कोरोना वायरस के संदिग्धों से बदसलूकी पर बोले PM मोदी- वो अपराधी नहीं, दूसरों को बचाने को खुद को अलग किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज (रविवार) अपने रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' (Mann Ki Baat) के जरिए देश को संबोधित किया.

कोरोना वायरस के संदिग्धों से बदसलूकी पर बोले PM मोदी- वो अपराधी नहीं, दूसरों को बचाने को खुद को अलग किया

पीएम मोदी ने 'मन की बात' में कोरोना वायरस और लॉकडाउन का जिक्र किया. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • पीएम नरेंद्र मोदी ने की 'मन की बात'
  • कोरोना वायरस-लॉकडाउन का जिक्र
  • संदिग्धों से दुर्व्यवहार पर नाराज पीएम
नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज (रविवार) अपने रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' (Mann Ki Baat) के जरिए देश को संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने कोरोना वायरस (Coronavirus) से लड़ने वाले लोगों का जिक्र करते हुए उनकी तारीफ की और देश में लगे 21 दिनों के लॉकडाउन (India Lockdown) को लेकर जनता को हो रही तकलीफों पर देशवासियों से माफी मांगी. पीएम मोदी ने कहा कि वह 130 करोड़ भारतीयों को रही परेशानियों के लिए माफी मांगते हैं और उन्हें पूरा भरोसा है कि जनता उन्हें क्षमा कर देगी. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कोरोना संक्रमण के संदिग्धों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार पर नाराजगी जाहिर की. पीएम मोदी ने कहा कि सोशल डिस्टैंस बढ़ाइए और इमोशनल डिस्टैंस को कम कीजिए.

पीएम मोदी ने कहा, 'साथियों, मुझे कुछ ऐसी घटनाओं का पता चला है जिनमें कोरोना वायरस के संदिग्ध या फिर जिन्हें होम क्वारंटाइन में रहने को कहा गया है, उनके साथ कुछ लोग बुरा बर्ताव कर रहे हैं. ऐसी बातें सुनकर मुझे अत्यंत पीड़ा हुई है. यह दुर्भाग्यपूर्ण है. ऐसे लोग कोई अपराधी नहीं हैं बल्कि वायरस के संभावित पीड़ित भर हैं. इन लोगों ने दूसरों को संक्रमण से बचाने के लिए खुद को अलग किया है और क्वारंटाइन में रह रहे हैं. कई जगह पर लोगों ने अपनी जिम्मेदारियों को गंभीरता से लिया है.'

कोरोना वायरस का इलाज खोजने के लिए Facebook ने किया 2.5 करोड़ डालर की मदद का ऐलान

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, 'सोशल डिस्टैंस का मतलब सोशल इंटरेक्शन खत्म करना नहीं है. ये सही समय है जब आप अपने रिश्तों को नए सिरे से शुरू कर सकते हैं. सोशल डिस्टैंस बढ़ाइए लेकिन इमोशनल डिस्टैंस को कम कीजिए. मैंने आपसे कहा है कि घरों से बाहर मत निकलिए. ये सही समय है जब आप कई विषयों पर आत्ममंथन कर सकते हैं. मानवता से भरी हुई हर नर्स को आज मैं नमन करता हूं. आप सभी जिस सेवा भाव से कार्य करते हैं वो अतुलनीय है, ये भी संयोग है कि वर्ष 2020 इंटरनेशनल ईयर ऑफ द नर्सेज़ एंड मिडवाइफ के तौर पर मना रहा है. आप जैसे साथी चाहे वो डॉक्टर हों, नर्स हों, पैरा मेडिकल, आशा, एएनएम कार्यकर्ता, सफाई कर्मचारी हो आपके स्वास्थ्य की भी देश को बहुत चिंता है. इसी को देखते हुए ऐसे करीब 20 लाख साथियों के लिए 50 लाख रुपये तक के स्वास्थ्य बीमा की घोषणा सरकार ने की है.'

Mann Ki Baat में PM नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से मांगी माफी, बोले- आपको बचाने के लिए लॉकडाउन लगाया

पीएम मोदी ने आगे कहा, 'जरा सोचिये की आप लॉकडाउन के समय भी जो टीवी देख पा रहे हैं, घर में रहते हए जिस फोन और इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं, उन सब को सुचारू रखने के लिए कोई न कोई अपनी जिंदगी खपा रहा है. आपने देखा होगा, बैंकिंग सेवाओं को सरकार ने चालू रखा है और बैंकिंग क्षेत्र के हमारे लोग पूरे लगन से, आपकी सेवा में मौजूद हैं. आज के समय, ये सेवा छोटी नहीं है. उन बैंक के लोगों का भी हम जितना धन्यवाद करें, उतना कम है.'

VIDEO: महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 180 पहुंची

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com