NDTV Khabar

जामिया-AMU में हिंसा के बाद बोले PM मोदी- CAA के विरोध में हो रहे हिंसक प्रदर्शन दुर्भाग्यपूर्ण

पीएम मोदी ने कहा, 'नागरिकता संशोधन कानून, 2019 को संसद के दोनों सदनों से शानदार समर्थन मिला... बड़ी तादाद में सांसदों तथा राजनातिक दलों ने इसे पारित करना में साथ दिया... यह कानून भारत की सदियों पुरानी स्वीकार्यता, सद्भाव, प्रेम तथा भाईचारे की संस्कृति का प्रतीक है..."

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जामिया-AMU में हिंसा के बाद बोले PM मोदी- CAA के विरोध में हो रहे हिंसक प्रदर्शन दुर्भाग्यपूर्ण

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.(फाइल तस्वीर)

नई दिल्ली:

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश के विभिन्न भागों में हो रहे विरोध प्रदर्शनों पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, 'नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हिंसक विरोध प्रदर्शन दुर्भाग्यपूर्ण हैं, और बेहद विक्षुब्ध करने वाले हैं...' उन्होंने लिखा, "चर्चा, विचार-विमर्श तथा असहमति लोकतंत्र का अभिन्न अंग होते हैं, लेकिन सार्वजनिक संपत्ति को क्षतिग्रस्त किया जाना तथा सामान्य जनजीवन को बाधित करना हमारी प्रकृति का हिस्सा कभी नहीं रहा है..."

साथ ही पीएम मोदी ने कहा, 'नागरिकता संशोधन कानून, 2019 को संसद के दोनों सदनों से शानदार समर्थन मिला... बड़ी तादाद में सांसदों तथा राजनातिक दलों ने इसे पारित करना में साथ दिया... यह कानून भारत की सदियों पुरानी स्वीकार्यता, सद्भाव, प्रेम तथा भाईचारे की संस्कृति का प्रतीक है..."

रवीश कुमार का ब्लॉग: अर्थव्यवस्था ICU में, छात्र ICU में, नौजवान ICU में, मौज तो बस आई टी सेल की है


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिखा, "मैं बेहद स्पष्ट रूप से सभी भारतीयों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि CAA से किसी भी धर्म को मानने वाला भारत का कोई भी नागरिक प्रभावित नहीं होगा... इस कानून को लेकर किसी भी भारतीय को चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है... "यह कानून सिर्फ उनके लिए हैं, जिन्होंने बरसों तक बाहर अत्याचार बर्दाश्त किया है, और जिनके पास जाने के लिए भारत के अलावा कोई जगह नहीं है..."

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में उतरे डीयू के छात्र, परीक्षाओं का किया बॉयकॉट

टिप्पणियां

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक के बाद एक किए ट्वीट में कहा, "वक्त की ज़रूरत है कि हम सब मिलकर भारत के विकास तथा प्रत्येक भारतीय, विशेष रूप से गरीब, कुचले तथा हाशिये पर मौजूद लोगों, के सशक्तीकरण के लिए काम करें... हम निहित स्वार्थ वाले गुटों को खुद को बांटने और तनाव पैदा करने की इजाज़त नहीं दे सकते..."

VIDEO: जामिया और AMU के बाद अब लखनऊ की यूनिवर्सिटी में भी पुलिस-छात्रों में भिड़ंत



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... कौन हैं मधुरिमा तुली? जो Bigg Boss 13 में विशाल को पतीले से पीटती आ रही हैं नज़र

Advertisement