NDTV Khabar

मॉनसून सत्र : अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में शुक्रवार को होगी बहस, रामगोपाल यादव बोले-मोदी सरकार के नाकामियों को करेंगे उजागर

संसद के मॉनसून सत्र की हंगामेदार शुरुआत हुई है. संसद की कार्यवाही शुरू होते ही दोनों सदनों में हंगामा शुरू हो गया. लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर विपक्ष ने हंगामा किया और हमें न्याय चाहिए के नारे लगाए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मॉनसून सत्र : अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में शुक्रवार को होगी बहस, रामगोपाल यादव बोले-मोदी सरकार के नाकामियों को करेंगे उजागर

संसद के मॉनसून सत्र की हंगामेदार शुरुआत हुई है

खास बातें

  1. संसद के मॉनसून सत्र की हंगामेदार शुरुआत हुई है
  2. जितनी व्यापक चर्चा होगी, सदन को शक्ति मिलेगा: पीएम मोदी
  3. देश भर में भारत के प्रतिनिधियों की छवि अच्छी होगी.
नई दिल्ली: संसद के मॉनसून सत्र की हंगामेदार शुरुआत हुई है. संसद की कार्यवाही शुरू होते ही दोनों सदनों में हंगामा शुरू हो गया. लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर विपक्ष ने हंगामा किया और हमें न्याय चाहिए के नारे लगाए. वहीं राज्यसभा में भी विपक्ष ने खूब हंगामा किया. टीडीपी सांसदों ने आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा देने के मुद्दे पर हंगामा किया. इसके चलते राज्यसभा की कार्यवाही पहले 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई थी. वहीं संसद के ऊपरी सदन राज्यसभा में शास्त्रीय नर्तकी सोनल मानसिंह, मूर्तिकार रघुनाथ मोहपात्रा और लेखक राकेश सिन्हा ने बुधवार को नवनिर्वाचित सांसदों के रूप में शपथ ली. वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को राजनीतिक दलों से संसद के मानसून सत्र का ज्यादा से ज्यादा सदुपयोग करने का आग्रह किया और कहा कि सरकार सदन में किसी भी मुद्दे पर चर्चा करने के लिए तैयार है. संसद परिसर में मोदी ने संवाददाताओं से कहा, "संसद के मानसून सत्र में आप सबका स्वागत है. कई मुद्दों पर चर्चा होनी है. मैं उम्मीद करता हूं कि सभी राजनीतिक दल सहयोग करेंगे और सत्र को सुचारू रूप से चलने देंगे." उन्होंने कहा, "सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है."

  

संसद के मॉनसून सत्र के LIVE UPDATES


- रामगोपाल यादव ने NDTV से कहा, हम अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर बहस के दौरान मोदी सरकार के नाकामियों को उजागर करेंगे. उन्‍होंने कहा कि अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर वोटिंग से ज्‍यादा उस पर बहस महत्‍वपूर्ण होगी. 

- बीजेपी ने व्हिप जारी कर सभी सांसदों से संसद में रहने को कहा है. 


- केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष द्वारा मॉनसून सत्र के पहले दिन पेश किए गए अविश्वास प्रस्ताव पर लोकसभा में शुक्रवार को सुबह 11 बजे से शाम 6 बजे तक चलेगी चर्चा.

- कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने स्वामी अग्निवेश पर हमले का मामला उठाया, इसे अभिव्यक्ति की आजादी पर भी हमला है. 

- मुलायाम सिंह यादव ने NDTV से कहा कि हम अविश्‍वास प्रस्‍ताव का समर्थन करते हैं. मैं संसद में भी इसका आज समर्थन किया है. 

- मोदी सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव बहस के लिए मंज़ूर, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने 10 दिन के भी भीतर इस पर बहस का दिन व समय तय करेंगी

- लोकसभा में केन्‍द्र सरकार के अविश्‍वास प्रस्‍ताव के खिलाफ 50 सांसदों का समर्थन, केन्‍द्रीय संसदीय मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि सरकार चर्चा के लिए तैयार 

- संसद में मॉनसून सत्र के पहले दिन कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने लोकसभा में कहा, 'जिस सरकार के राज में किसानों ने खुदकुशी की, जिसके राज में महिलाओं से रोज़ाना बलात्कार होते हैं... हम आपके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव रखते हैं...'

