शीतकालीन सत्र: मनमोहन सिंह पर लगाए आरोपों पर कांग्रेस ने कहा, पीएम मोदी सबूत दें या माफी मांगें

संसद के शीत सत्र में सदन की कार्रवाई शुरू होते ही राज्यसभा में पहले शरद यादव और अली अनवर की सदस्यता का मुद्दा गर्माया. इसके बाद नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर गुजरात चुनाव के दौरान पीएम मोदी के लगाए आरोपों पर भी स्पष्टीकरण मांगा.

शीतकालीन सत्र: मनमोहन सिंह पर लगाए आरोपों पर कांग्रेस ने कहा, पीएम मोदी सबूत दें या माफी मांगें

कांग्रेस ने कहा, पीएम मोदी सबूत दें या माफी मांगें

खास बातें

  • शरद यादव और अली अनवर की सदस्यता का मुद्दा भी गर्माया.
  • गुलाम नबी ने पीएम मोदी के लगाए आरोपों पर भी स्पष्टीकरण मांगा.
  • प्रधानमंत्री को सदन में अपना रूख साफ करना चाहिए: गुलाम नबी
नई दिल्ली:

संसद के शीत सत्र में सदन की कार्रवाई शुरू होते ही राज्यसभा में पहले शरद यादव और अली अनवर की सदस्यता का मुद्दा गर्माया. इसके बाद नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर गुजरात चुनाव के दौरान पीएम मोदी के लगाए आरोपों पर भी स्पष्टीकरण मांगा. आजाद ने कहा कि इस मसले पर प्रधानमंत्री को सदन में अपना रूख साफ करना चाहिए, जिसके बाद सदन में खूब हंगामा हुआ और कार्यवाही 2.30 बजे तक स्थगित कर दी गई.

शीतसत्र से पहले बोले PM - दिल्‍ली में नहीं लग रही ठंड, वजह भी बताई

गुलाम नबी आज़ाद ने कहा, "पीएम मोदी को जो आरोप उन्होंने मनमोहन सिंह पर लगाए उसे साबित करना चाहिये. अगर कोई दोषी है तो उसे सज़ा मिलनी चाहिये. लेकिन अगर वो साबित नहीं कर पाते हैं तो उन्हें संसद से और देश से माफी मांगनी चाहिये." जबकि समाजवादी पार्टी के नेता नरेश अग्रवाल ने कहा कि राज्यसभा में विपक्षी सांसदों को जिस तरह बोलने नहीं दिया गया उसकी वो भर्त्‍सना करते हैं और जब तक पीएम माफी नहीं मांगते वो सदन नहीं चलने देंगे. सरकार विपक्ष की मांग मानने को राज़ी नहीं हुई लेकिन शिवसेना ने पीएम मोदी को नसीहत दे दी कि मामला गंभीर है और उन्हें स्पष्टीकरण देना चाहिये. संजय राउत ने एनडीटीवी से कहा, "माफी मांगने की परंपरा अब नहीं बची है, लेकिन पीएम को देश को बताना चाहिये कि किस आधार पर उन्होंने ये आरोप लगाए." ज़ाहिर है, शीत सत्र के पहले ही दिन दिखी ये तकरार जल्दी खत्म होगी इसके आसार नहीं दिखते.

इससे पहले विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद के नेतृत्व में विपक्षी पार्टियों द्वारा जनता दल यूनाइटेड (जदयू) नेता शरद यादव को निलंबित करने के मुद्दे पर काफी हंगामा किया गया, जिसके चलते उच्च सदन की कार्यवाही संक्षिप्त समय के लिए स्थगित कर दी गई. हालांकि, इसके तुरंत बाद प्रश्नकाल के लिए कार्यवाही जैसे ही फिर शुरू हुई, आजाद और अन्य विपक्षी नेताओं ने मोदी द्वारा पाकिस्तानी अधिकारियों से मुलाकात को लेकर पूर्व मनमोहन सिंह को निशाना बनाए जाने के खिलाफ हंगामा किया.

मोदी ने दावा किया था कि कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के घर पर हुई एक बैठक के दौरान, जिसमें मनमोहन सिंह भी शामिल थे, गुजरात चुनावों को लेकर भारत में कार्यरत पाकिस्तान के उच्चायुक्त और पूर्व पाकिस्तानी विदेश मंत्री खुर्शीद कसूरी से चर्चा की गई थी.

ट्रिपल तलाक बिल के ड्राफ्ट पर आज कैबिनेट में होगी चर्चा, शीतकालीन सत्र में होगा पेश

वहीं लोकसभा में दिवंगत सांसदों को श्रद्धांजलि देने के बाद सदन की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी गई. सदन की कार्यवाही शुरू होते ही लोकसभा के नवनिर्वाचित सांसद सुनील जाखड़ ने पद की शपथ ली. सुनील जाखड़ लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष बलराम जाखड़ के बेटे हैं. सुनील जाखड़ ने फिल्म स्टार एवं सांसद विनोद खन्ना के निधन के बाद खाली हुई गुरदास लोकसभा सीट से उपचुनाव जीता था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंत्रिमंडल में शामिल नए सदस्यों से सदन का परिचय कराया, जिनमें रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, रेल मंत्री पीयूष गोयल और अन्य हैं. मोदी ने सितंबर में अपने मंत्रिपरिषद में बदलाव कर नौ नए चेहरों को शामिल किया था. लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने तीन निवर्तमान सांसदों और कांग्रेस नेता प्रियरंजन दासमुंशी सहित कुछ पूर्व सांसदों को श्रद्धांजलि देन के बाद सदन की कार्यवाही सोमवार तक के लिए स्थगित कर दी. सांसदों ने मौजूदा सांसद सुल्तान अहमद (तृणमूल कांग्रेस), एम.तसलीमुद्दीन (राष्ट्रीय जनता दल) और महंत चांदनाथ (भारतीय जनता पार्टी) को श्रद्धांजलि दी.

VIDEO: संसद के शीतकालीन सत्र में सकारात्मक बहस की उम्मीद : पीएम मोदी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वहीं संसद के शीतकालीन सत्र में इंडियन नेशनल लोक दल के सांसद दुष्यंत चौटाला ट्रैक्टर से संसद पहुंचे. इसके अलावा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह शुक्रवार को पहली बार एक राज्यसभा सांसद के तौर पर संसद पहुंचे.