NDTV Khabar

यूपीए के समय 750 लोग बने थे 'इस्लामिक आतंकवाद' के शिकार, अब सिर्फ 4 : पीयूष गोयल

इसके अलावा रेल मंत्री की ओर से मध्य प्रदेश और राजस्थान में रेलवे विभाग की ओर से किये गये कामों की अलग-अलग बुकलेट भी जारी की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
यूपीए के समय 750 लोग बने थे 'इस्लामिक आतंकवाद' के शिकार, अब सिर्फ 4 : पीयूष गोयल

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पीयूष गोयल के बयान के क्या हैं मायने
  2. कांग्रेस क्या देगी इस पर प्रतिक्रिया?
  3. केंद्र में मंत्री हैं पीयूष गोयल
नई दिल्ली: रेल मंत्री मंत्री पीयूष गोयल  ने ट्वीट कर दावा किया है कि  'इस्लामिक आतंकवाद' के विरुद्ध कठोर कार्रवाई से देश में आतंकी घटनाओं में मारे जाने वाले नागरिकों की संख्या में उल्लेखनीय कमी आई है. उन्होंने कहा है कि जहां यूपीए सरकार के शासनकाल में 750 नागरिक आतंकवाद का शिकार बनें, वहीं अब यह संख्या घटकर 4 रह गयी है. गोयल ने ट्विटर पर एक पोस्टर के जरिये आंकड़े भी जारी किये हैं जिसमें नीचे यह भी लिखा है कि इनमें जम्मू-कश्मीर, पंजाब और उत्तर-पूर्वी राज्यों को छोड़ शेष भारत के आंकड़े हैं. 

राहुल गांधी ने गोयल का इस्तीफा मांगा, केंद्रीय मंत्री बोले मैं 'नामदार नहीं कामदार' हूं

टिप्पणियां
 
इसके अलावा रेल मंत्री की ओर से मध्य प्रदेश और राजस्थान में रेलवे विभाग की ओर से किये गये कामों की अलग-अलग बुकलेट भी जारी की है. उन्होंने कहा है, मेरा सभी से आग्रह है कि रेलवे में खाने की व्यवस्था खराब मिलने पर हमें फीडबैक दें, हमें एक्शन लेने के लिये वजह चाहिये. इसलिये जब भी ऐसी कोई समस्या हो तो उसकी शिकायत करें, ताकि हम उस पर एक्शन ले सकें.'

वीडियो : रेलवे को समय की चिंता क्यों नहीं?
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement