NDTV Khabar

पूर्व पीएम वाजपेयी के अंतिम संस्कार में पहुंचा आतंकी डेविड हेडली का सौतेला भाई, पाकिस्तानी दल का था हिस्सा
पढ़ें | Read IN

पाकिस्तानी के 5 सदस्यों के इस दल में 26/11 के मुंबई आतंकी हमले के आरोपी डेविड हेडली का सौतेला भाई दानियाल गिलानी भी शामिल था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पूर्व पीएम वाजपेयी के अंतिम संस्कार में पहुंचा आतंकी डेविड हेडली का सौतेला भाई, पाकिस्तानी दल का था हिस्सा

अटल बिहारी वाजपेयी के अंतिम संस्कार में हेडली का सौतेला भाई भी शामिल हुआ.

खास बातें

  1. पाकिस्तान ने वाजपेयी के अंतिम संस्कार में भेजा था प्रतिनिधिमंडल
  2. 5 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल में डेविड हेडली का सौतेला भाई भी था शामिल
  3. साल 2008 में हुए मुंबई हमलों का आरोपी है डेविड कोलमैन हेडली
नई दिल्ली : पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के अंतिम संस्कार में आए पाकिस्तानी दल को लेकर विवाद खड़ा हो गया है. 5 सदस्यों के इस दल में 26/11 के मुंबई आतंकी हमले के आरोपी डेविड हेडली का सौतेला भाई दानियाल गिलानी भी शामिल था. दानियाल पाकिस्तानी सिविल सर्वेंट है और वो खुद के डेविड हेडली से रिश्तों को नकारता रहा है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डेविड हेडली उसके पिता और अमेरिकी नागरिक का बेटा है. वहीं NDTV को एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि दानियाल गिलानी को ब्लैकलिस्ट चेक करने के बाद ही वीज़ा दिया गया, उसके आतंकवाद से जुड़े होने की कोई रिपोर्ट नहीं है. आपको बता दें कि पाकिस्तानी अमेरिकी आतंकी डेविड हेडली की 26/11 के मुंबई आतंकी हमले में भूमिका थी इसी वजह से वो अमेरिका में जेल की हवा खा रहा है. 

मुंबई आतंकी हमले का आरोपी डेविड कोलमैन हेडली न ही शिकागो में है और न ही जेल में : वकील 

टिप्पणियां
पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल में दानियाल गिलानी के चयन को लेकर तमाम विशेषज्ञ भी चकित हैं. गिलानी पाकिस्तान में सेंट्रल फिल्म सेंसर बोर्ड के चेयरमैन के तौर पर कार्यरत है. हालांकि दानियाल गिलानी सिर्फ अंतिम संस्कार में ही शामिल हुआ. वह पाकिस्तान के कार्यवाहक कानून मंत्री सैयद अली जफर और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बीच औपचारिक बैठक में मौजूद नहीं था. अधिकारियों के मुताबिक औपचारिक बैठक में पाकिस्तान के उच्चायुक्त सोहेल मेहमूद, कार्यवाहक कानून मंत्री सैयद अली जफर और  विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता व दक्षिण एशिया के महानिदेशक मेहमूद फैजल ही शामिल थे. दानियाल गिलानी ने खुद इस औपचारिक बैठक को लेकर ट्वीट किया है.
गौरतलब है कि पिछले दिनों जब कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो भारत आए थे तब भी इसी तरह का एक विवाद पैदा हो गया था. दरअसल, जस्टिन ट्रूडो के लिए आयोजित एक आधिकारिक कार्यक्रम में खालिस्तान का समर्थन करने वाला दोषी आतंकी जसपाल अटवाल भी मौजूद था. इसके बाद सरकार को इस मामले में दखल देना पड़ा था. आपको बता दें कि भारत लगातार पाकिस्तान की धरती पर आतंकियों को मदद मुहैया कराए जाने का मुद्दा उठा रहा है. 

हेडली की गिरफ्तारी से अमेरिका को महसूस हुआ कि गोरी चमड़ी वाले भी आतंकी हो सकते हैं : डेनिश पत्रकार 

VIDEO : ये है हेडली​
 




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement