लॉकडाउन: पाकिस्तानी नागरिक ने भारत में बेचे करोड़ों रुपये के पान मसाले, पांच गोदामों से जब्त किया बेहिसाब स्टॉक

डीजीजीआई की प्रारंभिक जांच के आधार पर अनुमान लगाया गया है कि आरोपी और उसके साथियों ने करीब 40 करोड़ मूल्य के माल पर करीब 18.80 करोड़ रुपये की जीएसटी का चूना लगाया.

लॉकडाउन: पाकिस्तानी नागरिक ने भारत में बेचे करोड़ों रुपये के पान मसाले, पांच गोदामों से जब्त किया बेहिसाब स्टॉक

तलाशी के दौरान करीब 2.25 करोड़ रुपये के पान मसाला स्टॉक जब्त किया गया (तस्वीर: प्रतीकात्मक)

मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और अन्य पड़ोसी राज्यों के कुछ हिस्सों में लॉकडाउन में भी अवैध तरीके से करोड़ों रुपये का पान मसाला बेचने के मामले में केंद्रीय जीएसटी आसूचना अधिकारियों ने पाकिस्तान के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को बताया कि यहां से करीब 195 किलोमीटर दूर इंदौर में माल एवं सेवा खुफिया महानिदेशालय (डीजीजीआई) के अधिकारियों ने बुधवार को आरोपी को गिरफ्तार किया जो दीर्घ अवधि के वीजा पर आया था.  डीजीजीआई के अफसरों ने शनिवार और रविवार को इंदौर में आरोपी के पांच गोदामों और उसके घर पर एक साथ तलाशी अभियान चलाया और उसके बाद गिरफ्तारी हुई. डीजीजीआई, भोपाल जोन के अतिरिक्त महानिदेशक द्वारा जारी बयान के अनुसार, "तलाशी के दौरान करीब 2.25 करोड़ रुपये अनुमानित मूल्य के पान मसाला/तंबाकू का बेहिसाब स्टॉक जब्त किया गया."

बयान के अनुसार गोदामों में पान मसाला/तंबाकू गुप्त तरीके से रखा मिला जिसे मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और अन्य पड़ोसी राज्यों के अनेक जिलों में बेचने के लिए रखा गया था. वक्तव्य के अनुसार आवासीय परिसरों पर तलाशी के दौरान 66.47 लाख रुपये की बेहिसाब नकदी भी जब्त की गई. इसमें कहा गया कि आरोपी ने अधिकारियों को दिये बयान में कबूल किया कि यह नकदी पान मसाला और तंबाकू की बिक्री से अर्जित हुई है जिसे बिना बिल तथा बिना जीएसटी भुगतान के बेचा जा रहा था. डीजीजीआई की प्रारंभिक जांच के आधार पर अनुमान लगाया गया है कि आरोपी और उसके साथियों ने करीब 40 करोड़ मूल्य के माल पर करीब 18.80 करोड़ रुपये की जीएसटी का चूना लगाया. यह माल अप्रैल 2019 से मई 2020 की अवधि में अवैध तरीके से नकद में बेचा गया. 

इतने बड़े पैमाने पर कर चोरी को देखते हुए राजस्व बचाने के लिहाज से अचल संपत्तियों और बैंक खातों की अस्थायी कुर्की की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है. बयान में कहा गया, ‘‘इस प्रक्रिया के तहत आरोपी और उसके साथियों की तीन अचल संपत्तियां तथा पांच बैंक खाते अस्थायी रूप से बुधवार को कुर्क कर लिये गये.' इसमें कहा गया कि आरोपी को बुधवार को गिरफ्तार किया गया तथा इंदौर में आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ (ईओडब्ल्यू) अदालत के समक्ष पेश किया गया जिसने उसे 17 जून तक की 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बयान के अनुसार, ‘‘डीजीजीआई की जांच में खुलासा हुआ है कि गिरफ्तार व्यक्ति पाकिस्तान का पासपोर्ट रखता है.''  एक अधिकारी के अनुसार विदेश मंत्रालय को उसकी गिरफ्तारी की सूचना दे दी गयी है. अधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार 33 वर्षीय व्यक्ति पाकिस्तान के सिंध प्रांत के जैकबाबाद शहर का निवासी है. देश के अधिकतर राज्यों में गुटखा बिक्री पर पाबंदी है. कोरोना वायरस महामारी के कारण 25 मार्च से लगे लॉकडाउन में पूरे भारत में पान मसाला और तंबाकू उत्पादों की बिक्री और वितरण पर भी रोक लगी है. डीजीजीआई के बयान में कहा गया, ‘‘डीजीजीआई को मिले साक्ष्यों से संकेत मिलता है कि कुछ अवैध विक्रेताओं ने दुर्भागय से इस परिस्थिति का फायदा उठाया हो सकता है.''

Video: तंबाकू उत्पादों पर पूरी तरह पाबंदी कब तक?