NDTV Khabar

बजट पेश होने के एक दिन बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी, जानें कितना बढ़ गया भाव

शनिवार को पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी देखने को मिली. दिल्ली मे शनिवार को पेट्रोल की कीमतों मे 2.45 रुपये की बढ़ोतरी देखने को मिली.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बजट पेश होने के एक दिन बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी, जानें कितना बढ़ गया भाव

बजट के बाद बढ़ीं पेट्रोल-डीजल की कीमतें

खास बातें

  1. पेट्रोल-डीजल के कीमतों में बढ़ोतरी
  2. बजट पेश होने के एक दिन बाद बढ़ीं कीमतें
  3. शुक्रवार को पेश किया गया था बजट
नई दिल्ली:

भारी बहुमत से दूसरी बार सत्ता में आई मोदी सरकार ने शुक्रवार को बजट पेश किया. बजट में राजकोषीय मजबूती पर जोर देने के लिए सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर कर बढ़ा दिया. अब बजट पेश होने के एक दिन बाद इसका रिएक्शन आना शुरू हो गया है. शनिवार को पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी देखने को मिली. दिल्ली मे शनिवार को पेट्रोल की कीमतों मे 2.45 रुपये की बढ़ोतरी देखने को मिली. इस बढ़ोतरी के साथ दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें अब 72.96 रुपये प्रति लीटर हो गई हैं. वहीं, दिल्ली में डीजल की कीमतों में भी 2.36 रुपये का इजाफा देखने को मिला. अब डीजल की कीमतें 66.69 रुपये प्रति लीटर हो गई हैं.

Budget 2019: बजट के बाद क्या सस्ता हुआ और किसके बढ़े दाम, यहां पढ़ें पूरी लिस्ट



वहीं मुंबई में पेट्रोल 78.57 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है तो कोलकाता में इसकी कीमत 75.15 रुपये प्रति लीटर हो गई है. बता दें कि वित्त मंत्री  निर्मला सीतारमण  द्वारा शुक्रवार को पेश किए गए बजट में पेट्रोल और डीजल पर सेस और एक्‍साइज ड्यूटी बढ़ाई गई है. पेट्रोल और डीजल पर  1 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से सेस लगाया गया है. इसके साथ ही 1 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से एक्‍साइज ड्यूटी बढ़ाई गई है. बता दें कि  पेट्रोल-डीजल सरकार के लिए आय के सबसे बड़े स्रोतों में से एक होता है.

शेरो-शायरी और चाणक्य नीति के सूत्रों के साथ पेश किया निर्मला सीतारमण ने अपना पहला बजट

आमतौर पर कच्चे तेल की कीमतें घटने पर पेट्रोल-डीजल की कीमतों में गिरावट देखने को मिलती है, लेकिन हाल के वर्षों में, सरकार ने वैश्विक कीमतों में गिरावट आने पर भी उत्पाद शुल्क बढ़ाया है. जिससे आम जनता को इसका फायदा नहीं मिल पाता है. बजट पेश करते हुए वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि बजट में पेट्रोल और डीजल पर एक-एक रुपये प्रति लीटर विशेष अतिरिक्त उत्पाद शुल्क तथा सड़क और बुनियादी ढांचा उपकर बढ़ाने का प्रस्ताव किया है. कच्चे तेल के मूल्य कम हुए हैं. इससे पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क और उपकर की समीक्षा करने का मौका मिला है.

Budget 2019: मिडिल क्लास ने सोशल मीडिया पर जताई नाराजगी, लिखा- 'अच्छा सिला दिया मेरे प्यार का'


बता दें कि पेट्रोल, डीजल पर कर के साथ-सथ और सोने पर आयात शुल्क भी बढ़ा दिया गया है लेकिन इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद को प्रोत्साहित करने के लिए वाहन ऋण पर कर छूट का लाभ दिया गया है. बजट में दो करोड़ रुपये से अधिक कमाई करने वालों पर कर अधिभार बढ़ाने का प्रस्ताव है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को वित्त वर्ष 2019-20 का बजट पेश करते हुए आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिये अधिकांश कंपनियों को निम्न 25 प्रतिशत कर के दायरे में ला दिया है. यह सीतारमण का पहला बजट है. बजट में सस्ते मकानों के लिये बैंक कर्ज पर अब 3.5 लाख करोड़ रुपये तक के ब्याज पर कर कटौती की छूट देने की घोषणा की गई है. अभी आवास लोन के दो लाख रुपये तक के ब्याज पर आयकर छूट दी जाती है.

टिप्पणियां

VIDEO: सिटी सेंटर: पेश हुआ बजट, 'आम' हो 'खास' सबकी जेब पर पड़ेगा असर



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement