NDTV Khabar

पीएम मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात की 10 बड़ी बातें

गुरुवार को पीएम मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से भी मुलाकात की है. इस मुलाकात में बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट पर चर्चा हुई. इसके साथ आर्थिक अपराध करने वाले भगौड़ों के भी मुद्दे पर चर्चा हुई. डोनाल्ड ट्रंप के अलावा जी-20 सम्मेलन के दौरान दुनिया के 10 देशों के नेताओं के साथ पीएम मोदी की मुलाकात हो सकती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात की 10 बड़ी बातें

जापान के ओसाका में हुई पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात

नई दिल्ली: जी-20 शिखर सम्मेलन से अलग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच द्विपक्षीय वार्ता हुई. दोनों नेताओं की मुलाक़ात में चार प्रमुख मुद्दों पर बात हुईं. ईरान, 5जी, द्विपक्षीय संबंध और रक्षा और व्यापार... हालांकि इस मुलाक़ात में रूसी मिसाइल सिस्टम S400 सिस्टम पर बात नहीं हुई. आपको बता दें कि ओसाका आने से पहले ट्रंप ने अमेरिकी उत्पादों पर भारत द्वारा लगाए गए टैरिफ को लेकर नाखुशी जाहिर की थी. इससे पहले मोदी, ट्रंप और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के बीच मुलाकात हुई थी. इन तीनों के बीच लगभग 20 मिनट तक बातचीत हुई थी. इस मौके पर ट्रंप ने पीएम मोदी को लोकसभा चुनावों में जीत के लिए बधाई भी दी. वहीं पीएम मोदी ने जी 20 सम्मेलन में कहा कि आतंकवाद मानवता के लिए सबसे बड़ा खतरा है. रूस के साथ हथियारों की डील और टैरिफ के मुद्दे पर मतभेदों के बीच पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच यह मुलाकात काफी अहम है. वहीं गुरुवार को पीएम मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से भी मुलाकात की है. इस मुलाकात में बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट पर चर्चा हुई. इसके साथ आर्थिक अपराध करने वाले भगौड़ों के भी मुद्दे पर चर्चा हुई. डोनाल्ड ट्रंप के अलावा जी-20 सम्मेलन के दौरान दुनिया के 10 देशों के नेताओं के साथ पीएम मोदी की मुलाकात हो सकती है.
10 बड़ी बातें
  1. पीएम मोदी से मुलाकात के दौरान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, हम एक अच्छे दोस्त बन चुके हैं. मैं आश्वासन दे सकता हूं कि सेना के साथ-साथ हम कई मुद्दों पर साथ काम करेंगे. आज हम व्यापार पर चर्चा करेंगे.' आपको बता दें कि इसी महीने भारत ने अमेरिकी उत्पादों पर 28 फीसदी टैरिफ बढ़ा दिया है. ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि अमेरिकी ने भारत को दिए व्यापार तरजीही दर्जा वापस ले लिया था.  
  2. गुरुवार को किए गए एक ट्वीट में अमेरिकी राष्ट्रपति की ओर से कहा गया था कि भारत की ओर से लगाया गया टैरिफ एकदम अस्वीकार्य है. इसको वापस लेने की मांग की गई थी. ट्रंप की ओर से कहा गया कि वह इस मुद्दे पर पीएम मोदी से मुलाकात करेंगे. 
  3. सरकारी सूत्रों के मुताबिक, कहा जा रहा है कि भारत की ओर से लगाया टैरिफ उतना ज्यादा नहीं है जितना की दूसरे विकासशील देशों ने लगाया है. केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा व्यापारिक समझौते राष्ट्रीय हितों पर हावी नहीं होने देंगे. 
  4. हालांकि इस मुलाकात के दौरान दोनों नेताओं ने भारत का रूस के साथ किए गए   S-400 एयर डिफेंस सिस्टम पर समझौते पर कोई चर्चा नहीं की है. इस डील पर अमेरिका ने चिंता जताई थी. अमेरिकी ने इस डील को तोड़ने का दबाव डाला था.बाद में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि भारत अपने हितों के हिसाब चलेगा.
  5. मुलाकात के दौरान ट्रंप ने पीएम मोदी को चुनाव जीतने पर बधाई दी और कहा कि आप इसके हकदार हैं. अपने सबको साथ लाने का काम किया है. 
  6. ईरान के मुद्दे पर भारत की ओर से बाद में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा गया कि हमारा मुख्य लक्ष्य था कि स्थायित्व को कैसे सुनिश्चित किया जाए. सिर्फ के ऊर्जा के क्षेत्र में ही नहीं खाड़ी देशों में रहने वाले भारतीयों को भी अस्थायित्व प्रभावित कर सकता है.  
  7. इस मुलाकात से पहले पीएम मोदी ने जापान के पीएम शिंजो आबे और ट्रंप से त्रिस्तरीय बातचीत भी की. इसके अलावा पीएम मोदी ने ब्रिक्स नेताओं से भी मुलाकात की. 
  8. गुरुवार को शिंजो आबे के साथ हुई मुलाकात में पीएम मोदी ने दोनों देशों से द्विपक्षीय बातचीत की. 
  9. जापान जाने से पहले पीएम मोदी ने कहा था कि दो दिवसीय ओसाका सम्मेलन भारत में 2022 में होने वाले जी-20 सम्मेलन के लिहाज से काफी अहम है.
  10. आपको बता दें कि जी-20 में यूरोपीय संघ के साथ 19 देश शामिल हैं. 
     



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement