जवानों के सामने PM ने रामधारी सिंह दिनकर की जोशीली पंक्तियों का किया जिक्र, कहा- 'जिनके सिंहनाद से...'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुकवार को लद्दाख की यात्रा पर पहुंचे, जहां उन्होंने जवानों से मिलकर उनकी हौसलाअफजाई की. पीएम ने यहां पर एक बड़े से मैदान में बैठे जवानों को संबोधित किया. उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत राष्ट्रकवि रामधारी सिंह 'दिनकर' की पंक्तियों से की.

लेह :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुकवार को लद्दाख की यात्रा पर पहुंचे, जहां उन्होंने जवानों से मिलकर उनकी हौसलाअफजाई की. पीएम ने यहां पर एक बड़े से मैदान में बैठे जवानों को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि 'भारतीय जवानों ने अपने अंदर की आग और गुस्सा दिखा दिया है. आपके पुरुषार्थ और साहस से ही आत्मनिर्भर भारत मजबूत है.' पीएम ने अपने भाषण की शुरुआत भी जवानों के लिए जोशीली पंक्तियों से कीं. उन्होंने इस मौके पर राष्ट्रकवि रामधारी सिंह 'दिनकर' की पंक्तियां याद करते हुए कहा, 'राष्ट्र कवि रामधारी सिंह दिनकर जी ने लिखा था..

जिनके सिंहनाद से सहमी, 
धरती रही अभी,
धरती रही अभी तक डोल,
कलम आज उनकी जय बोल.....

मैं आज अपनी वाणी से आपकी जय बोलता हूं...'

पीएम ने यहां पर गलवान घाटी की हिंसक झड़प में जान गंवाने वाले जवानों को श्रद्धांजलि दी. उन्होंने कहा, 'मैं गलवान घाटी में शहीद हुए सैनिकों को आज पुनः श्रद्धांजलि देता हूं. उनके पराक्रम, उनके सिंहनाद से धरती अब भी, उनका जयकारा कर रही है. आज हर देशवासी का सिर, आपके सामने आदरपूर्वक नमन करता है. आज हर भारतीय की छाती आपकी वीरता और पराक्रम से फूली हुई है.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पीएम ने कहा, '14 कोर की जांबाजी के किस्से हर तरफ है. दुनिया ने आपका अदम्य साहस देखा है. आपकी शौर्य गाथाएं घर-घर में गूंज रही है. भारत के दुश्मनों ने आपकी फायर भी देखी है और आपकी फ्यूरी भी. आज लद्दाख के लोग हर स्तर पर चाहे वो सेना हो या सामान्य नागरिक के कर्तव्य हों, राष्ट्र को सशक्त करने के लिए अद्भुत योगदान दे रहें हैं.' पीएम ने जवानों से कहा, 'जिन कठिन परिस्थितियों में जिस ऊंचाई पर आप मां भारती की ढाल बनकर उसकी रक्षा, उसकी सेवा करते हैं, उसका मुकाबला पूरे विश्व में कोई नहीं कर सकता है. आपका साहस उस ऊंचाई से भी ऊंचा है, जहां, आप तैनात हैं. आपका निश्चय, उस घाटी से भी सख्त है, जिसको आप रोज अपने कदमों से नापते हैं.'

बता दें कि पीएम मोदी शुक्रवार की सुबह-सुबह लद्दाख पहुंचे थे. PMO के बयान के मुताबिक, वो नीमू इलाके की एक फॉरवर्ड लोकेशन पर पहुंचे थे, जो समुद्री तल से 11,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है. पीएम ने यहां पर सेना के अधिकारियों से बातचीत करके हालात का जायजा लिया. साथ ही उन्होंने सेना, वायुसेना और आईटीबीपी के जवानों से मुलाकात भी की. वो गलवान घाटी में घायल हुए जवानों से भी अस्पताल में जाकर मिले.