NDTV Khabar

भारत छोड़ो आंदोलन के 75 वर्ष: पीएम मोदी ने अपने भाषण में पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का नहीं किया जिक्र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल पूरे होने के मौके पर लोकसभा में बुलाए गए विशेष सत्र के दौरान कई मुद्दों पर अपने विचार रखे.

79 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत छोड़ो आंदोलन के 75 वर्ष: पीएम मोदी ने अपने भाषण में पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का नहीं किया जिक्र

पीएम नरेंद्र मोदी ने गरीबी और भ्रष्टाचार मुक्त भारत के निर्माण का आह्वान किया...

खास बातें

  1. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई मुद्दों पर अपने विचार रखे
  2. मोदी ने कई स्वतंत्रता सेनानियों की भूमिकाओं को याद किया
  3. सवाल किया - ग्राम स्वराज का सपना कितना पीछे छूट गया है?
नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल पूरे होने के मौके पर लोकसभा में बुलाए गए विशेष सत्र के दौरान कई मुद्दों पर अपने विचार रखे. करीब 40 मिनट के भाषण में मोदी ने भारत की आजादी में महात्मा गांधी, सरदार वल्लभ भाई पटेल, लाला बहादुर शास्त्री, चंद्रशेखर आजाद, सुखदेव, जयप्रकाश नारायण और अन्य स्वतंत्रता सेनानियों की भूमिकाओं को याद किया. लेकिन गौर करने वाली बात यह है कि उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का जिक्र नहीं किया. प्रधानमंत्री ने कहा, "सदैव अहिंसा का प्रचार करने वाले महात्मा गांधी ने जब 'करो या मरो' का आह्वान किया तो यह देश के लिए आश्चर्यजनक था."

महात्मा गांधी जी ने ग्राम स्वराज का सपना कितना पीछे छूट गया है. क्या कारण है कि लोग गांवों को छोड़कर शहरों की ओर बस रहे हैं? गांव की उस चिंता को तथ गांधी जी के मन में जो गांव था, क्या हम अपने भीतर उनको पुनजीर्वित कर सकते हैं? गांव, गरीब, किसान, दलित, शोषित, वंचितों के जीवन के लिए अगर हम कुछ कर सकते हैं तो हमें मिलकर करना है.

पढ़ें: भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल: PM मोदी बोले, गलतियां हमारे व्‍यवहार का हिस्‍सा बन चुकी हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल पूरे होने के मौके पर 2022 तक गरीबी और भ्रष्टाचार मुक्त भारत के निर्माण का बुधवार को आह्वान किया.उन्होंने कहा कि मौजूदा दुनिया में भारत एक प्रेरणा के रूप में उभर सकता है.

पढ़ें: संसद में पीएम मोदी की जुबां पर आई एक कविता, जानें उसे रचने वाले के बारे में..

उन्होंने कहा, "2017 से 2022, जब देश भारत छोड़ो आंदोलन के 75 साल साल पूरे करता है तो हमें वैसी ही भावना के साथ काम करने की जरूरत है, जो 1942 से 1947 के बीच में मौजूद थी." मोदी ने लोगों से लैंगिक समानता सुनिश्चित करने के के साथ ही भ्रष्टाचार, गरीबी, कुपोषण और निरक्षरता खत्म करने का संकल्प लेने का आग्रह किया.

VIDEO : हमारा मंत्र है - करेंगे, और करके रहेंगे : संसद में पीएम नरेंद्र मोदी

मोदी के मुताबिक, "हमें इस संबंध में सकारात्मक बदलाव लाने की जरूरत है. हमारे देश से भ्रष्टाचार को निकाल बाहर करने के लिए आज उसी तरह के आह्वान (जैसा महात्मा गांधी ने 1942 में किया) और दृढ़ संकल्प की आवश्यकता है." (इनपुट आईएएनएस से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement