NDTV Khabar

पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के बाढ़ पीड़ितों के लिए 745 करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर के बाढ़ पीड़ितों के लिए 745 करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की

पीएम नरेंद्र मोदी श्रीनगर में जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के साथ

श्रीनगर:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर में आई भयावह बाढ़ से हुई भारी तबाही के मद्देनजर मकानों तथा छह प्रमुख अस्पतालों की मरम्मत के लिए 745 करोड़ रुपये के पैकेज का ऐलान किया है।

दिवाली के मौके पर गुरुवार को श्रीनगर पहुंचे मोदी ने कहा कि बाढ़ में क्षतिग्रस्त हुए मकानों की मरम्मत के लिए केंद्र सरकार की ओर से 570 करोड़ रुपये मुहैया कराया जाएगा तथा राज्य में छह प्रमुख अस्पतालों की मदद के लिए 175 करोड़ रुपये की रकम दी जाएगी।

मोदी ने कहा कि इस अनुदान में अस्पतालों की मरम्मत के साथ ही नए उपकरणों तथा मशीनों की खरीद भी शामिल है। मोदी के दौरे के बारे में केंद्रीय गृह सचिव अनिल गोस्वामी ने कहा कि मोदी ने प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलों के सभी छात्रों की पुस्तकों और पुस्तिकाओं को मुफ्त में बदलने का ऐलान किया है।

गोस्वामी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने जो घोषणा की उसका राज्य सरकार की ओर से सौंपे गए उस ज्ञापन से कोई संबंध नहीं है, जिसमें बाढ़ पीड़ितों के पुनर्वास के लिए 44,000 करोड़ रुपये के पैकेज की मांग की गई है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा ज्ञापन पर गौर करने के बाद उचित धन जारी किया जाएगा।

गृह मंत्रालय की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य में सामान्य स्थिति लाने के लिए सुशासन, बुनियादी ढांचे के त्वरित नवीनीकरण, आर्थिक गतिविधि का पुनरोद्धार तथा पर्यटकों के लिए उचित माहौल पैदा करने की जरूरत है। प्रधानमंत्री न कहा कि दीपावली के मौके पर श्रीनगर के उनके दौरे से यह संकेत जाएगा कि घाटी में सब कुछ ठीक है तथा इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। प्रधानमंत्री यहां सियाचिन से पहुंचे।

उन्होंने कहा कि उन स्कूली बच्चों को सीधी सहायता देने के लिए कहा गया है, जिनके स्कूलों, पुस्तकों और पुस्तिकाओं को बाढ़ के पानी से नुकसान पहुंचा है। इससे पहले मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने मोदी को राहत एवं पुनर्वास कामों की स्थिति के बारे में जानकारी दी तथा केंद्र से भारी-भरकम वित्तीय सहायता की मांग की।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement