गुरुनानक का जिक्र कर PM मोदी ने साधे एक तीर से 2 निशाने, कहा- नए कानून से कई किसान हुए लाभान्वित

Mann Ki Baat: पीएम ने आंदोलनरत किसानों की चर्चा किए बिना कहा, "काफ़ी विचार विमर्श के बाद भारत की संसद ने कृषि सुधारों को कानूनी स्वरुप दिया. पीएम ने किसानों से हर तरह के भ्रम और अफवाहों से दूर रहने और कही जानकारी लेने की गुजारिश की. उन्होंने कहा कि आपकी जागरूकता ही आपकी समस्याओं का समाधान कराएगी.

गुरुनानक का जिक्र कर PM मोदी ने साधे एक तीर से 2 निशाने, कहा- नए कानून से कई किसान हुए लाभान्वित

PM Modi on Mann Ki Baat: PM ने किसानों की चर्चा करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने कृषि सुधार की दिशा में कई ठोस पहल किए हैं, जिनका सकारात्मक असर किसानी और किसानों पर पड़ रहा है.

नई दिल्ली:

PM Modi's Mann Ki Baat: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अपने मासिक कार्यक्रम 'मन की बात' (Mann ki Baat) में आज सिखों के प्रथम गुरु नानकदेवजी की बहाने आंदोलनरत पंजाबी खासकर सिख किसानों को साधने की कोशिश की है. उन्होंने कहा कि उन पर गुरुनानक की विशेष कृपा रही है, इस वजह से वो देश की सेवा कर रहे हैं. उन्होंने गुरुनानक के सहारे खुद को किसानों से जोड़ते हुए कहा, "मुझे महसूस होता है, कि गुरु साहब की मुझ पर विशेष कृपा रही जो उन्होंने मुझे हमेशा अपने कार्यों में बहुत करीब से जोड़ा है." पीएम मोदी ने कहा, "मैं, इस बात के लिए बहुत कृतज्ञ हूँ कि गुरु साहिब ने मुझसे निरंतर सेवा ली है."

कल गुरुनानक जयंती है. इस मौके पर पीएम मोदी ने सिख समुदाय को शुभकामनाएं दी हैं. उन्होंने कहा, "गुरु साहिब मुझसे और देशवासियों से इसी प्रकार सेवा लेते रहें. एक बार फिर, गुरु नानक जयंती पर, मेरी, बहुत-बहुत शुभकामनाएँ. मेरी कामना है, हम सभी, सेवक की तरह काम करते रहें." पीएम ने कहा, "गुरुग्रन्थ साहिब में कहा गया है – “सेवक को सेवा बन आई”, यानी, सेवक का काम, सेवा करना है. बीते कुछ वर्षों में कई अहम पड़ाव आये और एक सेवक के तौर पर हमें बहुत कुछ करने का अवसर मिला. गुरु साहिब ने हमसे सेवा ली."

पीएम ने इस मौके पर अपनी सरकार की उन उपलब्धियों को भी गिनाया जो भावनात्मक तौर पर सिख समुदाय से जुड़े थे. उन्होंने कहा, "पिछले वर्ष नवम्बर में ही करतारपुर साहिब corridor का खुलना बहुत ही ऐतिहासिक रहा. इस बात को मैं जीवनभर अपने ह्रदय में संजो कर रखूँगा. यह, हम सभी का सौभाग्य है, कि, हमें श्री दरबार साहिब की सेवा करने का एक और अवसर मिला." पीएम ने कहा, "मानवता की सेवा की - ये परंपरा, हम सभी के लिए निरंतर प्रेरणा का काम करती है." पीएम ने कहा, "साथियो, ये, गुरु नानक देव जी ही थे, जिन्होंने, लंगर की परंपरा शुरू की थी और आज हमने देखा कि दुनिया-भर में सिख समुदाय ने किस प्रकार कोरोना के इस समय में लोगों को खाना खिलाने की अपनी परंपरा को जारी रखा है..."

'मन की बात' के जरिए PM ने किसानों को दिया संदेश, कहा- किसानों को नए अवसर मिले

प्रधानमंत्री ने किसानों की चर्चा करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने कृषि सुधार की दिशा में कई ठोस पहल किए हैं, जिनका सकारात्मक असर किसानी और किसानों पर पड़ रहा है. उन्होंने कहा, "मेरे प्यारे देशवासियों, भारत मे खेती और उससे जुड़ी चीजों के साथ नए आयाम जुड़ रहे है. बीते दिनों हुए कृषि सुधारों ने किसानों के लिए नई संभावनाओं के द्वार भी खोले हैं." पीएम ने कहा कि नए कृषि कानून में मिले अधिकार से किसान लाभान्वित हो रहे हैं. उन्होंने कहा, "इन अधिकारों ने बहुत ही कम समय में, किसानों की परेशानियों को कम करना शुरू कर दिया है."

पीएम ने आंदोलनरत किसानों की चर्चा किए बिना कहा, "काफ़ी विचार विमर्श के बाद भारत की संसद ने कृषि सुधारों को कानूनी स्वरुप दिया. इन सुधारों से न सिर्फ किसानों के अनेक बन्धन समाप्त हुये हैं , बल्कि उन्हें नये अधिकार भी मिले हैं, नये अवसर भी मिले हैं." पीएम ने एक मक्का किसान की समस्या का उल्लेख करते हुए कहा, "अब, जब, ऐसे कानून की ताकत हमारे किसान भाई के पास थी, तो, उनकी समस्या का समाधान तो होना ही था, उन्होंने शिकायत की और चंद ही दिन में उनका बकाया चुका दिया गया."

जानिए ब्राजील के जॉ़नस के बारे में, जिसका जिक्र पीएम मोदी ने मन की बात में किया

Newsbeep

पीएम ने नए कृषि कानून के प्रावधानों की चर्चा करते हुए कहा, "कानून में एक और बहुत बड़ी बात है, इस क़ानून में ये प्रावधान किया गया है कि क्षेत्र के एस.डी.एम (SDM) को एक महीने के भीतर ही किसान की शिकायत का निपटारा करना होगा." इसके साथ ही पीएम ने किसानों से हर तरह के भ्रम और अफवाहों से दूर रहने और कही जानकारी लेने की गुजारिश की. उन्होंने कहा कि आपकी जागरूकता ही आपकी समस्याओं का समाधान कराएगी.

वीडियो- कृषि कानून पर बोले PM मोदी- किसानों की मांगें पूरी हुईं

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com