NDTV Khabar

कश्मीर में पाकिस्तानी आतंकियों की घुसपैठ की कोशिश नाकाम, एक जवान घायल

सेना ने कहा- पाकिस्तान कर रहा संघर्ष विराम का उल्लंघन, नियंत्रण रेखा पर आतंकवादियों की संख्या बढ़ाने के प्रयास तेज कर दिए

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कश्मीर में पाकिस्तानी आतंकियों की घुसपैठ की कोशिश नाकाम, एक जवान घायल

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली:

कश्मीर में पाकिस्तान के नापाक इरादों को भारतीय सेना ने विफल कर दिया. मछल सेक्टर के कामकारी मछल और लशदेत इलाके में सेना ने मंगलवार को घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम कर दिया. छह अगस्त को सुबह 2:30 बजे के करीब घुसपैठ की कोशिश की गई थी. पांच से छह आतंकियों ने घुसपैठ की कोशिश की. इस दौरान एलओसी से 500 मीटर की दूरी पर फायरिंग हुई. गोलाबारी से एक जवान घायल हो गया. जवान को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है.

सेना के एक शीर्ष अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि पाकिस्तान ने पिछले कुछ दिनों से नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर आतंकवादियों की संख्या बढ़ाने और घुसपैठियों को जम्मू-कश्मीर में प्रवेश कराने की कोशिशें तेज कर दी हैं.

उत्तरी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ, लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने कहा कि पाकिस्तान संघर्ष विराम उल्लंघन भी कर रहा है. सिंह ने कहा कि अगर पाकिस्तानी सेना नुकसान पहुंचाने वाले अपने रास्ते पर चलती रही तो भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब देगी और उसे (पाक सेना को) इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ जाएगी. उन्होंने श्रीनगर में खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों के कोर ग्रुप की बैठक की अध्यक्षता की, ताकि सुरक्षा स्थिति पर प्रतिकूल असर डालने वाले किसी दुस्साहस से निपटने के लिए संचालन तैयारी की समीक्षा की जा सके. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को हटाए जाने और राज्य को दो केन्द्र शासित प्रदेशों (जम्मू-कश्मीर और लद्दाख) के रूप में विभाजित करने का प्रस्ताव संसद में पेश किए जाने के एक दिन बाद यह बैठक की गई है.


धारा 370 खत्म होने के बाद जम्मू-कश्मीर में आतंकियों और पाक की तरफ से खतरा, सेना सतर्क

उधमपुर में तैनात थल सेना के अधिकारियों द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार लेफ्टिनेंट जनरल सिंह ने यह भी कहा कि शांति एवं सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था की गई है. थल सेना कमांडर ने इस बात का जिक्र किया कि पिछले कुछ दिनों में पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा के पास स्थित आतंकी शिविरों में आतंकवादियों की संख्या बढ़ाने की कोशिशें तेज कर दी हैं. साथ ही, पाक संघर्ष विराम का उल्लंघन कर रहा है. घुसपैठियों को जम्मू-कश्मीर में भेजने की कोशिश की जा रही है. राज्य के आंतरिक हिस्सों में आतंकवादी हरकतों को अंजाम दे रहा है और जम्मू-कश्मीर में एक दुष्प्रचार शुरू करने के लिए सोशल मीडिया का भी इस्तेमाल कर रहा है.    

जम्मू-कश्मीर : 29 और 31 जुलाई के बीच आतंकवादी पाकिस्तानी 'BAT'की मदद से भारत में घुसने की फिराक में थे

उन्होंने कहा कि भारतीय थल सेना ने पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया है और देश में गड़बड़ी पैदा करने के उनके नापाक मंसूबों को नाकाम कर दिया है. उन्होंने लोगों से कहा कि लगातार दुष्प्रचार के जरिए उनके दिमाग में जहर भरने की कोशिश की जा रही है लेकिन वे दुश्मनों के इस जाल में ना फंसे. उन्होंने कहा कि अफवाह ना फैलाएं और साथ ही अपने निकट एवं प्रिय लोगों को भी अफवाह फैलाने वालों से दूर रखें. रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि भीड़ को नियंत्रित करने, कानून एवं व्यवस्था को बिगड़ने से रोकने और आतंकवाद-रोधी प्रभावी कार्रवाईयों के लिए संवेदनशील स्थानों एवं इलाकों में पर्याप्त सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं.

VIDEO : अपने कमांडो के शव ले जाए पाकिस्तान

टिप्पणियां

  
(इनपुट भाषा से भी)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement