दिल्ली में नागरिकता कानून को लेकर जारी हिंसा के बीच बोले डोनाल्ड ट्रंप- 'उम्मीद करता हूं भारत सही निर्णय लेगा'

पत्रकारों से बात करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने नागरिकता कानून और दिल्ली में इसे लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन पर पूछे गए सवाल का भी जवाब दिया.

खास बातें

  • दिल्ली में नागरिकता कानून को लेकर जारी हिंसा के बीच बोले ट्रंप
  • अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा- उम्मीद करता हूं भारत सही निर्णय लेगा
  • डोनाल्ड ट्रंप बोल- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी धार्मिक स्वतंत्रता के पक्षधर
नई दिल्ली:

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप दो दिवसीय दौरे पर भारत में हैं. डोनाल्ड ट्रंप का अमेरिकी दौरा सोमवार को अहमदाबाद से शुरू हुआ. इसके बाद उन्होंने आगरा जाकर ताजमहल का दीदार किया. दोनों देशों के बीच आज दिल्ली में कई अहम समझौते भी हुए. इसके बाद पत्रकारों से बात करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने नागरिकता कानून और दिल्ली में इसे लेकर चल रहे विरोध प्रदर्शन पर पूछे गए सवाल का भी बेबाकी से जवाब दिया. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि दिल्ली हिंसा के बारे में मैंने सुना है, लेकिन पीएम मोदी से इसे लेकर कोई चर्चा नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी से धार्मिक स्वतंत्रता पर बात हुई है और वह धार्मिक आजादी के पक्षधर हैं. ट्रंप ने कहा कि मैं CAA पर कोई बयान नहीं देना चाहूंगा क्योंकि यह भारत का फैसला है और मुझे उम्मीद है कि भारत अपने लिए उचित कदम उठा सकता है और वह सही फैसला लेगा.'

'पीएम मोदी बहुत मजबूत और सख्‍त शख्सियत हैं...': डोनाल्‍ड ट्रंप की कही 5 बड़ी बातें

इसके अलावा भी कई मुद्दों पर पूछे गए सवालों का ट्रंप ने बेबाकी से जवाब दिया. यह पूछे जाने पर कि क्या रूस अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा है? इसके जवाब में ट्रंप ने कहा कि खुफिया एजेंसियों ने मुझे कभी नहीं बताया. साथ ही अमेरिका-तालिबान शांति समझौते पर उन्होंने कहा कि हम इसके काफी करीब हैं. ट्रंप ने कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकवाद पर काबू पाने को लेकर कहा कि मुझे नहीं लगता कि जितना मैंने किया उससे ज्यादा किसी ने किया है. उन्होंने कहा कि रूस, सीरिया और ईरान को भी ऐसा करना चाहिए.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कश्मीर पर मध्यस्थता की बात फिर दोहराई, कहा- 'मैं अगर कुछ कर पाऊं तो...'

बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप के दौरे से ठीक पहले दिल्ली में नागरिकता कानून को लेकर चल रहा विरोध प्रदर्शन हिंसक हो गया. उत्तर पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में चल रहे प्रदर्शन में अब तक 1 पुलिसकर्मी समेत 10 लोगों की जान चली गई है. उत्तर पूर्वी दिल्ली में अगले एक महीने के लिए धारा 14 लगा दी गई है. दिल्‍ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा ने उत्तर पूर्वी दिल्‍ली में हिंसा पर कहा, '56 पुलिसकर्मी घायल हैं, हेड कॉन्‍स्‍टेबल रतन लाल की मौत हो गई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दिल्ली में नागरिकता कानून को लेकर जारी हिंसा के बीच बोले डोनाल्ड ट्रंप- 'उम्मीद करता हूं भारत सही निर्णय लेगा'

उन्होंने कहा कि शाहदरा के डीसीपी को भी सिर में चोट आई है. इसके अलावा 130 आम नागरिक भी घायल हैं.' रंधावा ने कहा, 'प्रभावित क्षेत्रों में धारा 144 लगा दी गई है. लोगों से अपील है कि शांति बनाए रखें और अफवाहों पर ध्‍यान न दें. मैं लोगों से अपील करता हूं विशेषकर उत्तर पूर्वी दिल्‍ली के लोगों से कि वो कानून को अपने हाथ में न लें. हम ड्रोन की भी मदद ले रहे हैं. स्थिति फिलहाल नियंत्रण में है.