PM मोदी का ऐलान- अब डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जाना जाएगा कोलकाता पोर्ट

पीएम मोदी ने कोलकाता बंदरगाह न्यास की स्थापना के 150 वर्ष पूरे होने पर कहा कि देश के तट विकास के प्रवेश द्वार हैं और हमारी सरकार ने संपर्क में सुधार करने के लिए सागरमाला कार्यक्रम की शुरुआत की.

खास बातें

  • पीएम मोदी का पश्चिम बंगाल दौरे का दूसरा दिन
  • कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट के 150 साल पूरे होने पर PM मोदी ने दी बधाई
  • कहा- अब डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जाना जाएगा कोलकाता पोर्ट
कोलकाता:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोलकाता बंदरगाह न्यास का नाम श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर रखा जाएगा. पीएम मोदी ने कोलकाता पोर्ट की स्थापना के 150 वर्ष पूरे होने पर कहा कि देश के तट विकास के प्रवेश द्वार हैं और हमारी सरकार ने संपर्क में सुधार करने के लिए सागरमाला कार्यक्रम की शुरुआत की. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार मानती है कि हमारे तट विकास के द्वार हैं, इसलिए सरकार ने तटों पर कनेक्टिविटी और वहां के इंफ्रास्ट्रक्चर को आधुनिक बनाने के लिए सागरमाला कार्यक्रम शुरू किया. कोलकाता में हो रहे इस कार्यक्रम में सीएम ममता बनर्जी ने दूरी बनाई रखी. जबकि शनिवार को वह पीएम मोदी से मुलाकात करने पहुंची थी और CAA और एनआरसी को लेकर अपनी आपत्ति भी दर्ज करवाई थी. 

CAA नागरिकता देने का कानून, छीनने का नहीं... PM मोदी ने बेलूर मठ में कहीं 10 बड़ी बातें

पीएम मोदी ने कहा, 'आज के इस अवसर पर मैं बाबा साहेब को भी याद करता हूं, उन्हें नमन करता हूं. डॉ. मुखर्जी और बाबा साहेब, दोनों ने स्वतंत्रता के बाद के भारत के लिए नई नीतियां और नया विजन दिया था. डॉ. मुखर्जी की बनाई पहली औद्योगिक नीति में देश के जल संसाधनों के उचित उपयोग पर जोर दिया गया था. बाबा साहेब ने देश की पहली जल संसाधन नीति और श्रमिकों से जुड़े कानूनों को लेकर अपने अनुभवों का उपयोग किया था. देश में नदी घाटी परियोजनाओं, बांधों का, पोर्ट्स का निर्माण तेजी से हो पाया तो इसका बड़ा श्रेय दोनों महान सपूतों को जाता है. 

CAA और NRC के खिलाफ कांग्रेस ने तैयारी की रणनीति, मोदी सरकार को घेरने की तैयारी

इस मौके पर पीएम मोदी ने पश्चिम बंगाल की जनता को भी साधते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल के विकास के लिए केंद्र सरकार की तरफ से हर संभव कोशिश की जा रही है. विशेष तौर पर गरीबों, दलितों, वंचितों, शोषितों और पिछड़ों के विकास के लिए समर्पित भाव से प्रयास किए जा रहे हैं. जैसे ही पश्चिम बंगाल राज्य सरकार आयुष्मान भारत योजना, पीएम किसान सम्मान निधि के लिए स्वीकृति देगी, यहां के लोगों को इन योजनाओं का भी लाभ मिलने लगेगा. उन्होंने कहा कि  कोलकाता पोर्ट के विस्तार और आधुनिकीकरण के लिए आज सैकड़ों करोड़ रुपए के इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया गया है. आदिवासी बेटियों की शिक्षा और कौशल विकास के लिए हॉस्टल और स्किल डेवलपमेंट सेंटर का शिलान्यास हुआ है. 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com