NDTV Khabar

असम में आज से शुरु 'ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट', पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ‘द एडवांटेज असम : ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2018’ का उद्घाटन करेंगे. इसका मुख्य लक्ष्य असम के भूरणनीतिक अवसरों और राज्य सरकार के नीतिगत सुधारों से विभिन्न क्षेत्रों की प्रतिस्पर्धा को निवेशकों के सामने रखना है

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
असम में आज से शुरु 'ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट', पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे उद्घाटन

असम में आज से शुरु 'ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट', पीएम नरेंद्र मोदी करेंगे उद्घाटन (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. मोदी आज ‘द एडवांटेज असम : ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट' का उद्घाटन करेंगे
  2. असम में आज से राज्य का पहला वैश्विक निवेशक सम्मेलन शुरू होगा
  3. कम से कम 4,500 प्रतिनिधियों ने भाग लेने के लिए पंजीकरण करवाया है
गुवाहाटी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ‘द एडवांटेज असम : ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2018’ का उद्घाटन करेंगे. इसका मुख्य लक्ष्य असम के भूरणनीतिक अवसरों और राज्य सरकार के नीतिगत सुधारों से विभिन्न क्षेत्रों की प्रतिस्पर्धा को निवेशकों के सामने रखना है. असम में आज राज्य का पहला वैश्विक निवेशक सम्मेलन आयोजित होने जा रहा है जहां वह राज्य में उपलब्ध विनिर्माण अवसरों और भूरणनीतिक अवसरों को घरेलू और वैश्विक निवेशकों के सम्मुख पेश कर उन्हें निवेश के लिए आमंत्रित करने का प्रयास करेगा.

असम: पुलिस फायरिंग में दो लोगों की मौत के बाद लगा कर्फ्यू, 2000 से ज्यादा यात्री फंसे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ‘द एडवांटेज असम : ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2018’ का उद्घाटन करेंगे. इसका मुख्य लक्ष्य असम के भूरणनीतिक अवसरों और राज्य सरकार के नीतिगत सुधारों से विभिन्न क्षेत्रों की प्रतिस्पर्धा को निवेशकों के सामने रखना है. असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने कहा, ‘अभी तक 4,500 प्रतिनिधियों ने इसमें भाग लेने के लिए पंजीकरण कराया है। इसमें 16 देशों के प्रतिनिधि शामिल हैं.’ उन्होंने कहा, ‘भूटान के प्रधानमंत्री शेरिंग तोब्गे पहले ही आ चुके हैं। मुकेश अंबानी और रतन टाटा के भी सम्मेलन में शामिल होने की उम्मीद है.’

टिप्पणियां
VIDEO:  असम : नगा शांति समझौते का विरोध, पुलिस की फायरिंग में दो लोगों की मौत

सोनोवाल ने कहा कि तीन और चार फरवरी को होने वाले इस सम्मेलन में असम में उपलब्ध निर्यात उन्मुख विनिर्माण अवसरों को प्रदर्शित किया जाएगा. साथ ही आसियान और दक्षिण एशिया की उभरती अर्थव्यवस्थाओं को दी जाने वाली विशेष सेवाओं के बारे में भी बताया जाएगा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री पूर्वोत्तर के विकास पर प्रमुख तौर पर ध्यान दे रहे हैं और इस क्षेत्र के विकास के लिए उन्होंने कई कदम उठाए हैं.

इनपुट- भाषा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement