सीएम रमन सिंह आपको बधाई, लेकिन सरकारी अस्पताल में भर्ती मरीजों की परेशानी भी देख लेते

सरकारी अस्पताल में सीएम की बहू को प्रसूति के वक्‍त वीआईपी ट्रीटमेंट मिला. उसी वक्त सामान्य और गरीब परिवार की गर्भवती महिलाओं को बिस्तर साझा करना पड़ा.

सीएम रमन सिंह आपको बधाई, लेकिन सरकारी अस्पताल में भर्ती मरीजों की परेशानी भी देख लेते

सीएम रमन सिंह पोती के साथ

रायपुर:

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह  की पोती के जन्म रायपुर के सबसे बड़ी सरकारी अस्पताल डॉ भीमराव अंबेडकर मेमोरियल में हुआ. 11 नवंबर को उनके  बेटे अभिषेक की पत्नी ऐश्वर्या ने अस्पताल में बिटिया को जन्म दिया, जिसके लिये पूरे देश भर में तस्वीरें वायरल हुई रमन सिंह को बधाई मिली लेकिन जिस सरकारी अस्पताल में सीएम की बहू को प्रसूति के वक्‍त वीआईपी ट्रीटमेंट मिला. उसी वक्त सामान्य और गरीब परिवार की गर्भवती महिलाओं को बिस्तर साझा करना पड़ा. यही नहीं अस्पताल के बीमार डॉक्टरों के कमरे को भी पुलिस कंट्रोल रूम में तब्दील कर दिया गया. 

नक्सल पीड़ित इलाकों में जब बाइक पर ही घूमने निकल पड़े सीएम डॉ. रमन सिंह...

अस्पताल की दूसरी मंजिल पर मुख्यमंत्री की बहू ऐश्वर्या की डिलीवरी हुई, लेकिन वहां सुरक्षा के इंतज़ाम इतने कड़े कर दिये गये कि आम आदमी के लिये मुश्किलें खड़ी हो गईं. अस्पताल के अधीक्षक ने कहा हमारे लिये गर्व की बात है कि हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री ने हमारे अस्पताल को चुना हालांकि उन्होंने दिक्कतों का जिक्र करते कहा '700 मरीज़ों का इंफ्रास्ट्रक्चर है... 1200 मरीज भर्ती हैं. जगह की  कमी है... नया निर्माण हो रहा है लेकिन धीरे धीरे... मैं स्वीकारता हूं कि प्रसूता वार्ड में दिक्कत हुई तो हमने 30 बेड की अलग से व्यवस्था की है ताकि उन्हें सिंगल बेड दे पाएं. 

वीडियो : रमन सिंहा का दावा

अस्पताल में भर्ती मरीजों ने बताया कि बहुत मुश्किल हो रही है एक ही बिस्तर दिया है, हमने कहा लेकिन किसी ने सुना नहीं.  मेडिकल कॉलेज को 25-30 लड़कों को उल्टी-दस्त की शिकायत हुई जिसमें 10 छात्रों को अस्पताल में भर्ती कराने की नौबत आई. अस्पताल में भर्ती एक डॉक्टर ने बताया कि कायदे से हमें सिक रूम में भर्ती करना था लेकिन उसे पुलिस कंट्रोल रूम बना दिया गया.
 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com