NDTV Khabar

नेपाल में 'बिम्स्टेक' शिखर सम्मेलन आज, पीएम मोदी पड़ोसी देशों के समक्ष उठा सकते हैं आतंकवाद का मुद्दा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय बिम्सटेक सम्मेलन में शामिल होने के लिए गुरुवार को काठमांडू पहुंच गए हैं. प्रधानमंत्री मोदी के कार्यालय ने ट्वीट किया, "प्रधानमंत्री थोड़ी देर पहले ही काठमांडू पहुंचे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नेपाल में 'बिम्स्टेक' शिखर सम्मेलन आज, पीएम मोदी पड़ोसी देशों के समक्ष उठा सकते हैं आतंकवाद का मुद्दा

पीएम मोदी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. बिम्स्टेक शिखर सम्मेलन की बैठक में हिस्सा लेंगे पीएम मोदी
  2. पड़ोस में अपने संबंधों को गहरा बनाने का प्रतीक है
  3. आतंकवाद सहित कई विषयों पर चर्चा होगी
नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय बिम्सटेक सम्मेलन में शामिल होने के लिए गुरुवार को काठमांडू पहुंच गए हैं. प्रधानमंत्री मोदी के कार्यालय ने ट्वीट किया, "प्रधानमंत्री थोड़ी देर पहले ही काठमांडू पहुंचे हैं. वह शहर में आयोजित हो रहे बिम्सटेक सम्मेलन में हिस्सा लेंगे." उनकी यह यात्रा भारत द्वारा पड़ोस को उच्च प्राथमिकता देने तथा दक्षिण पूर्व एशिया के विस्तारित पड़ोस में अपने संबंधों को गहरा बनाने का प्रतीक है. इस बैठक में सदस्य देशों के बीच आतंकवाद सहित सुरक्षा के विविध आयाम, मादक पदार्थो की तस्करी, साइबर अपराध, आपदाओं के अलावा कारोबार एवं सम्पर्क से जुड़े विषयों पर चर्चा होगी और आपसी सहयोग मजबूत बनाने पर जोर दिया जायेगा. यात्रा पर रवाना होने से पहले अपनी फेसबुक पोस्ट में मोदी ने कहा कि शिखर बैठक के दौरान वे ‘बंगाल की खाड़ी बहु क्षेत्रीय तकनीकी एवं आर्थिक सहयोग पहल' (बिम्सटेक) देशों के नेताओं के साथ क्षेत्रीय सहयोग को मजबूत बनाने, कारोबारी संबंधों को प्रगाढ़ बनाने और शांतिपूर्ण एवं समृद्ध बंगाल की खाड़ी क्षेत्र के निर्माण में सामूहिक प्रयासों को आगे बढ़ाने के बारे में चर्चा करेंगे. 

सोशल मीडिया के इस्तेमाल को लेकर पीएम मोदी ने दी यह नसीहत, कहा...

उन्होंने कहा, ‘शिखर सम्मेलन का विषय ‘‘ शांतिपूर्ण, समृद्ध और सतत बंगाल की खाड़ी’ है और यह हम सभी की साझी आकांक्षाओं एवं चुनौतियों के संबंध में सामूहिक प्रतिक्रिया में मददगार होगा.’  प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि चौथा बिम्स्टेक शिखर सम्मेलन अब तक इस समूह के तहत हुई प्रगति को और आगे बढ़ायेगा और शांतिपूर्ण एवं समृद्ध बंगाल की खाड़ी के निर्माण का मार्ग प्रशस्त करेगा. उन्होंने कहा कि बिम्स्टेक शिखर सम्मेलन से इतर उन्हें बांग्लादेश, म्यामांर, श्रीलंका, भूटान और थाईलैंड के नेताओं से बातचीत करने का अवसर मिलेगा. मोदी ने कहा, ‘मैं नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली के साथ बैठक को आशान्वित हूं. इस दौरान मई 2018 में अपनी नेपाल यात्रा के बाद से द्विपक्षीय संबंधों में हुई प्रगति की समीक्ष करूंगा.’ उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ओली और उन्हें पशुपतिनाथ मंदिर परिसर में नेपाल भारत मैत्री धर्मशाला का उद्घाटन का अवसर मिलेगा. समझा जाता है कि इस बैठक में सदस्य देशों के बीच आतंकवाद सहित सुरक्षा के विविध आयाम, मादक पदार्थो की तस्करी, साइबर अपराध, आपदाओं के अलावा कारोबार एवं सम्पर्क से जुड़े विषयों पर चर्चा होगी और आपसी सहयोग मजबूत बनाने पर जोर दिया जायेगा. 

NDTV से बोले लालू यादव, सारे नेता बैठेंगे और पांच मिनट में तय हो जाएगा अगला प्रधानमंत्री

सात देश के इस समूह में दक्षेस के पांच देश -बांग्लादेश, भूटान, भारत, नेपाल और श्रीलंका शामिल हैं. इनके अलावा आसियान के दो देश म्यामांर और थाईलैंड भी इसके सदस्य हैं. विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार, आतंकवाद से मुकाबला सभी बिम्सटेक देशों के लिए बहुत महत्वपूर्ण विषय है. गोवा में वर्ष 2016 में संपन्न बिम्सटेक आउटरीच सम्मेलन में जारी घोषणापत्र में आतंकवाद से मुकाबले पर विचार विमर्श हुआ था. उस बैठक में जोर दिया गया था कि आतंकवादी गतिविधियों को किसी भी तरह से जायज नहीं ठहराया जा सकता. बिम्सटेक बैठक से इतर प्रधानमंत्री समूह के देशों के नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठक एवं चर्चा भी कर सकते हैं. 

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, सरकार ने 2 फीसदी बढ़ाया महंगाई भत्ता

टिप्पणियां
बिम्स्टेक शिखर बैठक आज (30 अगस्त) से शुरू हो रहा है जिसमें समूह के नेता संयुक्त बैठक करेंगे. इसी दिन दोपहर में पूर्ण सत्र होगा. इस दिन रात्रि में सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं रात्रि भोज होगा. अगले दिन 31 अगस्त को सदस्य देशों के नेताओं की मुलाकात एवं बैठकें होगी. दोपहर बाद विम्सटेक का समापन सत्र होगा.

VIDEO: मन की बात में पीएम मोदी ने कहा, पूरा देश केरल के साथ
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement