टाइम मैगजीन पर खुद को 'डिवाइडर इन चीफ' बताए जाने पर पहली बार पीएम मोदी ने दिया जवाब

लोकसभा चुनाव 2019: टाइम मैगजीन की कवर स्टोरी में पीएम मोदी को 'डिवाइडर इन चीफ' लिखे जाने का मामला अब गरमाता जा रहा है.

टाइम मैगजीन पर खुद को 'डिवाइडर इन चीफ' बताए जाने पर पहली बार पीएम मोदी ने दिया जवाब

खास बातें

  • पीएम मोदी ने टाइम मैगजीन पर खुद की स्टोरी के बारे में दिया बयान
  • कहा- आर्टिकल का लेखक पाकिस्तानी. उसकी विश्वसनीयता बताने के लिए यह काफी
  • 'लेखक पाकिस्तान के राजनीतिक परिवार से आता है'
नई दिल्ली:

टाइम मैगजीन की कवर स्टोरी में पीएम मोदी (Narendra Modi) को 'डिवाइडर इन चीफ' लिखे जाने का मामला अब गरमाता जा रहा है. पीएम मोदी ने शुक्रवार को इस मामले पर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा, 'टाइम मैगजीन विदेशी है, लेखक खुद कह चुका है कि वह पाकिस्तान के एक राजनीतिक परिवार से आता है. यह उसकी विश्वसनीयता बताने के लिए काफी है.' गौरतलब है कि टाइम मैगजीन पर पीएम मोदी की 'डिवाइडर इन चीफ' वाली कवर स्टोरी आतिश ताशीर ने की थी जिसमें कहा गया था कि दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र पहले से काफी बंट गया है. इस लेख में आतिश ने मॉब लिंचिंग, योगी आदित्यनाथ को यूपी का सीएम बनाना और मालेगांव ब्लास्ट केस में साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की भूमिका का जिक्र किया था.

ये भी पढ़ें: थम गया अंतिम चरण के मतदान के लिए चुनाव प्रचार, पीएम मोदी समेत इन दिग्गजों की किस्मत लगी दांव पर

इसी कवर स्टोरी में विपक्ष की भी आलोचना की गई थी और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को ऐसे साधारण व्यक्ति के रूप में दर्शाया गया था जिसे सिखाया नहीं जा सकता. टाइम मैगजीन पीएम मोदी पर पहले भी एक स्टोरी कर चुकी है जिसका टाइटल था..'मोदी इज इंडियाज बेस्ट होप फॉर इकोनॉमिक रिफॉर्म'

2015 की कवर स्टोरी में टाइम ने बताया था 'वाई मोदी मैटर्स.' हालांकि हालही में हुए वाकये पर बीजेपी ने कहा था कि यह टाइम मैगजीन द्वारा पीएम मोदी की छवि को धूमिल करने का प्रयास है. बीजेपी ने यह भी कहा था कि इस स्टोरी के लेखक आतिश तासीर, पूर्व पाकिस्तानी नेता सलमान तासीर और पत्रकार तलवीन सिंह के बेटे हैं जिनका एजेंडा पाकिस्तानी है. 

ये भी पढ़ें: पांच साल में पहली बार मीडिया के सामने आए पीएम मोदी, रखी अपनी बात लेकिन... 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने इस मसले पर कहा था, 'लेखक पाकिस्तानी है और पाकिस्तान से इससे बेहतर अपेक्षा नहीं की जा सकती.'

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी से पूछे कई सवाल