बंगाल में तेज होगी सियासी सरगर्मी, नेताजी की जयंती पर कोलकाता में 'आमने-सामने' होंगे PM, ममता बनर्जी

West Bengal Election: नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज कोलकाता में अलग-अलग कार्यक्रम करेंगे.

कोलकता:

नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Netaji Subhas Chandra Bose) की 125वीं जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banerjee) आज कोलकाता में अलग-अलग कार्यक्रम करेंगे. पीएम मोदी कोलकाता आने से पहले असम जाएंगे. प्रधानमंत्री कोलकाता में पराक्रम दिवस पर आयोजित कार्यक्रमों में शिकरत करेंगे. नेताजी की जयंती के कार्यक्रमों को लेकर सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के बीच सियासी लड़ाई जारी है. 

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कोलकाता में 6 किलोमीटर लंबे मार्च की अगुवाई करेंगी, जो श्याम बाजार से रेड रोड तक जाएगा. वहीं, प्रधानमंत्री मोदी विक्टोरिया मेमोरियल में सुभाष चंद्र बोस पर एक स्थायी प्रदर्शनी का उद्घाटन करेंगे. बंगाल में अगले कुछ महीनों बाद विधानसभा चुनाव होने हैं. बीजेपी, तृणमूल कांग्रेस को सत्ता से हटाना चाहती है.

प्रधानमंत्री मोदी कोलकाता पहुंचने के बाद नेताजी भवन का दौरा करेंगे. करीब 3.45 बजे वह नेशनल लाइब्रेरी में कलाकारों के साथ संवाद करेंगे. इसके बाद वह नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती के अवसर पर कोलकाता के विक्टोरिया मेमोरियल में पराक्रम दिवस कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे. 

देश के प्रति नेताजी सुभाष चंद्र बोस की अदम्य भावना और निस्वार्थ सेवा का सम्मान करने और उन्हें याद करने के लिए सरकार ने देश की जनता विशेषकर युवाओं को प्रेरणा देने के लिए, हर साल 23 जनवरी को 'पराक्रम दिवस' के रूप में मनाने का फैसला किया है.


प्रधानमंत्री मोदी ने नेताजी की जयंती पर शनिवार को उनका नमन किया. पीएम मोदी ने ट्वीट में कहा, "महान स्वतंत्रता सेनानी और भारत माता के सच्चे सपूत नेताजी सुभाष चंद्र बोस को उनकी जन्म-जयंती पर शत-शत नमन. कृतज्ञ राष्ट्र देश की आजादी के लिए उनके त्याग और समर्पण को सदा याद रखेगा."

वीडियो: चंद्र कुमार बोस ने CAA पर पीएम और गृह मंत्री से की स्पष्टीकरण की अपील

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com