इस्राइल के PM ने Friendship Day पर कहा- 'ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे' तो PM मोदी ने किया यह Tweet...

फ्रेंडशिप डे (Friendship Day) पर बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) ने पीएम मोदी (PM Modi) को हिन्दी में ट्वीट कर विश किया. जवाब में पीएम मोदी ने भी हिब्रू भाषा में ट्वीट कर नेतन्याहू को बधाई दी.

इस्राइल के PM ने Friendship Day पर कहा- 'ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे' तो PM मोदी ने किया यह Tweet...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ इस्राइल के PM बेंजामिन नेतन्याहू. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारत और इस्राइल की दोस्ती नई नहीं है. समय बीतने के साथ-साथ यह दोस्ती और मजबूत जरूर हो रही है. इसका एक उदाहरण तब दिखा जब इस्राइल में चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) की लिकुड पार्टी ने मतदाताओं को रिझाने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की तस्वीर के साथ बैनर लगाए थे. इसके बाद अब बेंजामिन नेतन्याहू ने फ्रेंडशिप डे (Friendship Day) के मौके पर पीएम मोदी (PM Modi) को विश भी किया. इसके जवाब में पीएम मोदी ने भी ट्वीट कर इस्राइली प्रधानमंत्री को बधाई दी. पीएम मोदी ने हिब्रू भाषा में किए ट्वीट में लिखा, 'फ्रेंडशिप डे की बधाई के लिए मेरे अच्छे दोस्त बेंजामिन नेतन्याहू और इस्राइल के लोगों का धन्यवाद और मेरी तरफ से भी बधाई. इस्राइल और भारत भरोसेमंद मित्र हैं. हमारे देशों के बीच की मित्रता आने वाले समय में और भी अधिक समृद्ध हो. 

इससे पहले इस्राइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) ने हिन्दी फिल्म शोले के गाने 'ये दोस्ती हम नहीं छोड़ेंगे...' की लाइन को अपने ट्वीट में शामिल करते हुए लिखा था कि 'मैं भगवान से कामना करता हूं कि हमारी दोस्ती नई ऊंचाइयां छूए. ऐसा माना जा रहा है कि इस्राइल के पीएम का यह ट्वीट दोनों देशों के बीच के संबंध को और मजबूती देगा. 

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही मध्यावधि चुनाव को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) की लिकुड पार्टी ने मतदाताओं को रिझाने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi), अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) तथा रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ अपनी तस्वीर वाले बैनर लगाए थे. तेल अवीव में लिकुड पार्टी का मुख्यालय चुनाव प्रचार के बैनरों से अटा पड़ा था, जिसमें नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) की विश्व के तीन नेताओं के साथ नजदीकियों को दिखाया गया था.

f1r2d6o

नेतन्याहू का प्रचार विश्व के नेताओं के साथ उनके करीबी तालमेल को प्रदर्शित करने की कोशिश है. प्रचार अभियान में यह कोशिश की जा रही है नेतन्याहू को इजराइल की राजनीति में एक ऐसे नेता के तौर पर पेश किया जाए, जिसका कोई जोड़ा न हो.इजराइली प्रधानमंत्री नौ सितंबर को एक दिन की यात्रा पर भारत जाएंगे, जहां वह मोदी से मुलाकात करेंगे. उनकी यह यात्रा मध्यावधि चुनाव से ठीक आठ दिन पहले होगी. कुछ राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि नई दिल्ली की उनकी यात्रा की तस्वीरों से यह दिखाने की कोशिश होगी कि उनकी विश्व भर में स्वीकार्यता है और इससे मतदान से कुछ दिन पहले उनके प्रचार अभियान को गति भी मिलेगी.

अफगानिस्तान में उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के कार्यालय पर हमला, धमाके में दो लोगों की मौत

वहीं, इससे पहले लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) में जीत के बाद पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के करीबी दोस्त कहे जाने वाले इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजमिन नेतन्याहू ने पहले इजराइली भाषा में ट्वीट किया था और फिर थोड़ी देर बाद हिंदी में भी ट्वीट किया. उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी को लोकसभा चुनाव में जीत के बाद बेहद शानदार तरीके से बधाई दी थी. 

इस्राइली पीएम बेंजमिन नेतन्याहू ने हिंदी में ट्वीट करके लिखा था कि मेरे दोस्त नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) आपके प्रभावशाली चुनावी जीत पर हार्दिक बधाई! ये चुनावी नतीजे एक बार फिर दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र में आपके नेतृत्व को साबित करते हैं. हम साथ मिलकर भारत और इजराइल के बीच घनिष्ट मित्रता को मजबूत करना जारी रखेंगे. बहुत बढ़िया, मेरे दोस्त...'' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: भारत-इस्राइल दोस्ती के मायने