इस सस्ती रेल सेवा के बंद होने से भारत के साथ-साथ नेपाल के लोग भी परेशान

इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर उत्तरप्रदेश के बहराइच जिले के नानपारा से लेकर मैलानी तक चलने वाली ट्रेन शनिवार को बंद कर दी गई

इस सस्ती रेल सेवा के बंद होने से भारत के साथ-साथ नेपाल के लोग भी परेशान

नानपारा से लेकर मैलानी ट्रेन सेवा बंद होने के विरोध में प्रदर्शन करते हुए लोग.

खास बातें

  • 123 किलोमीटर लंबा रेलवे ट्रैक बंद कर दिया गया
  • वन्य जीव संरक्षण को लेकर कोर्ट ने दिया था आदेश
  • सस्ती रेल सेवा के जरिए छोटे व्यापारी करते रहे हैं आवागमन
नई दिल्ली:

देश के अति पिछड़े जिले बहराइच में नानपारा से लेकर मैलानी तक चलने वाली ट्रेन को शनिवार को बंद कर दिया गया. सस्ती ट्रेन सेवा बंद होने से उत्तरप्रदेश के बहराइच ही नहीं उससे सटे नेपाल के चार जिले बांके, बर्दिया, कैलाली और कंचनपुर के लोगों का आवागमन भी बुरी तरह प्रभावित हो गया है. इस 123 किलोमीटर लंबे रेलवे ट्रैक को बंद किए जाने से भारत-नेपाल सीमा से सटे इलाके में रहने वाले लोग परेशान हैं. वे रेल सेवा बंद होने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. यह रेल सेवा इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर बंद की गई है.

इस सस्ती रेल सेवा के जरिए छोटे व्यापारी अपना सामान और किसान अपना बीज और उत्पाद मिहींपुरवा, बिछिया, कर्तियाघाट,नानपारा से लेकर आते हैं और बहराइच से लेकर नेपाल तक में बेचते हैं. यह पूरा इलाका कर्तियाघाट वन्यजीव अभ्यारण्य और दुधवा नेशनल पार्क से सटा है. वन्य जीव संरक्षण को लेकर ही पिछले दिनों इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इस रेल सेवा को बंद करने का आदेश सुनाया था.

दरअसल से रेल ट्रैक जंगल के बीच से गुजरता है. इसके चलते कई जंगली हाथी और वन्य जीवों की पटरी पर आने से मौत हो चुकी है. वन विभाग इस मामले को लेकर हाईकोर्ट गया था. हाईकोर्ट ने रेल सेवा बंद करने का आदेश दिया.

दुधवा टाइगर रिजर्व में रात को घूम-घूमकर शराब की पार्टी करती हैं DM : IFS अफसर की शिकायत

0s4299qk

अब उत्तर प्रदेश में ग्रामीणों ने बाघिन को पहले ट्रैक्टर से कुचला... फिर लाठियों से पीट-पीटकर मार डाला

मिहींपुरवा के रहने वाले गिरीश त्रिपाठी का कहना है कि रेल सेवा बंद होने से लाखों गरीबों की अजीविका पर असर पड़ेगा. इससे जंगल का दोहन और ज्यादा बढ़ेगा. लग रहा है कि सरकार ने इस गरीब इलाके की जनता को उसके हाल पर छोड़ दिया है. दूरदराज के इलाके की खस्ताहाल सड़कों के चलते अब ग्रामीणों के सामने रोजगार का संकट पैदा हो गया है.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com