 
- आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य के दर्जे की मांग पर टीडीपी सांसदों के हंगामे के बाद राज्यसभा 12 बजे तक स्थगित.

-  मॉब लिंचिंग को लेकर लोकसभा में विपक्ष का हंगामा, सांसदों ने लगाए नारे - 'हमें न्‍याय चाहिए...'

- सोनल मानसिंह, राकेश सिन्हा और रघुनाथ महापात्रा ने राज्यसभा के मनोनीत सदस्य के रूप में शपथ ली.
 
- पीएम ने वरिष्ठ नेताओं अमित शाह, अनंत कुमार और अन्य मंत्री के साथ मॉनसून सत्र पर चर्चा की

- पीएम मोदी ने कहा, कोई भी सांसद किसी भी विषय पर चर्चा कर सकता है, सरकार हर चर्चा के लिए तैयार है

- कांग्रेस और विपक्षी दल के अन्‍य सदस्‍यों ने केन्‍द्र सरकार के खिलाफ संसद के मॉनूसन सत्र में पेश किया अविश्वास प्रस्ताव. खड़गे, वेणुगोपाल, तारिक अनवर ने पेश करेंगे अविश्‍वास प्रस्‍ताव

- विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज और गृहमंत्री राजनाथ सिंह मॉनसून सत्र में शामिल होने के लिए संसद पहुंचे. 
 

- सीपीआई के सांसद डी राजा ने स्‍वामी अग्निवेश पर हुए हमले और मॉब लिंचिंग को लेकर राज्‍यसभा में स्‍थगन प्रस्‍ताव दिया है.
 
- आरजेडी के सांसद जेपी यादव ने मॉब लिंचिंग मामले में कार्य स्‍थगन प्रस्‍ताव का नोटिस लोकसभा में दिया है. 

 

संसद का मॉनसून सत्र भी हंगामेदार रहने के आसार, 10 बातें

यह सत्र बुधवार को शुरू होकर 10 अगस्त तक चलेगा. कांग्रेस कई मोर्चों पर मोदी सरकार को घेरने की तैयारियों में जुटी है. दरअसल, आज यानी 18 जुलाई से संसद का मॉनसून सत्र शुरू हो रहा है, उम्मीद की जा रही है कि इस बार पिछली बार की तरह हंगामेदार नहीं होगा. हालांकि, इसके लिए लोकसभा स्पीकर ने भी अपनी ओर से पहल की है. महिला सशक्तिकरण के मुद्दे पर कांग्रेस को घेरने का प्रयास करते हुए सरकार ने महिला आरक्षण, एक बार में तीन तलाक और निकाह हलाला संबंधी विधेयकों को संसद से पारित करने में सहयोग करने की मुख्य विपक्षी दल से अपील की. 


क्या इस बार पास होंगे ट्रिपल तलाक और हलाला संबंधी विधेयक?

कांग्रेस ने कहा कि संसद के मॉनसून सत्र में वह कई अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों के साथ भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या (मॉब लिंचिंग) तथा महिला सुरक्षा के मुद्दे उठाएगी. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, "इस सत्र को सफल बनाने के लिए हम सरकार का सहयोग करेंगे. हमें उम्मीद है कि हमें देश के महत्वपूर्ण मुद्दे उठाने दिए जाएंगे."

टिप्पणियां
मॉनसून सत्र भी धुलेगा? संसद में कई दौर की बैठकों के बाद भी अंदेशा बरकरार

उन्होंने कहा कि सोमवार को सर्वदलीय बैठक में यह निर्णय लिया गया कि सत्र के दौरान विपक्ष कुछ महत्वपूर्ण मुद्दे उठाएगा. खड़गे ने कहा, "हम इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि सरकार पिछले चार सालों में अपने वादे पूरे करने में नाकाम रही है."

LIVE: मोदी सरकार के ख़िलाफ़ अविश्वास प्रस्ताव बहस के लिए मंज़ूर
 




Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement