NDTV Khabar

पीएम मोदी का विपक्ष की रैली पर तंज- पूरे देश से दल बुलाकर वे बचाओ-बचाओ चिल्ला रहे

कोलकाता में विपक्षी दलों के एक मंच पर आकर सरकार के खिलाफ शक्ति प्रदर्शन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘महाग‍ठबंधन’ पर निशाना साधा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी का विपक्ष की रैली पर तंज- पूरे देश से दल बुलाकर वे बचाओ-बचाओ चिल्ला रहे

केंद्र शासित प्रदेश दादर और नगर हवेली की राजधानी सिलवासा में सार्वजनिक कार्यक्रम को संबोधित करते पीएम मोदी.

नई दिल्ली:

कोलकाता में विपक्षी दलों के एक मंच पर आकर सरकार के खिलाफ शक्ति प्रदर्शन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘महाग‍ठबंधन' पर निशाना साधा है. उन्होंने शनिवार को कहा कि यह उन लोगों का मेल है जिन्हें उन्होंने भारत को ‘‘लूटने'' से रोका है. उन्होंने कहा कि यह महागठबंधन उनके खिलाफ नहीं बल्कि देश के लोगों के खिलाफ है.केंद्र शासित प्रदेश दादर और नगर हवेली की राजधानी सिलवासा में एक सार्वजनिक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘ महागठबंधन सिर्फ नरेंद्र मोदी के खिलाफ नहीं है, बल्कि भारत की जनता के खिलाफ है... वे अपने परिवारों, अपनी सल्तनत को बचाने के लिए कितने भी गठबंधन कर सकते हैं...लेकिन वे कभी भी लोगों के दिल नहीं जीत पाएंगे.''कोलकाता में तृणमूल कांग्रेस द्वारा आयोजित रैली पर तंज कसते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पश्चिम बंगाल में  वे हमसे बहुत डरे हुए हैं क्योंकि हम सच्चाई के मार्ग पर चलते हैं. इसलिए उन्होंने पूरे देश से पार्टियों को एकत्रित किया और बचाओ, बचाओ, बचाओ चिल्ला रहे हैं.''

यह भी पढ़ें- ममता बनर्जी का मोदी सरकार पर हमला, कहा- बदल दो सरकार, खत्म हो गई है 'एक्सपायरी डेट' 


मोदी ने कहा, ‘‘ उनकी दुनिया उनके परिवारों और रिश्तेदारों की प्रगति के इर्द गिर्द केंद्रित है. उनकी दुनिया में भारत के लिए कोई नजरिया नहीं है.'' उन्होंने कहा कि देशवासी उनका परिवार हैं और राष्ट्र का विकास उनका एक मात्र लक्ष्य है.प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ वे परेशान हैं कि मोदी भ्रष्टाचार के खिलाफ कड़ी कार्रवाई क्यों कर रहा है. क्या मुझे भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ना नहीं चाहिए... वे परेशान हैं कि मोदी क्यों सत्ता के गलियारों से बिचौलियों को दूर कर रहा है.''मोदी ने कहा, ‘‘ वे बहुत गुस्सा में हैं, क्योंकि मैंने उन्हें जनता का पैसा लूटने से रोक दिया है. इसलिए वे महागठबंधन बनाने की कोशिश कर रहे हैं.''उन्होंने कहा कि ये नेता डर की वजह से एक साथ आए हैं.प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ वे अपने परिवारों, सल्तनतों को बचाने के लिए कितने भी गठबंधन कर सकते हैं, लेकिन अपने कर्मों से भाग नहीं सकते हैं. उनके कर्म हर कदम पर उनका पीछा कर रहे हैं.''उन्होंने कहा, ‘‘उनकी राजनीति मोदी के लिए नफरत पर केंद्रित है जो अखबारों और टीवी चैनलों को तो आकर्षित कर सकती है लेकिन ये कभी भी लोगों के दिल नहीं जीतेगी जो उनके हर कदम को देख रहे हैं.''    प्रधानमंत्री ने उक्त बातें एक मेडिकल कॉलेज की नींव रखने के बाद कही.पश्चिम बंगाल सरकार की ओर से भाजपा को राज्य में यात्रा की अनुमति नहीं देने की पृष्ठभूमि पर प्रधानमंत्री ने कहा कि तृणमूल शासित राज्य में राजनीतिक पार्टियों ने उनके कार्यक्रमों को चलाने तक की इजाजत नहीं दी हैं.

यह भी पढ़ा- ममता के मंच से गरजे अखिलेश यादव: चुनाव के समय मोदी सरकार CBI और ED से गठबंधन कर रही है

भाजपा का विरोध कर रहे दलों पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा, ‘‘चुनावों के दौरान वहां पार्टी कार्यकर्ताओं की हत्या हुई और वे लोकतंत्र बचाने की बात करते हैं. जो लोग लोकतंत्र का गला घोंटने में शामिल थे जब वे उसे बचाने की बात करें तो लोग कहेंगे ‘वाह क्या बात है.''  कोलकाता में विभिन्न विपक्षी पार्टियों ने ‘संयुक्त भारत रैली' में हिस्सा लिया, जहां पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा नीत सरकार को बदलने का आह्वान किया.    मोदी ने कहा कि ये सभी पार्टियां पहले कांग्रेस के बारे में अक्सर अपशब्द कहती थीं लेकिन आज उनके नेता एक साथ हैं क्योंकि उनके पैरों के नीचे से जमीन खिसक रही है.प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी दुनिया की शुरुआत मोदी के लिए नफरत से होती है और मोदी को अपशब्द कहने के साथ खत्म होती है. मोदी ने कहा, ‘‘ मेरी दुनिया इस सोच के साथ शुरू होती है कि किसी भी एक परिवार पर धन दिए बिना कैसे 125 करोड़ लोगों की जिंदगी में बदलाव लाया जाए. इसके साथ में 21 वीं सदी में भारत को सबसे विकसित देश बनाने की दृष्टि है.'

'उन्होंने कहा कि एक पार्टी के 60 साल के शासन में बहुत ज्यादा काम नहीं हुआ, क्योंकि उन्होंने काम से ज्यादा नामों का तरजीह दी.प्रधानमंत्री ने कहा कि बीते साढ़े चार साल में कई नई योजनाएं शुरू की गईं लेकिन किसी का भी संबंध मोदी नाम से नहीं है.मोदी ने कहा, ‘‘ इससे पता चलता है कि हमारा उद्देश्य देश की प्रगति सुनिश्चित करना है न कि केवल एक परिवार की...यह हमारी संस्कृति नहीं है. मेरे लिए 125 करोड़ देशवासी मेरा परिवार है.'' (इनपुट-भाषा)

टिप्पणियां

वीडियो- महागठबंधन की कोशिश देश की जनता के खिलाफ : पीएम मोदी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement