CAA नागरिकता देने का कानून, छीनने का नहीं... PM मोदी ने बेलूर मठ में कहीं 10 बड़ी बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के पश्चिम बंगाल दौरे का आज (रविवार) दूसरा दिन है. बीते शनिवार पीएम मोदी ने कोलकाता में आयोजित किए गए कई कार्यक्रमों में शिरकत की.

CAA नागरिकता देने का कानून, छीनने का नहीं... PM मोदी ने बेलूर मठ में कहीं 10 बड़ी बातें

पीएम नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल के दो दिवसीय दौरे पर हैं.

कोलकाता: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के पश्चिम बंगाल दौरे का आज (रविवार) दूसरा दिन है. बीते शनिवार पीएम मोदी ने कोलकाता में आयोजित किए गए कई कार्यक्रमों में शिरकत की. पीएम ने हावड़ा ब्रिज के नाम से मशहूर रबींद्र सेतु के इंटरैक्टिव लाइट एंड साउंड शो का शुभारंभ किया. शनिवार को प्रधानमंत्री ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banarjee) से मुलाकात भी की. इस दौरान मुख्यमंत्री ने उनके सामने CAA, NRC और NPR का मुद्दा उठाया. पीएम ने इनपर चर्चा के लिए ममता बनर्जी को दिल्ली आने का न्योता दिया. शनिवार रात पीएम मोदी रामकृष्ण मिशन के मुख्यालय बेलूर मठ में ही रुके थे. मठ में रुकने का कार्यक्रम अचानक तय किया गया. पहले जानकारी दी गई थी कि पीएम राजभवन में ही रात्रि विश्राम करेंगे. रविवार सुबह बेलूर मठ में पूजा-अर्चना के बाद पीएम ने देश के युवाओं को संबोधित करते हुए 'राष्ट्रीय युवा दिवस' की शुभकामनाएं दीं. इस दौरान प्रधानमंत्री ने एक बार फिर नागरिकता कानून (CAA) का जिक्र किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन की 10 बड़ी बातें

  1. पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा, 'बेलूर मठ में आना किसी तीर्थ यात्रा से कम नहीं है. मेरे लिए ये हमेशा से घर आने जैसा ही है. मैं सभी व्यवस्थापकों का आभारी हूं कि मुझे कल रात यहां रहने के लिए इजाजत दी.'

  2. पीएम मोदी ने कहा, 'दुनिया की सबसे बड़ी युवा आजादी का खजाना भारत के पास है. 21वीं सदी में इस देश के युवाओं से सिर्फ भारत को ही नहीं बल्कि पूरे विश्व को मदद मिलती है. नए भारत के निर्माण के लिए बड़े संकल्प लेकर कदम उठाए हैं. ये संकल्प सिर्फ सरकार के नहीं हैं, ये संकल्प देश के युवाओं के हैं, 130 करोड़ भारतीयों के हैं. देश के युवा जिसके साथ जुड़ जाते हैं, उसका सफल होना तय है. स्वच्छ भारत युवाओं की कोशिशों का ही परिणाम है.'

  3. पीएम मोदी ने कहा, 'युवा शक्ति ही भारत को बदलने का आधार है. 2020 सिर्फ नववर्ष ही नहीं है बल्कि नया दशक भी है. हमें अपने संकल्पों को लेकर सिद्धि प्राप्त करने की दिशा में आगे बढ़ना है. युवा सोच कहती है कि समस्याओं को टालो नहीं. युवा इन्हें टालने की सोच ही नहीं सोच सकते. युवा मतलब समस्याओं से टकराव, चुनौतियों को ही चुनौती देते हैं युवा.'

  4. पीएम मोदी ने कहा, 'देश के नागरिकों के मन में नागरिकता कानून को लेकर तरह-तरह के सवाल भर दिए गए हैं. बहुत से युवा जागरूक हैं लेकिन कुछ युवाओं को भ्रमित कर दिया गया है. उन्हें समझाना भी हमारी जिम्मेदारी है. राष्ट्रीय युवा दिवस पर देश के युवाओं से कहना चाहता हूं कि ऐसा नहीं है कि देश की नागरिकता देने के लिए सरकार ने रातोंरात कोई कानून बना दिया है. हमें पता होना चाहिए कि दूसरे देश का कोई भी व्यक्ति भारत की नागरिकता ले सकता है. इसमें कोई दुविधा नहीं है. ये एक्ट नागरिकता छीनने का नहीं बल्कि देने का कानून है.'

  5. पीएम मोदी ने कहा, 'CAA में बदलाव ये किया गया है कि भारत की नागरिकता लेने की सहूलियत और बढ़ा दी गई है. इसे उन लोगों के लिए बढ़ाई गई है जिनपर बंटवारे के बाद धार्मिक आस्था की वजह से जुल्म हुआ. उनका जीना मुश्किल हो गया. बहन-बेटियों की सुरक्षा खतरे में पड़ गई.

  6. पीएम ने कहा, 'स्वतंत्रता के बाद महात्मा गांधी से लेकर दिग्गज नेताओं का कहना था कि भारत को ऐसे लोगों को नागरिकता देनी चाहिए, जिनपर उनके धर्म की वजह से पाकिस्तान में अत्याचार किया जा रहा है.'

  7. पीएम मोदी ने कहा, 'ऐसे पीड़ित शरणार्थियों को क्या हमें मरने के लिए वापस भेजना चाहिए. नहीं न. हमारी सरकार ने देश को स्वतंत्रता दिलाने वाले महान सपूतों की इच्छा का ही पालन किया है. महात्मा गांधी द्वारा कहे काम को ही किया है. CAA में हम नागरिकता दे ही रहे हैं, किसी की भी नागरिकता छीन नहीं रहे हैं.

  8. पीएम मोदी ने आगे कहा, 'आज भी किसी भी धर्म का व्यक्ति, भारत के संविधान को मानने वाला हर व्यक्ति तय प्रक्रियाओं के तहत भारत की नागरिकता ले सकता है. आप समझ चुके हैं. जो आप समझ रहे हैं न वो राजनीतिक खेल खेलने वाले समझने को तैयार नहीं हैं.'

  9. पीएम मोदी ने कहा, 'नॉर्थ-ईस्ट हमारा गर्व है. वहां की संस्कृति, रीति-रिवाज पर हमें गर्व है. इस कानून का उनपर कोई नकारात्मक प्रभाव न पड़े, उसका भी केंद्र सरकार ने इंतजाम किया है. मुझे खुशी है कि आज युवा भ्रम फैलाने वालों के भ्रम भी दूर कर रहे हैं.'

  10. पीएम मोदी ने कहा, 'दुनियाभर में आवाज उठाने वाले हमारे युवा ही हैं. हम ये संशोधन न लाते तो ये विवाद नहीं होता. अगर ऐसा होता तो दुनिया को पता नहीं चलता कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर कैसे-कैसे जुल्म होते हैं. पाकिस्तान को जवाब देना होगा कि आपने 70 सालों से अल्पसंख्यकों पर ये जुल्म क्यों किया.'



 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com