NDTV Khabar

फ्रांस के साथ संयुक्त वार्ता में बोले पीएम मोदी- चुनौतियों से लड़ने में हम कंधे से कंधा मिलाकर साथ चलने वाले देश हैं

आज मुझे प्रसन्नता है कि भारत की धरती पर मुझे आपका स्वागत करने का मौका मिला.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
फ्रांस के साथ संयुक्त वार्ता में बोले पीएम मोदी- चुनौतियों से लड़ने में हम कंधे से कंधा मिलाकर साथ चलने वाले देश हैं

पीएम मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति

नई दिल्ली:

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों चार दिवसीय भारत दौरे पर हैं. फ्रांस के राष्ट्रपति के साथ आज संयुक्त वार्ता के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि मैं राष्ट्रपति मैक्रों और उनके प्रतिनिधि मंडल का स्वागत करता हूं. पिछले साल आपने पेरिस में गर्मजोशी से मेरा स्वागत किया था. आज मुझे प्रसन्नता है कि भारत की धरती पर मुझे आपका स्वागत करने का मौका मिला.

पीएम मोदी ने फ्रांस और भारत के रिश्तों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हम दो विविधतापूर्ण देशों के नेता ही नहीं हैं, बल्कि हम दो समृद्ध विरासतों के उत्तराधिकारी वाले नेता भी हैं. उन्होंने कहा कि 18वीं सदी से लकर आज तक पंचतंत्र की कहानियों के जरिये, वेद के जरिये, फ्रांसिसी विचारकों ने भारत की आत्मा में घुसकर देखा. फ्रांस के कई विचारकों ने भारत को सराहा है. फ्रांस के विचारकों का भारत से गहरा नाता रहा है. उन्होंने कहा कि द्वितीय विश्व युद्ध में हमारे जवानों ने बलिदानी दी थी. 

पीएम मोदी ने कहा कि हमारी यह मुलाकात दो नेताओं की मुलाकात नहीं, बल्कि दो सभ्यताओं का संगम है. आज वैश्विक चुनौतियों से लड़ने के लिए अगर दुनिया का कोई दो देश कंधे से कंधा मिलाकर चल सकता है तो वह हम दो देश ही हैं. '


उन्होंने कहा कि हमारे सेनाओं के सभी अंगों के बीच नियमित रूप से संयुक्त अभ्यास होता है. रक्षा क्षेत्र में फ्रांस के मेक इन इंडिया के सहयोगा का स्वागत करता हूं. रक्षा क्षेत्र में फ्रांस हमारा बहुत बड़ा सहयोगी है. हम दोनों देश चाहते हैं कि हमारे युवा एक-दूसरे के देश को जानें और समझें. इसलिए इस दिशा में हमने दो समझौतों पर हस्ताक्षर किया है. 

टिप्पणियां

उन्होंने कहा कि हम मानते हैं हमारे द्विपक्षीय संबंध के उज्ज्वल भविष्य के लिए सबसे महत्वपूर्ण आयाम पीपल टू पीपल संबंध हैं. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी-इमैनुअल मैक्रों की वार्ता के बाद भारत और फ्रांस ने सुरक्षा, परमाणु ऊर्जा सहितअन्य क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा देने वाले14 समझौते किये.

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement