NDTV Khabar

हमारी न गति रुकेगी न प्रगति, पूरा देश जवानों के साथ, चुनाव अपने रंग में दिखेगा: पीएम मोदी

पीएम मोदी (PM Modi) ने आज मेरा बूथ, सबसे मजबूत (Mera Booth Sabse Mazboot) कार्यक्रम की शुरुआत की. बीजेपी का दावा है कि यह दुनिया की अब तक की सबसे बड़ी वीडियो कॉन्फ्रेंस है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

विपक्ष की तीखी आलोचनाओं के बीच बीजेपी के मेरा बूथ, सबसे मजबूत कार्यक्रम की शुरुआत हुई. पीएम नरेंद्र मोदी एक करोड़ से ज्यादा बीजेपी कार्यकर्ताओं, वालंटियरों अन्य विशिष्ट नागरिकों से वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिए बातचीत की.बीजेपी का दावा है कि यह दुनिया की अब तक की सबसे बड़ी वीडियो कॉन्फ्रेंस होगी. कार्यक्रम में पीएम मोदी (PM Modi)  ने अपने कार्यकर्ताओं से कहा कि ‘भारत के मन की बात' के अंतर्गत प्रत्येक देशवासी अपने मन की बात सीधे मुझ तक पहुंचा सकता है.आप सुनिश्चित करें कि आप के बूथ के ज्यादा से ज्यादा लोग अपने सुझाव दें. इससे हमारा 2019 का संकल्प पत्र सही मायने में जनता का संकल्प पत्र बन जाएगा. 

विपक्ष की आलोचनाओं के बीच पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए किया महासंवाद


मेरी बीजेपी के प्रत्येक कार्यकर्ता से अपील है कि वह राष्ट्र निर्माण के काम में और मेहनत और तेजी से काम करें. उन्होंने कहा कि इस समय देश की भावनाएं एक अलग स्तर पर हैं. देश का वीर जवान सीमा पर और सीमा के पार भी अपना पराक्रम दिखा रहा है. पूरा देश एक है और हमारे जवानों के साथ खड़ा है. दुनिया हमारी इच्छा शक्ति को देख रही है. पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि बीजेपी के कार्यकर्ताओं से आह्वाहन किया, आओ मिलकर प्रगति के पथ पर चलें. मैं वैभवशाली भारत की तस्वीर को देख पा रहा हूं. इस बार चुनाव अपने पूरे रंग में दिखाई देगा. हेल्दी लोकतंत्र में सत्ता और विपक्ष के बीच स्वस्थ प्रतियोगिता देखने को मिल रही है. 

हम विंग कमांडर की वापसी का इंतजार कर रहे हैं और पीएम प्रचार नहीं बंद नहीं कर रहे: कांग्रेस

उन्होंने कहा कि देश का अभूतपूर्व विश्वास ही हमारी पूंजी है, दोस्तों भारत आज एक ऐसे पड़ाव पर है. जहां से एक पहले से मजबूत भारत हमें दिखाई दे रहा है. और इसके लिए कोटि कोटि जनों के संवाद और भागीदारी की जरूरत है. परीक्षा पढ़ने में कितना भी मेधावी क्यों न हो, उसे परीक्षा के आखिरी दिनों में ताकत झौंकनी ही पड़ती है. हमारे बूथ कार्यकर्ता हमारे नायक हैं. अगर वो प्रयास करेंगे तो नए राष्ट्र के निर्माण के काम में हम सब कामयाब हो जाएंगे. त्रिपुरा की कार्यकर्ता द्वारा पूछे गए सवाल पर पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा 2 मार्च को पूरे भारत में विजय संकल्प रैली निकाली जाएगी. युवाओं को इसमें शामिल होने की जरूरत है. प्रत्येक बूथ कार्यकर्ताओं को एक जिम्मेदारी देता हूं. कि हर बूथ का कार्यकर्ता 10 परिवारों के साथ कनिष्ठ संबंध बनाएगा. उन्हें सरकार के कामों की जानकारी पहुंचाएंगे. वोटर्स को बूथ तक लेकर आएंगे. 

हमारी पार्टी को असली बल, कार्यकर्ताओं से मिलता है. यहां कार्यकर्ता फैसले लेता है और इसीलिए मेरे जैसा एक कार्यकर्ता प्रधानमंत्री बनकर देश की सेवा कर सकता है. यहां इससे फर्क नहीं पड़ता है कि एक परिवार क्या चाहता है या एक शख्स क्या चाहता है. लोकतंत्र बीजेपी के डीएनए में बसा है. बीजेपी के प्रधानमंत्री साधारण परिवारों से हुए हैं. लोगों को बीजेपी के साथ जोड़ने का काम करें. 

एक कार्यकर्ता के सवाल पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि मीडिया को कोसने के बजाय हमें अपनी नीतियों में काम करना है. विपक्षी पार्टियां कहती थी कि भाजपा दक्षिण भारत में नहीं आ सकती है लेकिन हमनें दक्षिण में भी चुनाव जीतकर दिखाए और बड़ी संख्या में सीटें हासिल की. आगामी चुनावों में हम अपनी जीत के लिए सुनिश्चित है. कर्नाटक में सरकार काम नहीं करती बल्कि पोर्टफोलियों के लिए लड़ाई लड़ती है. हमारी सरकार को लोग याद करते हैं. तमिलनाडु में हमारा बड़ा जनाधार तैयार हो चुका है. आगामी चुनावी में बीजेपी को बहुत बड़ी जीत मिलने वाली है. केरल में लोगों को बीजेपी से ही उम्मीद है. वहां के प्रबुद्ध लोग हमारे साथ जुड़ चुके हैं. 

आंध्र में बीजेपी और सहयोगियों के प्रति लोगों का विश्वास बढ़ा है. वहां की सरकारों से लोगों का विश्वास उठ रहा है. पश्चिम बंगाल के कार्यकर्ताओं को हम अभिनंदन करते हैं. जिस प्रकार से आप मुसीबते झेलकर लोकतंत्र की जीत के लिए काम कर रहे हैं. देश जानेंगे तो हमारा सिर झुकेगा. 

झारखंड के एक कार्यकर्ता के सवाल का जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस अपने अस्तित्व को बचाने के लिए छोटी-छोटी पार्टियों के साथ अपनी गुंजाइश ढूंढ रही है. ये सारी कवायद बीजेपी को हराने के लिए नहीं हो रही बल्कि कांग्रेस को जिंदा रखने की कोशिश की जा रही है. जो लोग आंख मिलाकर बात नहीं करते थे आज कंधे से कंधे मिलाकर चल रहे हैं. याद किजिए, सपा ने मायावती जी के साथ क्या किया था. वामपंथ ने ममता बनर्जी के साथ क्या किया था, शरद पवार कांग्रेस से क्यों अलग हुए थे. और देवगौड़ा जी को कांग्रेस ने कैसे अपमानित किया था. आप लोग याद रखें कि तेल और पानी कभी मिल नहीं सकते हैं. इस गठबंधन की तस्वीर टीवी स्क्रीन पर तो दिखाई दे सकती है लेकिन लोगों के दिलों पर जगह नहीं बना पाएंगे. 

टिप्पणियां

सोशल मीडिया एक डेमोक्रेटिक मीडिया है. इसमें हर व्यक्ति को अपनी बात कहने का अवसर मिलता है, उसका भी उतना ही महत्व है जितना एक बड़े आदमी का. सोशल मीडिया ने सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में व्यापक असर डाला है. सोशल मीडिया के जरिए हमारी सरकार ने लोगों की मदद की है. फिर चाहे वीजा का मामला हो या ट्रेन का. मैं सोशल मीडिया के अपने लाखों वॉलिंटियर्स से कहना चाहूंगा. देश में करोड़ों लाभार्थी हैं, बीजेपी क्या उन लोगों के छोटे-छोटे वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर शेयर करें. बीजेपी के सोशल मीडिया वॉलिटिंयर से मेरा अनुरोध है कि वह फर्जी खबरों से बचें. उन्हें शेयर करने के बजाय डिलीज करें. विपक्ष इन दिनों फर्जी खबरों को शेयर करने में एक्सपर्ट हो चुका है. 

Video: बीजेपी का मेरा बूथ, सबसे मजबूत कार्यक्रम सवालों के घेरे में



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement