एम्स में फैले भ्रष्टाचार पर संसदीय समिति ने उठाये सवाल

एम्स में फैले भ्रष्टाचार पर संसदीय समिति ने उठाये सवाल

प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

नई दिल्‍ली:

स्वास्थ्य मामलों पर बनी संसद की समिति ने देश के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल एम्स में फैले भ्रष्टाचार को लेकर तीखे सवाल खड़े किये हैं और सरकार की कड़ी आलोचना की है।

अपनी ताज़ा रिपोर्ट में संसदीय समिति ने एम्स में फैले भ्रष्टाचार से लड़ने में सरकार को नाकाम बताते हुये एम्स में तुरंत एक स्थाई विजिलेंस ऑफिसर की तैनाती करने को कहा है। समिति की इस रिपोर्ट में बीजेपी के कई सांसदों के भी दस्तख़त हैं।

बीएसपी नेता सतीश मिश्रा की अगुवाई वाली संसद की स्टैंडिंग कमेटी ने कहा है कि एम्स में भ्रष्टाचार के तमाम मामले उजागर हुये हैं लेकिन सरकार इनका निबटारा करने में कतई गंभीर नहीं दिखती। कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि यह हैरान करने वाली बात है कि करोड़ों के भ्रष्टाचार के मामले उजागर होने के बाद सरकार ने एम्स में रेगुलर मुख्य सतर्कता अधिकारी को हटा दिया।

इसके बजाय सरकार एम्स के सीवीओ का काम स्वास्थ्य मंत्रालय के सीवीओ से करा रही है जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता। कमेटी ने सरकार के रवैये की कड़ी आलोचना करते हुये कहा कि सरकार तुरंत एम्स में एक रेगुलर सीवीओ तैनात करे। गौरतलब है कि सरकार ने एम्स में कई भ्रष्टाचार के मामले उजागर करने वाले सीवीओ संजीव चतुर्वेदी को पिछले साल हटा दिया था उसके बाद से सरकार मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेटरी से ही एम्स के सीवीओ का काम ले रही है।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com