NDTV Khabar

पीएम मोदी ने ममता बनर्जी से फानी चक्रवात पर बातचीत की कोशिश की थी, उधर से नहीं आया जवाब: अधिकारी

दूसरी ओर बेशक फ़ोनी तूफ़ान से ओडिशा में जान-माल का नुक़सान हुआ. लेकिन राज्य सरकार की बेहतरीन कोशिशों से मौत का आंकड़ा सिमट गया. ओडिशा सरकार ने बड़ा राहत अभियान चलाते हुए 11 लाख से ज़्यादा लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी ने ममता बनर्जी से फानी चक्रवात पर बातचीत की कोशिश की थी, उधर से नहीं आया जवाब: अधिकारी

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को चक्रवात फानी के संबंध में चर्चा करने के लिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से संपर्क करने की कोशिश की थी, लेकिन बात नहीं हो पाई क्योंकि मुख्यमंत्री की तरफ से कोई जवाब नहीं आया. सरकार के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री ने इसके बाद पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी से बात की. अधिकारी ने कहा, 'प्रधानमंत्री के स्टाफ ने दो बार मोदी की बातचीत मुख्यमंत्री से फोन पर कराने की कोशिश की. दोनों बार स्टाफ से कहा गया कि मुख्यमंत्री की ओर से फोन किया जाएगा. एक अवसर पर उनसे कहा गया कि मुख्यमंत्री यात्रा पर हैं.' यह बयान ऐसे समय आया है जब तृणमूल कांग्रेस ने मोदी पर मुख्यमंत्री से चक्रवात के बीच राज्य की स्थिति के बारे में जानकारी नहीं लेने को लेकर हमला बोला. प्रधानमंत्री ने राज्यपाल से हुई बातचीत को लेकर ट्वीट किया था.

ओडिशा में 'फानी' चक्रवात की चपेट में आने से 16 लोगों की मौत, बड़े पैमाने पर राहत कार्य जारी


वहीं दूसरी ओर बेशक फानी तूफ़ान से ओडिशा में जान-माल का नुक़सान हुआ. लेकिन राज्य सरकार की बेहतरीन कोशिशों से मौत का आंकड़ा सिमट गया. ओडिशा सरकार ने बड़ा राहत अभियान चलाते हुए 11 लाख से ज़्यादा लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया. ओडिशा में बड़े स्तर पर एहतियाती क़दम उठाए जाने पर केंद्र के साथ-साथ राज्य सरकार की दुनियाभर में तारीफ़ हो रही है. ओडिशा सरकार और स्थानीय प्रशासन ने दुनिया के सामने एक मिसाल पेश की है. संयुक्त राष्ट्र ने भी इसके लिए भारत सरकार और राज्य सरकार की सराहना की है. साथ ही यूएन ने भारतीय मौसम विभाग की फानी अथवा फ़ोनी के बारे में सटीक जानकारी के लिए जमकर तारीफ़ की. हालांकि, इस फानी की वजह से अब तक 15 लोगों की मौत हो चुकी है.

ओडिशा सरकार के इंतजाम के आगे हारा 'फानी'​

टिप्पणियां

इनपुट : भाषा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement