NDTV Khabar

खेल रत्‍न पुरस्‍कार पाने वाले देवेंद्र झाझरिया ने जब वर्ल्‍ड रिकॉर्ड बनाते हुए जीता गोल्‍ड, जानें 5 बातें

पैरालिंपिक खेलों में दो स्‍वर्ण जीतने वाले वह पहले भारतीय खिलाड़ी हैं.

104 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
खेल रत्‍न पुरस्‍कार पाने वाले देवेंद्र झाझरिया ने जब वर्ल्‍ड रिकॉर्ड बनाते हुए जीता गोल्‍ड, जानें 5 बातें

देवेंद्र झाझरिया (36) जेवलिन थ्रो की एफ46 स्‍पर्द्धा में हिस्‍सा लेते हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पैरालिंपिक खेलों में जेवलिन थ्रो स्‍पर्द्धा में लेते हैं हिस्‍सा
  2. दो बार ओलंपिक में स्‍वर्ण जीतने वाले पहले खिलाड़ी
  3. राजस्‍थान के चुरू जिले से ताल्‍लुक रखते हैं
जेवलिन थ्रो में हिस्‍सा लेने वाले पैरालिंपिक खिलाड़ी देवेंद्र झाझरिया को खेल रत्‍न पुरस्‍कार से नवाजा गया है. उनके साथ हॉकी खिलाड़ी सरदार सिंह को भी संयुक्‍त रूप से यह पुरस्‍कार दिया गया है. इस संदर्भ में देवेंद्र झाझरिया से जुड़ी जानें 5 बातों पर एक नजर:

1. देवेंद्र झाझरिया (36) जेवलिन थ्रो की एफ46 स्‍पर्द्धा में हिस्‍सा लेते हैं. वह 2004 में एथेंस में भी इस स्‍पर्द्धा में गोल्‍ड जीत चुके हैं. इस तरह पैरालिंपिक खेलों में दो स्‍वर्ण जीतने वाले वह पहले भारतीय खिलाड़ी हैं. जेवलिन थ्रो में इस वक्‍त विश्‍व रैंकिंग में वह तीसरे नंबर के खिलाड़ी हैं.

यह भी पढ़ें: डिफेंस और आक्रमण के माहिर 'सरदार'

2. राजस्‍थान के चुरू जिले से ताल्‍लुक रखने वाले देवेंद्र जब आठ साल के थे तो पेड़ पर चढ़ने के दौरान एक इलेक्ट्रिक केबिल की चपेट में आ गए. उनका मेडिकल उपचार किया गया लेकिन उनको बचाने के लिए डॉक्‍टरों को उनका बायां हाथ काटने के लिए मजबूर होना पड़ा. 1997 में स्‍कूल में खेलने के दौरान द्रोणाचार्य पुरस्‍कार विजेता आरडी सिंह की नजर देवेंद्र पर पड़ी. उनको देवेंद्र में संभावनाएं लगीं और तब से वह उनके कोच बन गए.

यह भी पढ़ें: भारत के गोल्ड विजेता की बेटी ने कहा था, 'पापा मैंने टॉप किया अब आपकी बारी'

3. 2002 में देवेंद्र ने कोरिया में आयोजित आठवीं एफईएसपीआईसी खेलों में गोल्‍ड मेडल जीता. 2004 में पहली बार एथेंस पैरालिंपिक खेलों के लिए क्‍वालीफाई किया. उस खेल में उन्‍होंने पुराने 59.77 मी के विश्‍व रिकॉर्ड को तोड़कर 62.15 मी जेवलिन थ्रो करके नया कीर्तिमान बनाया.

VIDEO: बेटियों ने रचा कीर्तिमान


4. इसके साथ ही मुरलीकांत पेटकर के बाद पैरालिंपिक में गोल्‍ड जीतने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी बने. मुरलीकांत ने 1972 में जर्मनी के हीडलबर्ग पैरालिंपिक में 50 मी फ्रीस्‍टाइल तैराकी में गोल्‍ड जीता था. इस उपलब्धि के लिए उसी साल देवेंद्र को अर्जुन पुरस्‍कार से नवाजा गया.

5. 2012 में पदम श्री से सम्‍मानित होने वाले देश के पहले पैरालिंपिक खिलाड़ी बने. देवेंद्र ने 2013 में फ्रांस के लियोन में आयोजित आईपीसी एथलेटिक्‍स विश्‍व चैंपियनशिप में स्‍वर्ण पदक जीता. 2014 में दक्षिण कोरिया में आयोजित एशियन पैरा गेम्‍स और 2015 की वर्ल्‍ड चैंपियनशिप में उन्‍होंने सिल्‍वर मेडल हासिल किया. 2014 में फिक्‍की पैरा-स्‍पोर्ट्सपर्सन ऑफ द ईयर चुने गए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement