पेट्रोल की कीमतें 100 पार, जनता में मचा है हाहाकार, खामोश क्यों है सरकार?

Petrol Diesel Prices Today: भारत में पेट्रोल-डीजल (Petrol Diesel Price) और गैस की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ विपक्षी दल कई राज्यों में प्रदर्शन कर रहे हैं.

खास बातें

  • पेट्रोल की कीमतें 100 रुपये पार
  • डीजल भी शतक लगाने को तैयार
  • तेल की कीमतों पर खामोश सरकार?
नई दिल्ली:

भारत में पेट्रोल-डीजल (Petrol Diesel Price) की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ कई राज्यों में प्रदर्शन हो रहे हैं. पिछले 15 दिनों में जिस तरह से पेट्रोल-डीजल और गैस (LPG Price Hike) की कीमतों में लगातार इजाफा हुआ है, उससे जनता बेहाल है. कई राज्यों में पेट्रोल सेंचुरी मार चुका है. राजस्थान और मध्य प्रदेश में पेट्रोल की कीमत 100 रुपये पार हो चुकी है. पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के बाद सवाल उठ रहे हैं कि जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल का दाम मध्यम स्तर पर है तो भारत में तेल की कीमतें (Fuel Price Today) क्यों बढ़ रही हैं.

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के लिए केंद्र सरकार अंतरराष्ट्रीय वजहें गिना रही है और पूर्व की UPA सरकार पर भी निशाना साध रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने हाल ही में कहा था कि मध्यम वर्ग को ऐसी कठिनाई नहीं होती यदि पूर्ववर्ती सरकारों ने ऊर्जा आयात की निर्भरता पर ध्यान दिया होता. वहीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने एक कार्यक्रम में कहा कि ओपेक व सहयोगी देशों के द्वारा उत्पादन में कटौती करने से कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतें काफी बढ़ गई हैं, जिसके कारण देश में ईंधन की खुदरा कीमतें भी बढ़ गई हैं.

तेल की बढ़ती कीमतों पर सोनिया गांधी ने PM मोदी को लिखी चिट्ठी, कहा- घरेलू आय लगातार कम हो रही है और...

कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने आज (रविवार) प्रधानमंत्री मोदी को तेल की बढ़ती कीमतों को लेकर एक पत्र लिखा है. सोनिया गांधी ने लिखा कि केंद्र सरकार ने डीजल पर एक्साइज ड्यूटी को 820 प्रतिशत और पेट्रोल को 258 फीसदी बढ़ाकर पिछले 6.5 साल में 21 लाख करोड़ रुपये से अधिक की कर वसूली की है. ईंधन के दामों पर करों के रूप में की गई इस मुनाफाखोरी का देश के लोगों को कोई लाभ नहीं मिला है. तेल की कीमतें ऐतिहासिक स्तर पर हैं.

MP: पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस का हाफ डे बंद, पूर्व मंत्री समेत कई हिरासत में


तेल की कीमतों पर जनता की भी मिलीजुली राय है. कुछ लोगों को तेल की बढ़ती कीमतों से कोई परेशानी नहीं है. उनका कहना है कि तेल की कीमतें देशहित में बढ़ रही हैं. वहीं कुछ लोगों का कहना है कि वे अभी कोरोना से परेशान हैं, उससे उभरे भी नहीं हैं कि सरकार की ओर से ये बहुत बड़ी मार है लोगों पर. जनता पूरी तरह से त्रस्त हो चुकी है. यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीवी श्रीनिवास ने कहा कि यह लुटेरी सरकार है. सरकार के पास जनता को लूटने के काम के अलावा कोई काम नहीं है. ये सरकार जनता को खत्म करने में लगी है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम : पेट्रोल के दाम पर विपक्ष कहां है या जनता कहां है?