राजनयिक चैनल को बनाये रखा जा सके.' विदेश मंत्रालय ने कहा कि हमने उन खबरों को देखा है जिनमें कहा गया है कि पाकिस्तान ने भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों को लेकर कुछ एकतरफा फैसला किया है. इसमें हमारे राजनयिक संबंधों के स्तर में कटौती करना शामिल है.

कश्मीर पर फैसले से बौखलाया पाक- भारतीय राजनयिक को निकाला, द्विपक्षीय व्यापार भी किया निलंबित

टिप्पणियां

VIDEO: कश्मीर को लेकर पाकिस्तान की बौखलाहट पर किसने क्या बोला

(इनपुट: भाषा से भी)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement