NDTV Khabar

पंचकूला के बाद पटना में उग्र हुई भीड़, अवैध कब्जा हटाने पहुंची टीम पर पथराव, पुलिस की गाड़ियां फूंकी

पुलिस ने बताया कि प्रशासन जैसे ही दीवार तोड़ने के लिए आगे बढ़ा तो वहां भीड़ जमा हो गई और पत्थर बरसाने शुरू कर दिए.

310 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पंचकूला के बाद पटना में उग्र हुई भीड़, अवैध कब्जा हटाने पहुंची टीम पर पथराव, पुलिस की गाड़ियां फूंकी

भीड़ ने किया हंगामा

खास बातें

  1. पुलिस को स्थिति संभालने के लिए फायरिंग करनी पड़ी
  2. लोगों ने टीम पर पथराव किया और आगजनी की
  3. इस घटना में कई लोगों के घायल होने की भी खबर है
पटना: उग्र भीड़ ने आज पटना में जमकर हंगामा किया.  दरअसल, पुलिस राजीव नगर इलाके में आवास बोर्ड की जमीन से कब्जा हटाने गई थी. यहां लोग गैरकानूनी तरीके से रह रहे थे. जैसे ही पुलिस और प्रशासन पहुंचा तो वहां मौजूद लोगों ने पथराव करना शुरू कर दिया. स्थिति इतनी बिगड़ गई की पुलिस की गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया. पुलिस को स्थिति संभालने के लिए गोली भी चलानी पड़ी. वहां मौजूद महिलाओं ने जेसीबी मशीनों पर भी पथराव किया. एसडीएम की गाड़ी का शीशा भी टूट गया. इस घटना में कई लोगों के घायल होने की खबर है.

डेरा हिंसा : देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार तीन लोगों को न्यायिक हिरासत में भेजा गया

चारों तरफ पत्थरबाजी और आगजनी की तस्वीरें देखकर हाल ही में पंचकूला में हुई हिंसा की याद गई. रेप केस में गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद वहां मौजूद डेरा समर्थकों ने सार्वजनिक संपत्ति को जमकर नुकसान पहुंचाया था. सड़कों पर हंगामा होता रहा और पुलिस व प्रशासन भी उस दिन जैसे नाकाम दिख रहे थे.

गुरमीत राम रहीम मामला : केंद्रीय गृहमंत्रालय ने हरियाणा पुलिस को दी क्लीनचिट
 
patna

पीएम नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर भीड़ द्वारा हमले की निंदा की

भीड़ ने की आगजनी
पुलिस ने बताया कि प्रशासन जैसे ही दीवार तोड़ने के लिए आगे बढ़ा तो वहां भीड़ जमा हो गई और पत्थर बरसाने शुरू कर दिए. पुलिस की गाड़ियों और जेसीबी को आग लगाने के बाद भी भीड़ शांत न हुई तो पुलिस को गोली चलानी पड़ी.

क्या है मामला
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राजीव नगर के घुडदौड़ रोड की यह जमीन विवादित है. बिहार सरकार ने किसानों से राजीव नगर की जमीन लेकर हाउसिंग बोर्ड को देने का फैसला किया था. जमीन को तो हाउसिंग बोर्ड के नाम कर दिया गया लेकिन स्थानीय लोगों का कहना है कि उन्हें इस जमीन के बदले मुआवजा नहीं मिला. किसानों ने इसी के चलते जमीन पर कब्जा किए रखा और अवैध रूप से यहां मकान बनते रहे. बहुत से किसानों ने तो बिना कागजात के ही जमीन बेच दी, जिस पर लोगों ने घर बना लिए.

VIDEO : भीड़ की हिंसा पर कैसे लगेगी लगाम
भीड़ की हिंसा
भीड़ द्वारा हंगामा किए जाने की घटनाएं दिन पर दिन बढ़ती जा रही है. हाल ही में गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिए जाने वाले दिन भीड़ ने हरियाणा और पंजाब में जमकर उत्पात मचाया था. पीएम मोदी ने भी भीड़ की हिंसा पर बोलते हुए कहा था कि कानून तोड़ने वालों को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement