PM नरेंद्र मोदी ने किया गुजरात सूर्योदय योजना का उद्घाटन, अब दिन में ही सिंचाई के लिए मिलेगी बिजली

उन्होंने कहा, गुजरात देश का पहला राज्य है जिसने एक दशक पहले ही सौर ऊर्जा के क्षेत्र में कदम उठाया है. पीएम ने कहा कि भारत सौर ऊर्जा के मामले दुनिया का छठा बड़ा देश बन चुका है

PM नरेंद्र मोदी ने किया गुजरात सूर्योदय योजना का उद्घाटन, अब दिन में ही सिंचाई के लिए मिलेगी बिजली

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो लिंक के जरिए गुजरात में UN मेहता इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी एंड रिसर्च सेंटर से जुड़े एक पीडियाट्रिक हार्ट हॉस्पिटल का उद्घाटन किया. इसके अलावा उन्होंने गुजरात की कई परियोजनाओं का उद्घाटन भी वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के जरिए किया. पीएम ने किसान सूर्योदय योजना के साथ-साथ गिरनार में एक रोपवे परियोजना का भी उद्घाटन किया.

इस मौके पर पीएम ने कहा कि किसान सूर्योदय योजना न केवल किसानों के जीवन में नया सवेरा लेकर आएगा बल्कि उनके लिए सुख समृद्धि भी लाएगा.  इस योजना के तहत अगले दो-तीन सालों में साढ़े तीन हजार सर्किट किलोमीटर लाइन बिछाया जाएगा. इसका अधिकांश इलाका आदिवासी है. पीएम ने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए, उनके लागत कम करने के लिए हमें प्रयास करने ही होंगे.

उन्होंने कहा, गुजरात देश का पहला राज्य है जिसने एक दशक पहले ही सौर ऊर्जा के क्षेत्र में कदम उठाया है. पीएम ने कहा कि भारत सौर ऊर्जा के मामले दुनिया का छठा बड़ा देश बन चुका है. बता दें कि गुजरात में सिंचाई के लिए दिन में खेतों को बिजली आपूर्ति सुनिश्चित कराने के लिए सीएम विजय रूपाणी के नेतृत्व में गुजरात सरकार ने हाल ही में किसान सूर्योदय योजना की घोषणा की थी. इस योजना के तहत, किसान सुबह 5 बजे से लेकर रात 9 बजे तक बिजली पा सकेंगे. राज्य सरकार ने 2023 तक इस योजना के तहत पारेषण अवसंरचना स्थापित करने के लिए 3500 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है.

गुजरात उपचुनाव से पहले कांग्रेस का BJP पर आरोप- विधायकों की खरीद-फरोख्त शुरू, न्यायिक जांच हो

इस योजना के पहले चरण में दाहोद, पाटण, महिसागर, पंचमहाल, छोटा उदयपुर, खेड़ा, आणंद और गिर-सोमना जिले को शामिल किया गया है. शेष बचे जिलों को चरणबद्ध तरीके से इस योजना में 2023 तक शामिल किया जाएगा. यूएन मेहता इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी का भी 470 करोड़ रुपये की लागत से विस्तार किया जा रहा है. विस्तार परियोजना के पूरा होने के बाद यहां बिस्तरों की संख्या 450 से बढ़कर 1251 हो जाएगी. संस्थान देश का सबसे बड़ा एकल सुपर स्पेशलिटी कार्डियक शिक्षण संस्थान भी बन जाएगा और दुनिया के सबसे बड़े एकल सुपर स्पेशिएलिटी कार्डियक अस्पतालों में से एक होगा.

Newsbeep

वीडियो: RJD ने जारी किया घोषणा पत्र, 10 लाख नौकरियों का वादा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com