गरीब रथ के फर्श पर सोने के लिए मजबूर हुई पैरा-एथलीट, सुरेश प्रभु ने दिए जांच के आदेश तो दिया यह जवाब

व्हीलचेयर के सहारे चलने-फिरने वाली 34 साल की सुवर्णा राज को ट्रेन में दिव्यांगों के अनुकूल सीट नहीं दी गई.

गरीब रथ के फर्श पर सोने के लिए मजबूर हुई पैरा-एथलीट, सुरेश प्रभु ने दिए जांच के आदेश तो दिया यह जवाब

पैरा एथलीट सुवर्णा राज को ट्रेन में नीचे की बर्थ नहीं दी गई, जिस कारण उन्हें फर्श पर सोना पड़ा

खास बातें

  • नागपुर-निजामुद्दीन गरीब रथ एक्सप्रेस की घटना
  • सुवर्णा राज को दी गई ऊपर की बर्थ
  • सह यात्रियों ने सीट बदलने से किया इनकार, मजबूरन फर्श पर सोना पड़ा
नई दिल्ली:

पदक विजेता पैरा-एथलीट सुवर्णा राज को ट्रेन में कथित तौर पर फर्श पर सोने के लिए मजबूर होने के एक दिन बाद रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने इस घटना की जांच के आदेश दिए हैं. व्हीलचेयर के सहारे चलने-फिरने वाली 34 साल की सुवर्णा को नागपुर-निजामुद्दीन गरीब रथ एक्सप्रेस में बार-बार आग्रह किए जाने के बावजूद दिव्यांगों के अनुकूल सीट नहीं दी गई. सुवर्णा को ऊपर वाली बर्थ दी गई थी, जिसके कारण उन्हें ट्रेन के फर्श पर सोना पड़ा.

Newsbeep

उन्होंने बताया, मैंने डिब्बे में सफर कर रहे यात्रियों से गुजारिश की कि वे अपनी सीट बदलकर मुझे नीचे की बर्थ दे दें, लेकिन सबने सिरे से मना कर दिया. शनिवार को उन्होंने समाचार एजेंसी ANI से बातचीत में कहा था कि मैं रेल मंत्री सुरेश प्रभु से मिलना चाहती हूं और बतलाना चाहती हूं कि ट्रेनों में सफर के दौरान हमें किन परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ANI के ट्वीट पर जवाब देते हुए प्रभु ने अपने आधिकारिक अकाउंट से जवाब दिया, 'इस मुद्दे पर जांच के आदेश दिए हैं. हम दिव्यांगों के लिए सुगम यात्रा सुनिश्चित करने के लिए गंभीर हैं.'
 

इस पर सुवर्णा राज ने ट्वीट किया, 'मैं कोई जांच नहीं चाहती हूं. मैं दिव्यांगों के लिए स्थायी समाधान चाहती हूं.' सुवर्णा राज ने पैरा टेबल टेनिस में भारत का प्रतिनिधित्व करती हैं.
 
suvarna raj

उन्होंने साल 2013 में थाइलैंड पैरा टेबल टेनिस में दो मेडल जीते थे. उन्होंने कुछ समय पहले दिल्ली में हुए एमसीडी चुनावों में योगेंद्र यादव की पार्टी स्वराज इंडिया के टिकट पर बाबरपुर इलाके से चुनाव भी लड़ा था.