NDTV Khabar

पीएम मोदी 'द किंग हमाद ऑर्डर ऑफ द रेनेसां' से सम्मानित, खलीफा के साथ हुई द्विपक्षीय वार्ता

पीएम मोदी को शनिवार को 'द किंग हमाद ऑर्डर ऑफ़ द रेनेसां' से सम्मानित किया गया. उन्होंने बहरीन के शाह हमाद बिन इसा अल खलीफा के साथ विभिन्न द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर बातचीत की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी 'द किंग हमाद ऑर्डर ऑफ द रेनेसां' से सम्मानित, खलीफा के साथ हुई द्विपक्षीय वार्ता

बहरीन में सम्मानित हुए पीएम मोदी

खास बातें

  1. बहरीन में सम्मानित हुए पीएम मोदी
  2. द किंग हमाद ऑर्डर ऑफ द रेनेसां से हुए सम्मानित
  3. खलीफा के साथ हुई द्विपक्षीय वार्ता
मनामा:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) को शनिवार को 'द किंग हमाद ऑर्डर ऑफ़ द रेनेसां' (The King Hamad Order of the Renaissance) से सम्मानित किया गया. उन्होंने बहरीन के शाह हमाद बिन इसा अल खलीफा के साथ विभिन्न द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर बातचीत की. प्रधानमंत्री मोदी की बहरीन की यात्रा इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि इस देश की यात्रा करने वाले वह पहले भारतीय प्रधानमंत्री है. प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक ट्वीट में कहा, 'प्रधानमंत्री मोदी को द किंग हमाद ऑर्डर ऑफ द रेनेसां' से सम्मानित किया गया. इसकी घोषणा बहरीन के शाह द्वारा की गई थी.'

Arun Jaitley Demise : परदे के पीछे रहकर योजना बनाने में माहिर थे पूर्व वित्त मंत्री, सभी पार्टियों में थे उनके दोस्त

मोदी ने यह सम्मान मिलने पर कहा, 'मैं द किंग हमाद ऑर्डर ऑफ द रेनेसां पाकर बहुत सम्मानित और भाग्यशाली महसूस कर रहा हूं. मैं मेरे लिए और मेरे देश के लिए आपकी मित्रता से भी उतना ही सम्मानित महसूस कर रहा हूं. मैं 1.3 अरब भारतीयों की ओर से इस प्रतिष्ठित सम्मान को विनम्रतापूर्वक स्वीकार करता हूं.'
 
भारत और बहरीन ने शनिवार को अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी, सौर ऊर्जा तथा सांस्कृतिक आदान-प्रदान के क्षेत्रों में सहयोग पर सहमति जताई और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने द्विपक्षीय संबंधों के पूरे आयाम को विस्तार देने के लिए बहरीन के प्रधानमंत्री शहजादे खलीफा बिन सलमान अल खलीफा से विस्तृत बातचीत की.


बहरीन की यात्रा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री मोदी और शहजादे खलीफा की मौजूदगी में संस्कृति, अंतरिक्ष, अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) के क्षेत्रों में सहमति-पत्रों (एमओयू) पर दस्तखत किये गये. इससे पहले प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई.

जम्मू-कश्मीर में हाई अलर्ट पर सुरक्षा बल, बना हुआ सीमा पार से आतंकवाद का खतरा
 
दोनों पक्षों ने आईएसए के साथ सहयोग पर भी रजामंदी व्यक्त की. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक ट्वीट में कहा, 'सहयोग के नये क्षेत्रों पर चर्चा हुई. द्विपक्षीय साझेदारी को बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और एच एच शहजादे खलीफा बिन सलमान अल खलीफा दोनों देशों के बीच संस्कृति, अंतरिक्ष, आईएसए और रुपे कार्ड के क्षेत्रों में हुए एमओयू के साक्षी बने.' 

उन्होंने कहा, 'द्विपक्षीय संबंधों को प्रगाढ़ बनाने के वास्ते प्रधानमंत्री मोदी ने एचएच शहजादे खलीफा बिन सलमान अल खलीफा, बहरीन के प्रधानमंत्री से मुलाकात की. दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों के पूरे आयाम को बढ़ावा देने की प्रतिबद्धता जाहिर की.'

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) और बहरीन की नेशनल स्पेस साइंस एजेंसी ने अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग पर सहमति जताई. प्रधानमंत्री मोदी ने 2015 में फ्रांस के तत्कालीन राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलोंद के साथ पेरिस में संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में आईएसए की शुरूआत की थी.

अगले 48 घंटों में मध्य प्रदेश के 20 जिलों में भारी बारिश की संभावना
 
दोनों ही देशों ने सांस्कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रम पर भी सहमति व्यक्त की. प्रधानमंत्री मोदी ने वार्ता के बाद ट्वीट किया, 'बहरीन के प्रधानमंत्री शहजादे खलीफा बिन सलमान अल खलीफा से मिलकर सम्मानित महसूस कर रहा हूं. हमारी बातचीत व्यापक थी और इसमें भारत-बहरीन के रिश्तों से संबंधित व्यापक विषय शामिल थे.'

दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों के संपूर्ण आयाम को मजबूती प्रदान करने की प्रतिबद्धता जताई. वार्ता से पहले मोदी का अल गुदैबिया पैलेस में भव्य स्वागत किया गया. हवाईअड्डे पर मोदी की अगवानी शहजादे खलीफा बिन सलमान अल खलीफा ने की. तीन देशों फ्रांस, यूएई और बहरीन की यात्रा के तीसरे चरण के तहत मोदी यहां पहुंचे है. मोदी रविवार को खाड़ी क्षेत्र के सबसे पुराने श्रीनाथजी के मंदिर के पुनरुद्धार के औपचारिक शुभारंभ के साक्षी बनेंगे.

टिप्पणियां

VIDEO: कैसा था अरुण जेटली का संपूर्ण जीवन



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement