NDTV Khabar

PM मोदी और शी चिनफिंग की दूसरी अनौपचारिक शिखर वार्ता 11-12 अक्टूबर को चेन्नई में होगी

शिखर वार्ता चेन्नई के समीप प्राचीन तटीय शहर मामल्लापुरम में होगी. मंत्रालय ने कहा कि शिखर वार्ता के दौरान दोनों देश भारत-चीन विकास साझेदारी को गहरा करने पर विचार विमर्श करेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग 11 अक्टूबर को भारत आएंगे, जहां प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ उनकी दूसरी अनौपचारिक शिखर वार्ता होगी. विदेश मंत्रालय ने बुधवार को यह घोषणा की. मंत्रालय ने कहा कि ये शिखर वार्ता दोनों नेताओं को द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक महत्व के व्यापक मुद्दों पर बातचीत जारी रखने का अवसर प्रदान करेगी. मंत्रालय ने कहा, ‘प्रधानमंत्री के आमंत्रण पर ‘पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना' के प्रमुख शी चिनफिंग अनौपचारिक शिखर वार्ता के लिए 11 -12 अक्टूबर 2019 को चेन्नई में होंगे.'

शिखर वार्ता चेन्नई के समीप प्राचीन तटीय शहर मामल्लापुरम में होगी. मंत्रालय ने कहा कि शिखर वार्ता के दौरान दोनों देश भारत-चीन विकास साझेदारी को गहरा करने पर विचार विमर्श करेंगे. 

चीन पर US का 'वीज़ा' अटैक: मुस्लिमों के उत्पीड़न का लगाया आरोप, चीनी अधिकारियों के वीजा पर लगाया बैन


वहीं, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के मंगलवार को चीन पहुंचने के बाद और चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग की भारत यात्रा से पहले चीन ने एक महत्वपूर्ण बयान में कहा है कि कश्मीर के मुद्दे का समाधान भारत और पाकिस्तान को आपसी बातचीत से निकालना होगा. चीन ने संयुक्त राष्ट्र और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के अपने हालिया संदर्भों को छोड़ते हुए यह बात कही. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने यहां पत्रकारों के साथ बातचीत में शी की भारत यात्रा के बारे में कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की.

शी चिनफिंग के भारत दौरे से पहले चीन ने कहा-द्विपक्षीय ढंग से हो कश्मीर मुद्दे का समाधान

चीनी अधिकारी ने अनौपचारिक रूप से कहा कि इस बारे में बीजिंग और नई दिल्ली में बुधवार को एक साथ घोषणा की जाएगी. विदेश मंत्रालय ने बुधवार को ‘चीनी नेता की विदेश यात्रा के बारे में' एक विशेष मीडिया वार्ता भी बुलाई है. गेंग ने शी की भारत यात्रा के बारे में एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘भारत और चीन के बीच उच्च-स्तरीय आदान-प्रदान की परंपरा रही है. उच्च-स्तरीय यात्रा को लेकर दोनों पक्षों के बीच संवाद हुआ है. कोई भी नई जानकारी जल्द ही बताई जाएगी.' उन्होंने कहा कि भारत और चीन दुनिया के प्रमुख विकासशील देश हैं और प्रमुख उभरते बाजार हैं.

टिप्पणियां

अपाचे और राफेल से पाकिस्तान के उड़े होश, चीन से मदद मांगने पहुंचे इमरान

VIDEO: अमेरिका-चीन ट्रेड वॉर के बीच भारत को मैन्यूफैक्चरिंग हब बनाने की कवायद में जुटी सरकार



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement