NDTV Khabar

पेट्रोल और डीजल के दामों में नहीं हुई बढ़ोतरी, घट सकते हैं रेट

पेट्रोल और डीजल के दाम में रविवार को लगातार दूसरे दिन स्थिरता बनी रही, लेकिन आगे फिर तेल के दाम घटने की संभावना बनी हुई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पेट्रोल और डीजल के दामों में नहीं हुई बढ़ोतरी, घट सकते हैं रेट

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. पेट्रोल और डीजल के दामों में नहीं हुई बढ़ोतरी
  2. पेट्रोल और डीजल के दाम घट सकते हैं
  3. दामों में रविवार को लगातार दूसरे दिन स्थिरता बनी रही
नई दिल्ली:

पेट्रोल और डीजल के दाम में रविवार को लगातार दूसरे दिन स्थिरता बनी रही, लेकिन आगे फिर तेल के दाम घटने की संभावना बनी हुई है. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में पिछले सप्ताह बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड के वायदा भाव में करीब चार फीसदी की गिरावट आई, जिसके बाद घरेलू तेल विपणन कंपनियां फिर पेट्रोल और डीजल के दाम में कटौती कर सकती हैं. बाजार विश्लेषक बताते हैं कि अगर अगले सप्ताह से पेट्रोल और डीजल के दाम में फिर कटौती का सिलसिला शुरू होता है तो त्योहारी सीजन में इससे उपभोक्ताओं को बड़ी राहत मिलेगी.

चाकू की नोक पर पेट्रोल पंप से लूटपाट करने वाले शख्स को साढ़े 11 साल की सजा

इंडियन ऑयल की बेवसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम रविवार को लगातार दूसरे दिन पूर्ववत क्रमश: 74.34 रुपये, 77.03 रुपये, 80.00 रुपये और 77.28 रुपये प्रति लीटर बने हुए हैं. चारों महानगरों में डीजल के दाम भी पूर्ववत क्रमश: 67.24 रुपये, 69.66 रुपये, 70.55 रुपये और 71.09 रुपये प्रति लीटर बने हुए हैं.


बता दें कि सितंबर महीने में पेट्रोल के दाम में दो रुपये प्रति लीटर से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई है और डीजल के दाम में भी तकरीबन दो रुपये प्रति लीटर से ज्यादा की वृद्धि हुई है.

दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल 31 अक्टूबर को क्रमश: 72.01 रुपये, 74.71 रुपये, 77.67 रुपये और 74.80 रुपये प्रति लीटर था. चारों महानगरों में डीजल क्रमश: 65.25 रुपये, 67.63 रुपये, 68.41 रुपये और 68.94 रुपये प्रति लीटर था.

पेट्रोल पंपों पर क्रेडिट कार्ड से भुगतान पर अब नहीं मिलेगी कोई छूट, जानें वजह

इसी महीने 14 सितंबर को सऊदी अरब की सरकारी तेल कंपनी सऊदी अरामको के तेल संयंत्रों पर ड्रोन से हुए हमले के बाद अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में 16 सितंबर को अचानक तकबरीन 20 फीसदी के उछाल साथ 71.95 डॉलर प्रति बैरल तक गया था. यह 28 साल बाद आई सबसे बड़ी एक दिनी तेजी थी.

टिप्पणियां

हालांकि, उसके बाद अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव में लगातार गिरावट का दौर जारी रहा है. पिछले सप्ताह के आखिरी कारोबारी सत्र में शुक्रवार को इंटरकांटिनेंटलएक्सचेंज यानी आईसीई पर बेंट क्रूड का नवंबर डिलीवरी अनुबंध 1.37 फीसदी की गिरावट के साथ 61.88 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ, जबकि इससे पिछले सप्ताह के मुकाबले बेंट क्रूड का भाव 2.40 डॉलर प्रति बैरल यानी 3.89 फीसदी टूटा है. पिछले सप्ताह ब्रेंट क्रूड का नवंबर अनुबंध 64.28 डॉलर पर बंद हुआ था.

सऊदी अरामको पर हमले के बाद तेल के दाम में आई जोरदार तेजी के बाद अब तक ब्रेंट क्रूड का भाव आठ डॉलर प्रति बैरल से ज्यादा गिरा है.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement