Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

PM मोदी ने आतंकवाद और विकास के मुद्दे पर की बात, ब्रिक्स देशों के बैठक में 10 खास बातें

प्रधानमंत्री मोदी जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिये ओसाका पहुंचे हैं. उन्होंने ब्राजील का राष्ट्रपति चुने जाने पर जेयर बोल्सोनारो को बधाई दी और ब्रिक्स परिवार में उनका स्वागत किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
PM मोदी ने आतंकवाद और विकास के मुद्दे पर की बात, ब्रिक्स देशों के बैठक में 10 खास बातें

ब्रिक्स देशों के नेता

नई दिल्ली:

  1. पीएम मोदी ने कहा, आतंकवाद मानवता के लिये सबसे बड़ा खतरा है. यह सिर्फ निर्दोषों की ही हत्या नहीं करता बल्कि आर्थिक विकास और सामाजिक स्थिरता को भी बुरी तरह प्रभावित करता है. 
  2. अपनी टिप्पणी में पीएम मोदी ने विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) को मजबूत बनाने, संरक्षणवाद से लड़ने, ऊर्जा सुरक्षा सुनिश्चित करने और साथ मिलकर आतंकवाद से लड़ने की जरूरत पर बल दिया.
  3. पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यह मुलाकात इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि ट्रेड टैरिफ और रूस के साथ हथियार सौदे को लेकर दोनों देशों के बीच कई असहमति हैं. विदेश सचिव विजय केशव गोखले के मुताबिक S-400 मिसाइल डील को लेकर कोई भी चर्चा नहीं हुई है.
  4. जापान में चल रही जी-20 समिट साल में होने वाले सबसे उच्चस्तरीय बैठक में से है, जहां विश्वस्तरीय नेता एक साथ एक मंच पर इकठ्ठे हुए हैं. इस दौरान अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध, भू राजनीतिक तनाव और जलवायु परिवर्तन के एजेंडे पर बात हुई.
  5. ओसाका शहर में दो दिवसीय शिखर सम्मेलन में व्यापार के मुद्दों पर बातचीत चल रही है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और चीनी राष्ट्रपति शी चिंनफिंग के बीच होने वाले मुलाकात पर सबकी निगाहें है. वहीं विश्व के नेता अमेरिका और ईरान के बीच तनाव को कम करने की कोशिश भी करेंगे.
  6. जापान छोड़ने से पहले पीएम मोदी ने कहा, दो दिवसीय ओसाका शिखर सम्मेलन 2022 में होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी के लिए भारत के लिए एक महत्वपूर्ण कदम होगा. जब हम अपनी स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ वर्ष में एक नए भारत की शुरुआत करेंगे.
  7. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, मैं तीन प्रमुख चुनौतियों पर अपना ध्यान केंद्रित करूंगा. वैश्विक अर्थव्यवस्था में अस्थिरता और गिरावट. नियम आधारित बहुपक्षीय वैश्विक व्यापार प्रणाली पर एकपक्षवाद और प्रतिस्पर्धात्मकता का प्रभाव है.
  8. मोदी ने कहा, ‘‘संसाधनों की कमी, आधारभूत ढांचे में निवेश में लगभग 1.3 खरब अमेरिकी डॉलर के निवेश की कमी है.''
  9. प्रधानमंत्री ने कहा कि विकास को सतत् और समावेशी बनाना. डिजिटलाइजेशन जैसी तेजी से बदलती तकनीकें और जलवायु परिवर्तन मौजूदा और आने वाली पीढ़ियों के लिये चुनौती पेश करती हैं. 
  10. विकास के मुद्दे पर बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि विकास तभी सार्थक है जब यह असमानता घटाए और सशक्तिकरण में योगदान दे. (इनपुट: भाषा से भी)
टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... अभिनेता-नेता तापस पॉल के निधन के लिए ममता बनर्जी ने मोदी सरकार को ठहराया जिम्मेदार, कहा- केंद्र की वजह से तीन मौत देख चुकी हूं

Advertisement