NDTV Khabar

चुनावी राज्यों की रिपोर्टिंग के वक्त पीएम मोदी ने बीजेपी नेताओं को दिया जीत का मंत्र: विपक्ष के जाल में न फंसे और...

आगामी विधानसभा चुनावों और लोकसभा चुनाव 2019 को ध्यान में रखते हुए दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक चल रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
चुनावी राज्यों की रिपोर्टिंग के वक्त पीएम मोदी ने बीजेपी नेताओं को दिया जीत का मंत्र: विपक्ष के जाल में न फंसे और...

पीएम मोदी ने दिया जीत का मंत्र

नई दिल्ली: आगामी विधानसभा चुनावों और लोकसभा चुनाव 2019 को ध्यान में रखते हुए दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक चल रही है. इस बैठक में बीजेपी के सभी पदाधिकारी और नेता आगामी चुनावों में जीत सुनिश्चित करने के लिए मंथन कर रहे हैं और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह जीत का मंत्र देने में जुटे हुए हैं. हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी चुनावों में जीत के लिए पार्टी नेताओं को जीत का मंत्र दिया है. पीएम मोदी ने चुनावी राज्यों की रिपोर्टिंग के समय पार्टी नेताओं को विपक्ष के जाल में न फंसने की सलाह दी. उन्होंने बीजेपी नेताओं को जीत का मंत्र देते हुए कहा कि 'विपक्ष के जाल में न फंसे और अपने ही मुद्दों पर डंटे रहें. जीत अवश्य होगी.' पीएम मोदी ने पार्टी नेताओं को जीत का स्पष्ट मंत्र दे दिया है कि उन्हें सिर्फ अपने ही मुद्दों पर डंटे रहना है और विपक्ष के झांसे में आने से बचना है. 

SC/ST Act पर मचे बवाल का असर 2019 में होगा या नहीं, जानिये अमित शाह ने क्या कहा

हालांकि, इससे पहले भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के पहले दिन बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी पार्टी नेताओं को जीत का मंत्र दिया. अमित शाह ने कहा कि अगले सात महीने सिर्फ़ दो चीज़ें याद रखें भारत माता और कमल का फूल और यही जीत का मंत्र है. अमित शाह ने कहा ओडिशा और बंगाल में सरकार बनाने का संकल्प लें. एसएसी-एसटी एक्ट को लेकर हो रहे राजनीतिक उबाल पर बीजेपी के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि इस मुद्दे का 2019 के लोकसभा चुनाव में कोई असर नहीं पड़ेगा. साथ ही उन्होंने कहा कि "एससी/एसटी के मुद्दे को लेकर भ्रम पैदा करने की कोशिश की गई, लेकिन इससे 201 9 के चुनावों पर कोई असर नहीं पड़ेगा." उन्होंने कहा कि जो भी भ्रम फैलाया जा रहा है, इसका डटकर मुक़ाबला किया जाएगा.  सरकार बीजेपी की ही बनेगी. 

2019 में बीजेपी अमित शाह की अध्यक्षता में लड़ेगी चुनाव, बढ़ेगा कार्यकाल

पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारियों एवं राज्य इकाई के अध्यक्षों की बैठक में ‘‘अजेय भाजपा’’ के नारे को अंगीकार किया गया है. बताया जा रहा है कि पार्टी की कार्यकारिणी की बैठक में ही यह फैसला लिया गया है कि अमित शाह के अध्यक्षीय कार्यकाल को एक साल के लिए बढ़ाया जाएगा. यानी अमित शाह की अध्यक्षता में ही बीजेपी अगला लोकसभा चुनाव लड़ा जाएगा. खबरों के मुताबिक पार्टी संगठन का चुनाव एक साल के लिए टाल दिया जाएगा क्योंकि अमित शाह का कार्यकाल बतौर बीजेपी अध्यक्ष जनवरी 2019 में खत्म हो रहा है. ऐसे में आम चुनाव के मद्देनज़र संगठन चुनाव को टाला जाएगा.

राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक का पहला दिन : 'अजेय बीजेपी' के नारे के साथ लोकसभा चुनाव 2019 में उतरेगी टीम पीएम मोदी

टिप्पणियां
सूत्रों ने बताया कि बैठक में इस साल के अंत तक मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान सहित पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत के लिये पूरा जोर लगाने का संकल्प लिया गया. इसके अलावा कार्यकारिणी की बैठक में 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव, आने वाले लोकसभा चुनाव, रफ़ाल और पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ी कीमतों पर विपक्ष के हमले जैसे तमाम मुद्दों का सामना करने के लिए इस बैठक में मंथन हो हो रहा है. बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और बीजेपी शासित सभी राज्यों के मुख्यमंत्री समेत सभी कार्यकारिणी सदस्य बैठक में मौजूद रहें और उम्मीद है कि आज पीएम मोदी भाषण देंगे. 

VIDEO: इंडिया 9 बजे: अमित शाह को मिली 2019 चुनाव की जिम्मेदारी


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement