NDTV Khabar

क्‍या अगले साल 26 जनवरी पर अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप होंगे मुख्य अतिथि

भारत ने अगले साल गणतंत्र दिवस परेड के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप को मुख्य अतिथि बनने का न्योता दिया है. हालांकि भारत को अभी इस न्योते पर अमेरिका की आधिकारिक प्रतिक्रिया का इंतज़ार है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्‍या अगले साल 26 जनवरी पर अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप होंगे मुख्य अतिथि

फाइल फोटो

खास बातें

  1. अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप को मुख्य अतिथि बनने का न्योता दिया है.
  2. अभी इस न्योते पर अमेरिका की आधिकारिक प्रतिक्रिया का इंतज़ार है
  3. यह कूटनीतिक स्‍तर पर मोदी सरकार की बड़ी कामयाबी होगी.
नई दिल्ली: भारत ने अगले साल गणतंत्र दिवस परेड के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप को मुख्य अतिथि बनने का न्योता दिया है. एक अंग्रेजी अखबार ने सूत्रों के हवाले से ये ख़बर छापी है,  हालांकि भारत को अभी इस न्योते पर अमेरिका की आधिकारिक प्रतिक्रिया का इंतज़ार है. अगर ट्रंप भारत के इस न्‍योते को स्‍वीकार करते हैं तो यह कूटनीतिक स्‍तर पर मोदी सरकार की बड़ी कामयाबी होगी.  

इस वजह से ट्विटर पर ट्रंप और बराक ओबामा के फॉलोअर में आई कमी

आपको बता दें कि ट्रंप प्रशासन ने इैरान से कच्‍चे तेल का आयात करने वाले देशों को प्रतिबंध की धमकी दी है. मोदी सरकार को उम्मीद है कि अमेरिका भारत को ईरान से संबंध रखने के बावजूद कुछ छूट दे सकता है. वहीं साल 2015 की गणतंत्र दिवस परेड में तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मोदी सरकार के निमंत्रण को स्‍वीकार कर पहले मुख्य अतिथि बने थे. 

लोकसभा चुनाव 2019 : सीताराम येचुरी का बयान, बीजेपी के खिलाफ विपक्ष के मोर्चे का नाम तय

टिप्पणियां
गौरतलब है कि भारत के 69वें गणतंत्र दिवस में आसियान के 10 देशों के नेताओं और शासनाध्यक्षों ने मुख्य अतिथि के रूप में हिस्सा लिया था. इसमें आसियान देशों के नेताओं एवं राष्ट्राध्यक्षों में ब्रूनेई के सुल्‍तान हाजी-हसनल-बोल्किया मुइज्‍जाद्दीन वदाउल्‍लाह, इंडोनेशिया के राष्‍ट्रपति जोको विदोदो, फिलीपीन के राष्‍ट्रपति रोड्रिगो रोआ डूतरेत, कंबोडिया के प्रधानमंत्री हुन सेन, सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सिएन लूंग, मलेशिया के प्रधानमंत्री दातो स्री मोहम्‍मद नजीब बिन तुन अब्‍दुल रज़ाक, थाईलैंड के प्रधानमंत्री जनरल प्रयुत छान-ओ-चा, म्‍यांमार की स्‍टेट काउंसलर आंग सांग सू ची, वियतनाम के प्रधानमंत्री नग्‍युएन जुआन फूक और लाओ पीडीआर के प्रधानमंत्री थोंगलोंन सिसोलिथ शामिल हुए थे. 

VIDEO: पीएम मोदी ने कहा, 70 सालों में किसानों की अनदेखी, सिर्फ एक ही परिवार की चिंता
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement