NDTV Khabar

कैप्‍टन ने प्रकाश सिंह बादल को दिया सरकारी आवास का ऑफर, अकाली नेता ने नहीं स्वीकारा

2 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
कैप्‍टन ने प्रकाश सिंह बादल को दिया सरकारी आवास का ऑफर, अकाली नेता ने नहीं स्वीकारा

हालिया चुनावों में प्रकाश सिंह बादल के नेतृत्‍व वाली अकाली-बीजेपी गठबंधन सरकार को शिकस्‍त मिली. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. बादल सीएम पद छोड़ने के बाद तलाश रहे घर
  2. लिहाजा पंजाब सरकार ने दिया था ऑफर
  3. अकाली नेता ने विनम्रतापूर्वक ठुकराया
चंडीगढ़: पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने पंजाब सरकार के मुफ्त सरकारी आवास के प्रस्ताव को विनम्रतापूर्वक खारिज करते हुए कहा कि वह इस प्रस्ताव के लिए मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के आभारी हैं. मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सद्भाव दिखाते हुए शनिवार को बादल को अपनी पसंद का मुफ्त सरकारी आवास मुहैया कराने का फैसला किया था. इससे पहले खबरें थीं कि वरिष्ठ अकाली नेता मुख्यमंत्री का पद छोड़ने के बाद एक अच्छा घर तलाश रहे हैं.

कैप्‍टन अमरिंदर के प्रस्‍ताव पर बादल ने एक बयान में कहा, ''उनका यह प्रस्ताव सुखद है और मैं तहेदिल से इसके लिए उन्हें शुक्रिया अदा करता हूं. लेकिन मैं अपने आवास के लिए खुद बंदोबस्त कर रहा हूं. हालांकि मैं उनकी भावनाओं की बहुत कद्र करता हूं और पूरी तरह उनके प्रति भी अपनी सद्भावनाएं प्रकट करता हूं.'' बादल ने कहा कि वह और उनकी पार्टी शिरोमणि अकाली दल पंजाब की जनता के व्यापक हित में कांग्रेस सरकार के किसी भी फैसले का पूरा और तहेदिल से समर्थन करेगी.

उन्होंने कहा कि अकाली दल टकराव या आलोचना के लिए आलोचना करने में विश्वास नहीं रखता. अगर नई सरकार में अपने वादों को पूरा करने की दृढ़ इच्छाशक्ति है तो वह आसानी से इसे कर सकती है. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ''कांग्रेस का घोषणापत्र दुनिया के सबसे अच्छे अर्थशास्त्रियों में शामिल डॉ मनमोहन सिंह ने तैयार और जारी किया था और अगर उन्होंने सोचा होता कि पंजाब सरकार का खजाना खाली है और इन खर्चों को पूरा करने के लिए पैसा नहीं है तो वे ये वादे नहीं करते.''

उन्होंने कहा, ''इसलिए मैं नई सरकार से अपेक्षा करता हूं कि पहले ही महीनों में अपने वादों को पूरा करें. अगर वे ऐसा करते हैं तो मैं उन्हें निजी तौर पर बधाई दूंगा.''

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement